कम्मो

21 मई 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (440 बार पढ़ा जा चुका है)

कम्मो

कम्मो... अरी क्या हुआ...? कुछ बोल तो सही... कम्मो... देख हमारे पिरान निकले जा रहे हैं... बोल कुछ... का कहत रहे साम...? महेस कब लौं आ जावेगा...? कुछ बता ना...” कम्मो का हाल देख घुटनों के दर्द की मारी बूढ़ी सास ने पास में रखा चश्मा चढ़ाया, लट्ठी उठाई और चारपाई से उतरकर लट्ठी टेकती कम्मो तक पहुँच उसे झकझोरने लगी | लेकिन कम्मो तो जड़ बनी थी |

बहू का ये हाल देख सास के सब्र का बाँध टूटता जा रहा था और उसने और अधिक जोर से बहू को झकझोरना शुरू कर दिया था | फिर बहू के हाथ से मोबाइल लेकर देखा - बत्ती जल रही थी - मतलब मोबाइल ऑन था । कान के पास लगाया और “हेलो साम... साम...” लेकिन बत्ती अचानक बुझ गई थी - बूढ़ी की आवाज़ सुन जैसे कॉल काट दी थी |

पूरी कहानी सुनने के लिए क्लिक करें:

https://youtu.be/iJPlvWk25fw

अगला लेख: अनन्त के साथ मिलन की यात्रा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 मई 2020
इं
कुछ वर्षों पहले कीबात है सज्जनपुर में एक सेठ था जो करोड़ों कमाता था। उसने अपनी सहायता के लिए दीपकनाम के एक सचिव को नियुक्त किया था, क्योंकि सेठ की कोई संतान नहीं थी तो उन्होंने सोचा क्यों नासारी संपत्ति दीपक के नाम कर दी जाए। दीपक उनके बहीखातों का हिसाब तो अच्छी तरहर
27 मई 2020
24 मई 2020
जीवन में हर कार्य महत्त्वपूर्ण होता है | कोई भी कार्य छोटा या बड़ानहीं होता | किसी भी कार्य को पूर्ण करने के लिए योग्यता केसाथ साथ आत्म विश्वास भी अत्यन्त आवश्यक है | और आत्मविश्वासकहीं बाहर से नहीं प्राप्त किया जा सकता | इसे स्वयं ही केप्रयास से अपने भीतर विकसित करना पड़ता है |सफलता प्राप्ति के लिए क
24 मई 2020
16 मई 2020
शशांक ने कहा “हैलो स्मिता मैं बैंगलुरु पहुंच गयाहूं। यहां की एक फ़ार्मा कपंनी में मैनेज़र के तौर पर मेरा प्रमोशन हो गया है,30 साल का हो गया हूं। कोई अच्छी सी लड़की बताओं ना बिल्कुल तुम्हारीतरह”। “मैं क्या को
16 मई 2020
01 जून 2020
गंगा दशहराआज गंगा दशहरा और कल निर्जला एकादशी | गंगा दशहरावास्तव में दश दिवसीय पर्व है जो ज्येष्ठ शुक्ल प्रतिपदा से आरम्भ होकर ज्येष्ठशुक्ल दशमी को सम्पन्न होता है | इस वर्ष तेईस मई को गंगादशहरा का पर्व आरम्भ हुआ था, आज पहली जून को इसका समापन हो रहा है | मान्यता है किमहाराज भगीरथ के अखण्ड तप से प्रसन
01 जून 2020
03 जून 2020
Birds can't shop – Dr.Dinesh SharmaI wrote these lines seven years ago when I observedhundreds of parrots descending on my Litchi trees and destroying most of thefruits. This continues even today and I barely get a few fruits to taste andeat...Thisparrot I have named RampageSteals my Litchi with bra
03 जून 2020
17 मई 2020
अपने स्टील के डब्बेमें रखे कुछ गुलाब जामुन में से एक को निकालकर प्रीति ने अनिमेष के हाथ मेंजबर्दस्ती थमा दिया। उसके बाद अपने दो साल के बच्चें को खिलाने के बाद अपने पति केजबरन मुंह में ठूंस दिया। ऐसी मिठाई खाकर भी ख़ुश नहीं महसूस कर रहा था अ
17 मई 2020
05 जून 2020
हरे भरे पेड़ों पर ही तो पंछी गाते गान सुरीला जी हाँ,मिल जुलकर यदि वृक्षारोपण करते रहे तो पर्यावरण प्रदूषण की समस्या कोई समस्या नहींरह जाएगी... आइये मिलकर संकल्प लें कि हर वर्ष कम से कम एक वृक्ष अवश्य आरोपितकरेंगे और अकारण ही वृक्षों की कटाई न स्वयं करेंगे न किसी को करने देंगे... पर्यावरणदिवस सभी को व
05 जून 2020
03 जून 2020
सूर्योदयसमस्याएँजीवन का एक अभिन्न अंग जिनसेनहीं है कोई अछूता इस जगत में किन्तुसमस्याओं पर विजय प्राप्त करके जो बढ़ता है आगे नहींरोक सकती उसे फिर कोई बाधा हर सन्ध्याअस्त होता है सूर्य पुनःउदित होने को अगली भोर में जोदिलाता है विश्वास हमें किनहीं है जैसा मेरा उदय और अवसान स्थाई उसी प्रकारनहीं है कोई
03 जून 2020
27 मई 2020
प्रगति का सोपान सकारात्मकताव्यक्ति के लिए हर दिन - हर पल एक चुनौती का समय होता है | और आजकल केसमय में जब सब कुछ बड़ी तेज़ी से बदल रहा है - यहाँ तक कि प्रकृति के परिवर्तन भीबहुत तेज़ी से ही रहे हैं - इस सारे बदलाव और जीवन की भागम भाग के चलते मनुष्य केमन में बहुत सी शंकाएँ अपने वर्तमान और भविष्य को लेकर
27 मई 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x