बस सिर्फ पन्द्रह दिन और

30 मार्च 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (248 बार पढ़ा जा चुका है)

बस सिर्फ पन्द्रह दिन और

*बस! सिर्फ पन्द्रह दिन और !!*
*डॉ दिनेश शर्मा*
मुझे लगता है कि कोरोना के खिलाफ इस महायुद्ध में कुछ अपवादों को छोड़कर जिस तरह देश की बड़ी जनता ने पिछले आठ दिनों में धैर्य, संकल्प और साहस का परिचय दिया है - वो पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल बनने वाला है । जिस कठोर व्यवस्था और लॉक डाउन को मात्र एक प्रोविन्स में लागू करने के लिए चीन जैसी निरंकुश तानाशाही व्यवस्था को पसीना आ गया और 'उल्लंघन करने पर देखते ही गोली मारने का' आदेश जारी करना पड़ा - वैसी ही व्यवस्था को एक सौ तीस करोड़ की जनसंख्या वाले इस देश ने न सिर्फ स्वीकार किया बल्कि सहयोग देने में भी पूरी भावना से आगे आ गए ।

इस देश में बहुत खामियां हो सकती है, गंदगी मच्छर कूड़े के ढेर, गलियों में घूमते आवारा कुत्ते सूवर और राजपथ पर बैठी जुगाली करती गायें हो सकती है -भ्रष्ट राजनेता पुलिस और सरकारी कर्मचारी हो सकते है, प्रायोजित हिन्दू मुस्लिम दंगे हो सकते हैं -पर इस मुल्क का परस्पर सहयोग का जो जज्बा है - वो बेमिसाल है । पूरे देश में भंडारे शुरू हो गए है । लोग घरों में खाना बनाकर पैक करके गरीबों को भिजवा रहे हैं । अपने लेवल पर सामान्य और साधारण लोग दिल खोल कर आटा, चावल, दाल, चीनी सब्ज़ियां वगैरा बांट रहे है, खाली खड़े रिक्शावालों को राशन और पैसा दे रहे हैं । गुरद्वारों में बड़े पैमाने पर चौबीसों घंटे लंगर शुरू हो गए है । देश के मन में किसी को भूखा न मरने देने का बृहत संकल्प पैदा हो गया है ।

बहुत लोगों ने अपनी सामर्थ्य के हिसाब से दान के रूप में सरकार से आर्थिक सहयोग भी करना शुरू कर दिया है । भले ही टाटा ग्रुप का 1500 करोड़ का और अक्षय कुमार का 25 करोड़ का संकल्प मीडिया में ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है पर लाखो लोग अपने अपने स्तर पर दिन रात जुट रहे है और दूसरों की सहायता कर रहे हैं । चालीसों देशों की सैंकड़ों यात्राएं करने और उन देशों के बारे में बहुत कुछ जानने के बाद में दावे के साथ कह सकता हूँ कि इस देश की, इस देश के लोगों की बात ही कुछ और है ।

बस पन्द्रह दिन की बात और है । अभी तक हमने बहुत कुछ संभाल कर रक्खा है । मुझे पूरा विश्वास है कि इस क्राइसिस के बाद पूरी दुनिया आने वाले दशकों और सदियों में हमारे देश की मिसाल देगी । क्योंकि विश्वास रखिये हम मिसाल बनने वाले हैं ।

यूनान-ओ-मिस्र-ओ-रूमा, सब मिट गए जहाँ से।
अब तक मगर है बाक़ी, नाम-ओ-निशाँ हमारा।।
कुछ बात है कि हस्ती, मिटती नहीं हमारी।
सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-ज़माँ हमारा।।

https://shabd.in/post/112734/bas-do-hafte-aur-dinesh-doctor

अगला लेख: सप्तमं कालरात्रि



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 मार्च 2020
छठानवरात्र – देवी के कात्यायनी रूप की उपासनाविद्यासु शास्त्रेषु विवेकदीपेषुवाद्येषु वाक्येषु च का त्वदन्या |ममत्वगर्तेSतिमहान्धकारे,विभ्रामत्येतदतीव विश्वम् ||कल षष्ठी तिथि– छठा नवरात्र – समर्पित है कात्यायनी देवी की उपासना के निमित्त | देवी के इस रूपमें भी इनके चार हाथ माने जाते हैं और माना जाता है
29 मार्च 2020
22 मार्च 2020
सभी के लिए 23 मार्च से 29मार्च तक का साप्ताहिक राशिफलइन दिनों सारा विश्व कोरोना जैसीमहामारी से जूझ रहा है, ऐसे में सभी का सारे काम रुके हुए हैं | सबसे पहलीआवश्यकता है इस महामारी से मुक्ति प्राप्त करने की, न कि अपने कार्य अथवा किसीअन्य विषय में सोचने विचारने की | हम सभी आत्म संयम का परिचय दें और घर स
22 मार्च 2020
22 मार्च 2020
जनता कर्फ्यू और हमारा देशविजय कुमार तिवारीप्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी जी के आह्वान पर आज २२ मार्च २०२० को पूरे देश ने अपनी एकता,अपना जोश और अपना मनोबल पूरी दुनिया को दिखा दिया।इस जज्बे को मैं हृदय से सादर नमन करता हूँ।राष्ट्रपति से लेकर आम नागरिकों तक ने ताली,थाली, घंटी,शंख और नगाड़े बजाकर अपना आभार
22 मार्च 2020
18 मार्च 2020
मंगल का मकर में गोचरचैत्र कृष्णचतुर्दशी यानी रविवार 22 मार्च को दिन में दो बजकर चालीस मिनट के लगभग विष्टि करण और शुभ योग में मंगलका गोचर अपनी उच्च राशि मकर में होगा | सूर्योदय के समय त्रयोदशी तिथि रहेगी, किन्तु मंगल के गोचर के समय चतुर्दशी तिथि होगी | इस समय मंगल उत्तराषाढ़नक्षत्र पर होगा | मकर राशि
18 मार्च 2020
21 मार्च 2020
🙏😊 एक विनम्र निवेदन 🙏😊आप सभी से निवेदन है कृपा करके कलघरों में ही रहें, और सम्भव हो तो घरोंमें आपकी सहायता के लिए आने वाली महिलाओं (यानी कामवाली बाई जिन्हें आमतौर पर बोलतेहैं), ड्राइवरों, प्रेस वालों, कार साफ़करने वालों आदि की भी हार्दिक धन्यवाद सहित कल छुट्टी कर दें - लेकिन उनका वेतन नकाटें । ऐस
21 मार्च 2020
30 मार्च 2020
सप्तम नवरात्र – देवी केकालरात्रि रूप की उपासनात्रैलोक्यमेतदखिलं रिपुनाशनेन त्रातंसमरमूर्धनि तेSपि हत्वा ।नीता दिवं रिपुगणाभयमप्यपास्तमस्माकमुन्मदसुरारि भवन्न्मस्ते ।।देवी का सातवाँ रूप कालरात्रि है | सबका अन्त करने वाले कालकी भी रात्रि अर्थात् विनाशिका होने के कारण इनका नाम कालरात्रि है | इस रूप में
30 मार्च 2020
25 मार्च 2020
द्वितीया ब्रह्मचारिणीनवदुर्गा– द्वितीय नवरात्र - देवी के ब्रह्मचारिणी रूप की उपासनाकल चैत्र शुक्लद्वितीया – दूसरा नवरात्र – माँ भगवती के दूसरे रूप की उपासना का दिन | देवी कादूसरा रूप ब्रह्मचारिणी का है – ब्रह्म चारयितुं शीलं यस्याः सा ब्रह्मचारिणी – अर्थात् ब्रह्मस्वरूप की प्राप्ति करना जिसका स्वभाव
25 मार्च 2020
07 अप्रैल 2020
वि
विपत्ति में हीविजय कुमार तिवारीप्राचीन मुहावरा है,"विपत्ति में ही अच्छे-बुरे की पहचान होती है।"मानवता के सामने सबसे भयावह और संहारक परिस्थिति खड़ी हुई है।पूरी दुनिया बेबस और लाचार है।हमारे विकास के सारे तन्त्र धरे के धरे रह गये हैं।कुछ भी काम नहीं आ रहा है।स्थिति तो यह हो गयी है कि जो जितना विकसित ह
07 अप्रैल 2020
23 मार्च 2020
गुरु का मकर में गोचरआज जब सारा विश्व कोरोना वायरस के आक्रमण से जूझ रहा है ऐसे में कुछलोगों का आग्रह कि गुरु के मकर राशि में गोचर के सम्भावित परिणामों के विषय मेंलिखें – हमें हास्यास्पद लगा | किन्तु फिर भी, मित्रों केअनुरोध पर प्रस्तुत है गुरुदेव के मकर राशि में गोचर के सम्भावित परिणामों पर एकदृष्टि
23 मार्च 2020
02 अप्रैल 2020
मे
मेरे आनन्द की बातेंविजय कुमार तिवारीकभी-कभी सोचता हूँं कि मैं क्योंं लिखता हूँ?क्योंं दुनिया को लिखकर बताना चाहता हूँ कि मुझे क्या अच्छा लगता है?मेरी समझ से जो भी गलत दिखता है या देश-समाज के लिए हानिप्रद लगता है,क्यों लोगों को उसके बारे में आगाह करना चाहता हूँ?क्यों दुनिया को सजग,सचेत करता फिरता हूँ
02 अप्रैल 2020
05 अप्रैल 2020
5
5 अप्रैल 2020,रात 9 बजे,9 मिनट का प्रकाश-पर्वविजय कुमार तिवारीविश्वास करें,यह कोई सामान्य घटना घटित होने नहीं जा रही है और ना ही आज का प्रकाश-पर्व एक सामान्य प्रकाश-पर्व है।ब्रह्माण्ड की ब्रह्म-शक्ति का आह्वान हम सम्पूर्ण देशवासी प्रकाश-पर्व मनाकर करने जा रहे हैं।हमारे भीतर स्थित वह दिव्य-चेतना जागृ
05 अप्रैल 2020
04 अप्रैल 2020
आओ मिलकर दिया जलाएँकोरोना के संकट की इस घड़ी में प्रधानमंत्री जी ने कल समस्त जनता का आह्वाहनकिया कि सभी 5 अप्रेल को रात्रि 9 बजे 9 मिनट के लिए आइए अपने घरों की लाइट्स बन्द करके घरों के दरवाजों या बाल्कनीमें मोमबत्ती, दिया या टॉर्च जलाकर देश के हर नागरिक के जीवनमें आशा का प्रकाश प्रसारित करने का प्रया
04 अप्रैल 2020
25 मार्च 2020
आज प्रथम नवरात्र के साथ ही विक्रम सम्वत 2077 और शालिवाहन शक सम्वत 1942का आरम्भ हो रहा है । सभी को नव वर्ष, गुडीपर्व और उगडी की हार्दिक शुभकामनाएँ...कोरोना जैसी महामारी से सारा ही विश्व जूझ रहा है - एक ऐसा शत्रु जिसे हमदेख नहीं सकते, छू नहीं सकते - पता नहीं कहाँ हवा में तैर रहा है और कभीभी किसी पर भी
25 मार्च 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x