सुपर फूड जो पुरुष स्पर्म काउंट और मोटेलिटी बढ़ाते हैं

11 फरवरी 2020   |  पूजा शर्मा   (417 बार पढ़ा जा चुका है)

पुरुष बाँझपन दुर करने के घरेलु उपाय


वर्तमान समय में बांझपन न सिर्फ महिलाओं में ही एक समस्या नहीं है बल्कि यह पुरुषों के लिए भी एक चिंता का बन है।

जब पुरुषों के वीर्य में तरलता और उसमें शामिल स्पर्म में ज़रूरी संख्या या काउंट नहीं की जाती है तब यह समस्या पुरुष बांझपन के नाम से जानी जाती है।

साथ ही साथ स्पर्म की सीमेन में तैरने की क्षमता भी पुरुष बांझपन का कारण बन जाती है।

लेकिन यह चिंता का विषय नहीं है क्योंकि पुरुष बांझपन के जिम्मेदार इन कारणों को कुछ सरल घरेलू उपाय के द्वारा दुर किया जा सकता है।

पुरुष बांझपन दुर करने के कुछ घरेलु उपाए निम्नलिखित है:-

1.बेरी खाकर स्पर्म काउंट बढ़ाएँ

बाज़ार में मिलने वाले बेरी श्रेणी के फल जैसे स्ट्रौबेरी, क्रेनबेरी, गौजी बेरी और ब्लैक बेरी आदि पुरुष की स्पर्म की काउंट और गति दोनों को बढ़ाने में सहायक होती है।क्योंकि इन फलों में अच्छी मात्रा में एंटी-इन्फ़्लमेटरी तत्व पाए जाते जो एंटीओक्सीडेंट और विटामिन-सी की भी अच्छी मात्रा होती है।ये सभी तत्व पुरुष स्पर्म की सम्पूर्ण सेहत के लिए बहुत अच्छा शाबित हुआ है।साथ ही साथ गौजी बेरी सिमेन प्रोडक्शन में जरूरी टेम्परेचर भी बनाए रखने में सहायक होते हैं।

2.टमाटर से पुरुष स्पर्म को स्वस्थ बनाए

टमाटर में लाइकोपिन नाम का एक एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है,जो स्पर्म की एक्टिविटी, काउंट और मोटेलिटी में तेज़ी से सुधार करने में सहायक होता है।यदि टमाटर को ऑलिव ऑयल में पकाया जाये तो टमाटर के एंटीओक्सीडेंट गुणों का सम्पूर्ण लाभ लिया जा सकता है।


3.डार्क चॉकलेट से पुरुष स्पर्म काउंट बढ़ाए

डार्क चॉकलेट में मुख्यरूप से एल-एर्जिनिन नाम के एमिनो एसिडपाया जाता है,जो पुरुष के स्पर्म को पुर्णरूप से स्वास्थ्य रखने में सहायक होता है।डार्क चॉकलेट को पुरुष के शुक्राणु की संख्या बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय के रूप अपनाया जाता है।


4.गाजर स्वास्थ्य हेल्दी स्पर्म में सहायक

गाजर में बीटा-केरोटीन नाम का एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो पुरुष के स्पर्म को होने वाले नुकसान को तो रोकता ही है और साथ ही स्वास्थ्य स्पर्म को बनने में भी सहायक होता है।

5.पालक से पुरुष बांझपन का उपचार

पालक में फोलिक एसिड मेल इन्फेर्टिलिटी ट्रीटमंट में प्रमुख पोषक तत्व पाया जाता है।जो पुरुष के स्पर्म काउंट को बढ़ाने में भी सहायक होता है।


अगला लेख: आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब शिशु अन्य आम शिशुओं से कैसे भिन्न होते हैं?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
10 फरवरी 2020
शुक्राणु डोनेट की प्रक्रिया कैसे होती है:- शुक्राणु एक स्वस्थ पुरुष के द्वारा एक शुक्राणु बैंक या प्रजनन क्लिनिक के द्वारा महिला को दान किया जाता है।डोनर स्पर्म का प्रयोग महिला के शरीर के अंदर एक अंडे को फर्टिल्लाइज़ करने के लिए किया जाता है।इसे मुख्यता डोनर इन्सेमिनेशन केनाम से जाना जाता है।शुक्राण
10 फरवरी 2020
01 फरवरी 2020
कील-मुहांसे के कारण :-कील-मुहांसे पोर्स क्लॉग (जिसे हेयर फॉलिकल कहते हैं) के कारण होता है ।हर फॉलिकल के अंदर एक डीप हेयर शाफ़्ट (Hair shaft)पाया जाता है, जिसे "सिबेशियस ग्लैंड्स" ”(वसामय ग्रंथि) भी कहा जाता है।यह ग्लैंड्स आपके बालों और स्किन को नम करने के लिए सीबम नामक एक ऑयली सब्सटांस बनाता है।जब बह
01 फरवरी 2020
19 फरवरी 2020
शोध में पाया गया है की के गुदा संभोग से एसटीडी का खतरा 30 गुना तक बढ़ जाता है।इससे ह्यूमन पेपोलिना वायरस से अनल वाट्स और कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है।साथ ही साथ क्लैमिडिया, गोनोरिया होने का खतरा भी अधिक बढ़ जाता है।सिफ्लिस और हर्पीस जैसे संक्रमण कंडोम का प्रयोग करने से
19 फरवरी 2020
17 फरवरी 2020
यदि गर्भवती महिलाएं किसी कारण से अपने खान-पान का सही से ध्यान नहीं रख पाती।जिसके कारण महिलाओं के शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिलता है।पर्याप्त मात्रा में महिला को पोषण न मिल पाने की वजह से महिला का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य सही नहीं रह पाता है।जिसके कारण महिला गर्भावस्था के समय बहुत ही
17 फरवरी 2020
12 फरवरी 2020
प्रेग्नेंसी के समय महिला के डिप्रेशन होने के मुख्य कारण निम्नलिखित हैं : -हार्मोंनल बदलाव प्रेग्नेंसी के समय महिला में मानसिक और शारीरिक दोनों तरह के कई बदलाव होते हैं।महिला के डिप्रेशन में होने पर हार्मोंस सीधे महिला के दिमाग को प्रभावित करते हैं, जो महिला के इमोशन और मूड को नियंत्रित करता है।ये हा
12 फरवरी 2020
07 फरवरी 2020
मासिक-धर्म में पेट दर्द के कारण क्या हैं :- मासिक-धर्म में पेट दर्द,गर्भाशय के संकुचन के कारण होता है।यदि आपके महावारी के समय बहुत ज़ोर से पेट सिकुड़ता है, तो यह आपके पेट के आस-पास के रक्त वाहिकाओं को दबा देता है जिस वजह से गर्भाशय में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।ऑक्सीजन की कमी के कारण यह पेट दर्द और
07 फरवरी 2020
12 फरवरी 2020
सिक्वेनशियल एम्ब्रयो ट्रान्सफर एक एक ऐसी प्रक्रिया है जो महिलाओं के गर्भाशय में एम्ब्रयो ट्रांसप्लांट करने के लिए प्रयोग किया जाता है।इस प्रक्रिया में मुख्यता इन-विट्रो फर्टिलाइजेशनट्रीटमेंट में प्रयोग किया जाता है।इस परीक्षण में महिला के गर्भाशय में स्वस्थ और अच्छी तरह से तैयार किया हुआ एम्ब्रयो क
12 फरवरी 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x