आईवीएफ क्या है?

14 फरवरी 2020   |  पूजा शर्मा   (402 बार पढ़ा जा चुका है)

IVF की प्रक्रिया

आईवीएफ प्रकिया में इन-विट्रो-फर्टिलाइज़ेशन, गर्भधारण की एक आर्टिफिशयल सहायक प्रजनन प्रक्रिया के नाम से जानी जाती है। आईवीएफ उपचार एक प्रकार की फर्टिलिटी प्रकिया है।जिन महिला,पुरूषों के जोडों को प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करने में समस्या होती है,वो आईवीएफअर्थात् टेस्ट ट्यूब बेबी की प्रक्रियाके द्वारा गर्भधारण की प्रक्रिया को अपना सकते हैं । साथ ही साथ यह प्रक्रिया सिंगल मदर, सिंगल फ़ादर या समलैंगिक जोड़ों के लिए भी यह बहुत मददगार है।आईवीएफ उपचार के समय परिपक्व अंडे , महिला की ओवरी में एकत्रित किए जाते हैं। इस प्रक्रिया बाद प्रयोगशाला में फर्टिलाइजेशन की प्रक्रिया के लिए महिला केअंडे और पुरुष के शुक्राणु को एक साथ रखा जाता है।इसके बाद फर्टिलाइज्ड अंडे को,भ्रूण को महिला के गर्भाशय में गर्भधारण के लिए स्थानांतरित किया जाता है। आईवीएफ के उपचार के समय इस प्रक्रिया के चक्र को पुरा होने में तीन सप्ताह का समय लग जाता है । कुछ स्थितियों में आईवीएफ के एक चक्र को पुरा होने में तीन सप्ताह से भी अधिक समय भी लग सकता है।आईवीएफ उपचार असिस्टेड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी का सबसे अधिक प्रभावशाली रूप है। आईवीएफ उपचार की सहायता से महिला और पुरुष अपने ख़ुद के अंडे और स्पर्म के सहायता से अपने बच्चे को जन्म दे सकते हैं।साथ ही साथ आईवीएफ की प्रक्रिया में डोनर के अंडे,स्पर्म या एम्ब्र्यो की सहायता से भी महिला गर्भधारण कर सकती है। कुछ स्थितियों में, एक गर्भावधि वाहक यानि सरोगेट महिला भी आईवीएफ प्रक्रिया में मददगार होती है।

भारत में टेस्ट ट्यूब बेबी (आईवीएफ)उपचार का खर्च कितना है?

चिकित्सक विज्ञान में,इन विट्रो फ़र्टिलाइज़ेशन या आईवीएफ (IVF) उपचार में उन महिलाओं के लिए वरदान के सामान हैं,जो महिलाएं माँ बनना चाहती हैं,मगर गर्भवती नहीं हो सकती हैं । आईवीएफ उपचार या टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया बांझपन के उपचार में बहुत ही मददगार हो रही हैं । टेस्ट ट्यूब बेबी प्रक्रिया लम्बी होने के साथ-साथ महंगी भी हैं, भारत में IVFप्रक्रिया की लागत लगभग 80, 000 रुपये से लेकर 1,50,000 तक है।



अगला लेख: आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब शिशु अन्य आम शिशुओं से कैसे भिन्न होते हैं?



बसन्त कुमार
15 फरवरी 2020

जानकारी अच्छी है।

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 जनवरी 2020
आईवीएफ ट्रीटमेंट की प्रक्रिया से पहले महिलाओं को टेस्ट, अलग-अलग जांच की जाती है और कई तरह के टेस्ट करवाए जाते हैं। करने की सलाह दी जाती है। जिससे आईवीएफ की प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरह की समस्या न हो और ट्रीटमेंट सफल रहे। बांझपन का निदान करने के लिए किए गए परीक्षणों
31 जनवरी 2020
10 फरवरी 2020
शुक्राणु डोनेट की प्रक्रिया कैसे होती है:- शुक्राणु एक स्वस्थ पुरुष के द्वारा एक शुक्राणु बैंक या प्रजनन क्लिनिक के द्वारा महिला को दान किया जाता है।डोनर स्पर्म का प्रयोग महिला के शरीर के अंदर एक अंडे को फर्टिल्लाइज़ करने के लिए किया जाता है।इसे मुख्यता डोनर इन्सेमिनेशन केनाम से जाना जाता है।शुक्राण
10 फरवरी 2020
18 फरवरी 2020
आईवीएफ की सहायता से एक टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म होता है, जो कई प्रकार के मेडिकल और सर्जिकल प्रोसीजर से गुज़रना पड़ता है।आईवीएफ प्रक्रिया के द्वारा सफल फर्टिलाइजेशन के लिए महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म में कुछ सुधार किया जाता है।जब कोई महिला और पुरुष यानि की कोई दंपत्ति प्राकृतिक या सामान्य रूप से
18 फरवरी 2020
30 जनवरी 2020
प्रेगनेंसी टेस्ट का महत्व क्या होता है?महिलाओं के द्वारा गर्भावस्था टेस्ट करवाना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। एक बार जब गर्भावस्था परीक्षण में महिलाओं के गर्भधारण का पता चल जाता है,तो तब महिलाओं को महिला उसके अनुसार अपनी रोज की जीवनशैली में परिवर्तन कर सकती है।इसके साथ ही साथ गर्भधारण का पता लगाने
30 जनवरी 2020
18 फरवरी 2020
आईवीएफ की सहायता से एक टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म होता है, जो कई प्रकार के मेडिकल और सर्जिकल प्रोसीजर से गुज़रना पड़ता है।आईवीएफ प्रक्रिया के द्वारा सफल फर्टिलाइजेशन के लिए महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म में कुछ सुधार किया जाता है।जब कोई महिला और पुरुष यानि की कोई दंपत्ति प्राकृतिक या सामान्य रूप से
18 फरवरी 2020
12 फरवरी 2020
प्रेग्नेंसी के समय महिला के डिप्रेशन होने के मुख्य कारण निम्नलिखित हैं : -हार्मोंनल बदलाव प्रेग्नेंसी के समय महिला में मानसिक और शारीरिक दोनों तरह के कई बदलाव होते हैं।महिला के डिप्रेशन में होने पर हार्मोंस सीधे महिला के दिमाग को प्रभावित करते हैं, जो महिला के इमोशन और मूड को नियंत्रित करता है।ये हा
12 फरवरी 2020
05 फरवरी 2020
आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स होने के कई कारण हो सकते है।जैसे बढ़ती हुए उम्र और आपके कुछ गलतियों के कारण आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स हो सकता है ।आंखों के नीचे काले घेरे होने के निम्न कारण हैं:-एजिंग के साथ त्वचा का पतला होनाबढ़ने हुए उम्र प्रक्रिया त्वचा के पतले होने का कारण हो सकती है क्योंकि इससे क
05 फरवरी 2020
11 फरवरी 2020
पुरुष बाँझपन दुर करने के घरेलु उपाय वर्तमान समय में बांझपन न सिर्फ महिलाओं में ही एक समस्या नहीं है बल्कि यह पुरुषों के लिए भी एक चिंता का बन है।जब पुरुषों के वीर्य में तरलता और उसमें शामिल स्पर्म में ज़रूरी संख्या या काउंट नहीं की जाती है तब यह समस्या पुरुष बांझपन के नाम से जानी जाती है।साथ ही साथ
11 फरवरी 2020
17 फरवरी 2020
स्त्री और पुरुष के द्वारा शारीरिक संबंध बनाते समय दर्द होने के कारणको चिकित्सकीय और गैर चिकित्सकीय कारणों की श्रेणी में रखा गया है ।चिकित्सकीय कारण वह है,जो चिकित्सक पद्धति के द्वारा ठीक हो सकता है, जैसे महिला की योनि का सूखापन, महिला की योनि के आस-पास खुजली या जलन या किसी प्रकार का इन्फेक्शन होना च
17 फरवरी 2020
10 फरवरी 2020
कोई लौटा दो मुझे वो दोस्त सारे जो खेले थे साथ हमारे लड़ते झगड़ते भी थे एक दूसरे से फिर भी खुश थे सारेकहा चले गये वो दिन हमारे अब गाँव वीरान सा
10 फरवरी 2020
11 फरवरी 2020
समुद्र के किनारे चलते चलते रास्ते में एक शांत सी दुकान देखी तो कुछ पीने और सुस्ताने के इरादे से उसमे ही घुस गया । यह दरअसल एक शराब खाना था जो मुख्य टूरिस्ट मार्ग पर न होने की वजह से इस समय वीरान था । अंदर रेड और व्हाइट वाइन के कांच के बड़े बड़े जार थे, लकड़ी के बड़े बड़े गोल हौद थे जिनमे वाइन बनन
11 फरवरी 2020
07 फरवरी 2020
मासिक-धर्म में पेट दर्द के कारण क्या हैं :- मासिक-धर्म में पेट दर्द,गर्भाशय के संकुचन के कारण होता है।यदि आपके महावारी के समय बहुत ज़ोर से पेट सिकुड़ता है, तो यह आपके पेट के आस-पास के रक्त वाहिकाओं को दबा देता है जिस वजह से गर्भाशय में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।ऑक्सीजन की कमी के कारण यह पेट दर्द और
07 फरवरी 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x