गिलोय अर्क - कोरोना वायरस जैसे संक्रमण से बच्चों कि संपूर्ण सुरक्षा

17 मार्च 2020   |  अनूप कुमार   (1521 बार पढ़ा जा चुका है)

गिलोय आयुर्वेद की एक General Wellness औषधी है। जिसका सेवन हर उम्र का व्यक्ति कर सकता है। वर्तमान समय में जो लोग कोरोना वायरस जैसी गंभीर समस्या से बचाव चाहते हैं, उनको नियमित तौर पर गिलोय का सेवन अवश्य करना चाहिए। गिलोय बेल के रूप में पाई जाती है और इसका आकार पान के पत्ते की तरह होता है। 6 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए यह बहुत लाभदायक होती है। असल में बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बड़े लोगों से कम होती है इसलिए वे जल्दी बीमार हो जाते हैं। गिलोय अर्क शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जिसके कारण इसका सेवन करने वाले बीमार होने से आसानी से बच जाते हैं। गिलोय में प्रोटीन, कैल्शियम तथा फॉस्फोरस काफी मात्रा में पाएं जाते हैं।

6 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए गिलोय के फ़ायदे -

1 - कई बार बच्चों में खून की कमी के कारण वे एनीमिया का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में उनको गिलोय अर्क बहुत लाभ देता है। यदि बच्चों को गिलोय अर्क का सेवन पहले से कराया जाए तो वे एनीमिया का शिकार नहीं हो पाते हैं।

2 - पीलिया रोग में भी गिलोय अर्क का सेवन करना लाभदायक होता है। पीलिया रोग से पीड़ित बच्चे अथवा बड़े किसी भी उम्र के लोग इसका सेवन कर लाभ ले सकते हैं।

3 - यह रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यदि इसका सेवन प्रतिदिन किया जाए तो आने वाली अनेक बीमारियों से बचा जा सकता है।

4 - अक्सर बच्चों को डेंगू तथा टाइफाइड बुखार के बचाव में भी यह बहुत कारगर साबित होता है। ऐसी स्थिति में गिलोय अर्क का सेवन कराने पर बुखार से जल्दी निजात मिल जाती है और प्लेटलेट काउंट बढ़ना भी तेजी से शुरू हो जाता है।

5 - किसी भी प्रकार के रक्त विकार में बहुत ही उपयोगी साबित होता है।

6 - कोरोना वायरस से बच्चों के बचाव के लिए प्रतिदिन गिलोय अर्क का सेवन अवश्य कराएं।

आखिर गिलोय अर्क फायदेमंद क्यों है -


1 - आयुर्वेद में गिलोय को अमृता के नाम से भी जाना जाता है। क्यों की यह अमृत के समान ही शरीर की समस्त बीमारियों से रक्षा करता है।

2 - गिलोय अर्क को हर उम्र के व्यक्ति को स्वस्थ तथा बिमार दोनों अवस्थाओं में दिया जा सकता है।

3 - गिलोय अर्क, गिलोय चूर्ण, टेबलेट या सीरप से ज्यादा प्रभावशाली और शीघ्र लाभ देने वाला होता है।

4 - गिलोय अर्क के सेवन से बच्चों में शारारिक, मानसिक तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता का विकास होता है।

5 - यह बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर कोरोना वायरस जैसे संक्रमण से उनका आसानी से बचाव करता है।

बच्चों में गिलोय अर्क का महत्व -


1 - यह बच्चों को फ्री रेडिकल्स डैमेज से सुरक्षित करता है तथा इसमें प्रचुर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट मिलते हैं।

2 - इसका सेवन बच्चों को प्रदूषित हवा तथा वायरस से बचाता है अतः वे बीमारी से बच जाते हैं।

3 - अशुद्ध वातावरण के कारण बच्चों में भी अस्थमा की समस्या बढ़ती जा रही है। गिलोय अर्क का सेवन बच्चों को इस घातक समस्या से बचाता है।

4 - इसके सेवन से बच्चों में उदर विकार यानि पेट की समस्याएं नहीं होती हैं।

5 - बच्चों में अक्सर दस्त तथा पेचिस की समस्याएं हो जाती हैं। गिलोय अर्क के सेवन से बच्चों की ये समस्याएं दूर हो जाती हैं तथा आगे भी इन समस्याओं से बचाव रहता है।

अगला लेख: उच्च रक्तचाप के लक्षण तथा उनका आयुर्वेदिक समाधान



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
18 मार्च 2020
ह्
स्वस्थ शरीर के लिए ह्रदय का भी स्वस्थहोना अत्यंत महत्वपूर्ण है। ह्रदय के संबंध में किसी प्रकार की लापहरवाही नहींकरनी चाहिए। वर्तमान समय में अनियमित तथा दूषित आहार के कारण महज 30 से 40 वर्षमें ही लोग तेजी से ह्रदय रोगों का शिकार होते जा रहें हैं। यह समस्या इतनी बढ़ रहीहै की आज प्रत्येक परिवार में कोई
18 मार्च 2020
14 मार्च 2020
पा
गर्मी के मौसम में पेट तथा पाचन संबंधीअनेक समस्याएं तेजी से बढ़ जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्यों की इस मौसम में हमारीजीवन शैली तथा खानपान की आदतें बदल जाती हैं। इस मौसम में बढती गर्मी के कारण शरीरसे अधिक पसीना आने लगता है तथा साथ ही हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी घटने लगतीहै। इस कारण से किसी भी अन्य मौ
14 मार्च 2020
30 मार्च 2020
महिलाओं के लिए मां बनना किसी वरदान जैसाहोता है। लेकिन सामान्य महिला से मां बनने का यह सफ़र काफी मुश्किल होता है।गर्भावस्था में महिलाओं को कई प्रकार की शारीरिक तथा मानसिक समस्याओं का सामनाकरना होता है। यदि इस अवस्था में आयुर्वेदिक उपचार लिया जाए तो GynecologicalDisorders में अत्यंत लाभ प्राप्त होता है
30 मार्च 2020
26 मार्च 2020
महिलाओं में कमजोरी एक आम समस्या है।महिलाओं की शारीरिक संरचना पुरुषों से भिन्न होती है इसलिए महिलाओं में कमजोरी भीअलग कारणों से होती है। महिलाओं को प्रति माह मासिक धर्म का सामना करना होता हैतथा बच्चे को भी जन्म देना पड़ता है अत: यह माना जाता है की ये चीजें भी WomenWellness को काफी प्रभावित करती हैं। म
26 मार्च 2020
20 मार्च 2020
पु
स्त्री पुरुष के रिश्ते के कमजोर पड़ने केपीछे हालांकि कई कारण होते हैं लेकिन यौन समस्याएं भी इन्हीं कारणों में से एकहैं। कई बार पुरुषों की यौन समस्याएं उनको पार्टनर के सामने शर्मिंदा करा देतीहैं। अतः सही समय पर इन समस्याओं का सही उपचार होना बहुत आवश्यक होता है। पुरुषोंमें कई प्रकार की यौन समस्याएं होत
20 मार्च 2020
27 मार्च 2020
पु
यदि कोई पुरुष खुद को यौन संबंध बनाने केलिए तैयार नहीं कर पाता अथवा यौन क्रिया के लिए इरेक्शन नहीं रख सकता तो यह स्थितिस्तंभन दोष या इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहलाती है। यदि इरेक्शन की समस्या कभी कभी होतीहै तो यह चिंता का विषय नहीं होती लेकिन यदि यह लगातार हो रही है तो यह आपके जीवनमें तनाव, आत्मविश्वास में
27 मार्च 2020
25 मार्च 2020
स्
किसी भी महिला के आकर्षक व्यक्तित्व मेंउसके स्तन भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। सुडौल स्तनों को महिलाओं की सुंदरताके लिए परिभाषित किया जाता है। देखा जाए तो प्रत्येक महिला सुंदर तथा सुडौल स्तनचाहती है लेकिन बहुत सी महिलाओं के स्तनों का आकार पर्याप्त नहीं होता है। इस कारणवे हीन भावना से भी ग्रसित हो
25 मार्च 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x