आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब शिशु अन्य आम शिशुओं से कैसे भिन्न होते हैं?

18 फरवरी 2020   |  पूजा शर्मा   (355 बार पढ़ा जा चुका है)

आईवीएफ की सहायता से एक टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म होता है, जो कई प्रकार के मेडिकल और सर्जिकल प्रोसीजर से गुज़रना पड़ता है।


आईवीएफ प्रक्रिया के द्वारा सफल फर्टिलाइजेशन के लिए महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म में कुछ सुधार किया जाता है।जब कोई महिला और पुरुष यानि की कोई दंपत्ति प्राकृतिक या सामान्य रूप से बच्चे को जन्म देने पाने में असफल हो हैं ,तब उन्हें गर्भाधान के लिए चिकित्सीय मदद की जरुरत होती है।ऐसी स्थिति में,बच्चे आईवीएफ प्रक्रिया के द्वारा पैदा किये जा सकते हैं,एस प्रक्रिया में महिला के शरीर के बाहर अंडे निषेचित किये जाते हैं।वही सामान्य प्रसव उसे कहा जाता है,जिसे महिला प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करती है और निषेचन के द्वारा शिशु को जन्म देती है प्राकृतिक फर्टिलाइज़ेशन की प्रक्रिया उस समय कार्य करती है, जब महिला के गर्भाशय में पुरुष के शुक्राणु के द्वारा ओवम को फर्टीलाइज़ किया जाता है।महिला के प्राकृतिक गर्भावस्था को इन-विवो फर्टिलाइज़ेशन के नाम से जाना जाता है,जो मनुष्य के शरीर के भीतर महिला के अंडे और पुरुष के स्पर्म के बीच फर्टिलाइज़ेशन की इस विधि का वर्णन करता है।

टेस्ट ट्यूब शिशु क्या स्वस्थ होते हैं?

अध्ययनों में पाया गया है कि आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब बेबी अन्य सभी बच्चों की ही तरह सामान्य और स्वस्थ होते हैं।आईवीएफ के द्वारा महिला के गर्भाधान की इस प्रक्रिया की वजह से शिशु शारीरिक या मानसिक रूप से विकृति या विकलांगता नहीं होते हैं।जबकि कुछ टेस्ट ट्यूब शिशुओं का जन्म के समय वज़न बहुत कम होता है। टेस्ट ट्यूब टेस्ट के द्वारा जन्म हुए शिशुओं का शारीरिक वजन अन्य शिशुओं की तुलना में 2.5 किलोग्राम कम होता है।


अगला लेख: गुदा सम्भोग से एसटीडी का खतरा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
06 फरवरी 2020
प्रेगनेंसी टेस्ट किट खरीदने से पहले निम्नलिखित बातों पर ध्यान रखे:किसी भी अच्छी मेडिकल स्टोर से या भी ऑनलाइन, प्रेगनेंसी किट को खरीदनी चाहिए। विशेषज्ञयों के अनुसार प्रेगनेंसी किट ऐसे स्टोर से खरीदनी चाहिए जिस दुकान में प्रेगनेंसी किट की बिक्री अधिक हो,जिससे पुरानी प्रेगनेंसी किट मिलने की संभावना बहु
06 फरवरी 2020
14 फरवरी 2020
IVF की प्रक्रिया आईवीएफ प्रकिया में इन-विट्रो-फर्टिलाइज़ेशन, गर्भधारण की एक आर्टिफिशयल सहायक प्रजनन प्रक्रिया के नाम से जानी जाती है। आईवीएफ उपचार एक प्रकार की फर्टिलिटी प्रकिया है।जिन महिला,पुरूषों के जोडों को प्राकृतिक रूप से गर्भधारण करने में समस्या होती है,वो आईवीएफअर्थात् टेस्ट ट्यूब बेबी की
14 फरवरी 2020
05 फरवरी 2020
आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स होने के कई कारण हो सकते है।जैसे बढ़ती हुए उम्र और आपके कुछ गलतियों के कारण आंखों के नीचे डार्क सर्कल्स हो सकता है ।आंखों के नीचे काले घेरे होने के निम्न कारण हैं:-एजिंग के साथ त्वचा का पतला होनाबढ़ने हुए उम्र प्रक्रिया त्वचा के पतले होने का कारण हो सकती है क्योंकि इससे क
05 फरवरी 2020
10 फरवरी 2020
शुक्राणु डोनेट की प्रक्रिया कैसे होती है:- शुक्राणु एक स्वस्थ पुरुष के द्वारा एक शुक्राणु बैंक या प्रजनन क्लिनिक के द्वारा महिला को दान किया जाता है।डोनर स्पर्म का प्रयोग महिला के शरीर के अंदर एक अंडे को फर्टिल्लाइज़ करने के लिए किया जाता है।इसे मुख्यता डोनर इन्सेमिनेशन केनाम से जाना जाता है।शुक्राण
10 फरवरी 2020
07 फरवरी 2020
पुरुष बांझपन के क्या कारण है मुख्य रूप से पुरुष बांझपन के कारण को दो आधार जैसे स्वास्थ्य और जीवनशैली से सम्बंधित कारणों के आधार पर बाँटा जा सकता है।पुरुषों को कुछ ऐसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होती हैं जिसका समय पर उपचार नहीं कराया जाये तो यह बांझपन का कारण बन जाता है।पुरुष बांझपन के कारण निम्न हैं
07 फरवरी 2020
07 फरवरी 2020
मासिक-धर्म में पेट दर्द के कारण क्या हैं :- मासिक-धर्म में पेट दर्द,गर्भाशय के संकुचन के कारण होता है।यदि आपके महावारी के समय बहुत ज़ोर से पेट सिकुड़ता है, तो यह आपके पेट के आस-पास के रक्त वाहिकाओं को दबा देता है जिस वजह से गर्भाशय में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।ऑक्सीजन की कमी के कारण यह पेट दर्द और
07 फरवरी 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x