प्रेग्नेंसी के समय महिला के डिप्रेशन होने के क्या मुख्य कारण हैं

12 फरवरी 2020   |  पूजा शर्मा   (415 बार पढ़ा जा चुका है)

प्रेग्नेंसी के समय महिला के डिप्रेशन होने के मुख्य कारण निम्नलिखित हैं : -



  • हार्मोंनल बदलाव

  • प्रेग्नेंसी के समय महिला में मानसिक और शारीरिक दोनों तरह के कई बदलाव होते हैं।

महिला के डिप्रेशन में होने पर हार्मोंस सीधे महिला के दिमाग को प्रभावित करते हैं, जो महिला के इमोशन और मूड को नियंत्रित करता है।
ये हार्मोंस मासिक-धर्म के समय महिला में भावनात्मक बदलाव लाते हैं और यही हार्मोंस गर्भावस्था के समय महिला में डिप्रेशन का कारण भी बनते हैं।

  • आनुवंशिक कारण

जिन महिलाओं में पहले से ही व्यक्तिगत या आनुवंशिक तौर पर तनाव की बीमारी हो,तो उन महिलाओं में गर्भावस्था समय के तनावग्रस्त होने का खतरा कई गुणा अधिक बढ़ जाता है।

  • थायरॉइड
    आजकल महिलाओं में थायरॉइड की समस्या बहुत ही बढ़ गई है।
    यह देखा गया की जिन महिलाओं में पहले से ही थायरॉइड समस्या हो,तो उन महिलाओं के साथ प्रेग्नेंसी के समययह समस्या और भी अधिक बढ़ जाती है।

  • मेडिकली समस्याएँ

यदि किसी महिला को गर्भधारण करने में पहले भी कभी कोई दिक्कत हुई हो या पहले उसका गर्भपात हुआ हो,तो वह अपने बच्चे को लेकर बहुत ही ज्यादा डरी हुई होती हैं।
इस प्रकार के तनाव से ग्रसित महिलाओं को डिप्रेशन होने का ख़तरा बहुत ही बढ़ जाता है।

प्रेग्नेंसी के समय डिप्रेशन का इलाज

प्रेग्नेंसी के समय होने वाले डिप्रेशन को दुर करने के इलाज निम्नलिखित हैं : -

  • प्रेग्नेंसी के समय यदि महिआ डिप्रेशन का शिकार हो रही हैं तो सबसे पहले आपअपने घर वालों और अपने चिकित्सक से इस बारे में जरुर बात करे डॉक्टर ताकि आपका उपचार सही से हो सकें।

  • प्रेग्नेंसी के समय डिप्रेशन का शिकार हो चुकी महिलाओं को मनोचिकित्सा से मिलना चाहिए,जिससे वो अपनी भावनाओं पर काबू रखना सिख ले।

  • प्रेग्नेंसी के समय डिप्रेशन का शिकार हो चुकी महिलाओं को ओमेगा 3 जैसे ऑयली फिश, अखरोट आदि जरूरी फैटी एसिड वाले खाद्य-पदार्थ को खाना चाहिए जिससे महिला को डिप्रेशन कम करने में सहायता मिले।

  • यदि आप अपनी प्रेग्नेंसी के समय डिप्रेशन की शिकार हैं, तो आप लाइट थेरेपी का उपयोग कर सकती हैं,जिसमें महिला को आर्टिफीसियल सूरज की रौशनी के सामने रखा जाता है।

  • प्रेग्नेंसी के समय डिप्रेशन से गुज़र रही महिलाओं को एक्यूपंक्चर का प्रयोग करना चाहिए जिससे महिला का मूड फ्रेश और खुशहाल हो सके।

अगला लेख: आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब शिशु अन्य आम शिशुओं से कैसे भिन्न होते हैं?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 फरवरी 2020
प्रेगनेंसी टेस्ट किट खरीदने से पहले निम्नलिखित बातों पर ध्यान रखे:किसी भी अच्छी मेडिकल स्टोर से या भी ऑनलाइन, प्रेगनेंसी किट को खरीदनी चाहिए। विशेषज्ञयों के अनुसार प्रेगनेंसी किट ऐसे स्टोर से खरीदनी चाहिए जिस दुकान में प्रेगनेंसी किट की बिक्री अधिक हो,जिससे पुरानी प्रेगनेंसी किट मिलने की संभावना बहु
06 फरवरी 2020
17 फरवरी 2020
स्त्री और पुरुष के द्वारा शारीरिक संबंध बनाते समय दर्द होने के कारणको चिकित्सकीय और गैर चिकित्सकीय कारणों की श्रेणी में रखा गया है ।चिकित्सकीय कारण वह है,जो चिकित्सक पद्धति के द्वारा ठीक हो सकता है, जैसे महिला की योनि का सूखापन, महिला की योनि के आस-पास खुजली या जलन या किसी प्रकार का इन्फेक्शन होना च
17 फरवरी 2020
15 फरवरी 2020
प्रेगा न्यूज़ और प्रेगा न्यूज़ एडवांस मैनकाइंड फार्मा द्वारा बनाया गया एक किट है ,जो घर पर गर्भावस्था की पुष्टि करने मदद करता है ।यह किट किसी भी अच्छे मेडिकल दुकान पर आसानी से मिल जाता है,लेकिन प्रेगा न्यूज़ किट खरीदने से पूर्व आपको किट की एक्सपायरी डेट की जांच कर लेनी चाहिए ताकि रिजल्ट गलत आने की सम्
15 फरवरी 2020
17 फरवरी 2020
यदि गर्भवती महिलाएं किसी कारण से अपने खान-पान का सही से ध्यान नहीं रख पाती।जिसके कारण महिलाओं के शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिलता है।पर्याप्त मात्रा में महिला को पोषण न मिल पाने की वजह से महिला का मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य सही नहीं रह पाता है।जिसके कारण महिला गर्भावस्था के समय बहुत ही
17 फरवरी 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x