जीवन में हर कार्य महत्त्वपूर्ण

24 मई 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (468 बार पढ़ा जा चुका है)

जीवन में हर कार्य महत्त्वपूर्ण

जीवन में हर कार्य महत्त्वपूर्ण होता है | कोई भी कार्य छोटा या बड़ा नहीं होता | किसी भी कार्य को पूर्ण करने के लिए योग्यता के साथ साथ आत्म विश्वास भी अत्यन्त आवश्यक है | और आत्मविश्वास कहीं बाहर से नहीं प्राप्त किया जा सकता | इसे स्वयं ही के प्रयास से अपने भीतर विकसित करना पड़ता है |

सफलता प्राप्ति के लिए कोई shortcut या सरल और छोटा मार्ग भी नहीं होता | कठिन परिश्रम और धैर्य के साथ कार्य करते हैं तब सफलता प्राप्त होती है | अपनी भूलों से सीख लेकर आगे बढ़ेंगे तो निश्चित रूप से सफलता की ओर अग्रसर होंगे |

इसके साथ ही अपने comfort zone से बाहर निकलना भी अत्यन्त आवश्यक है | जब तक आप अपने comfort zone से बाहर नहीं निकलते तब तक किसी प्रकार की उपलब्धि के विषय में सोचना भी व्यर्थ है | क्योंकि जब तक हम अपने comfort zone में रहेंगे तब तक हम कुछ नया नहीं सीख सकेंगे | और जब तक कुछ नया सीखने की चाह नहीं होगी तब तक हमारी रचनात्मकता भी सोई पड़ी रहेगी | जब आप अपने comfort zone से बाहर आते हैं तो जीवन में बहुत सी महत्त्वपूर्ण बातें आपको ज्ञात हो जाती हैं | और तब आप किसी भी परिस्थिति के अनुसार स्वयं को ढालने में समर्थ हों जाते हैं | और एक दिन ऐसा आ जाता है कि परिस्थितियाँ आपके अनुकूल हो जाती हैं या अनुकूल लगने लगती हैं |

साथ ही, सफलता प्राप्त करना चाहते हैं तो नकारात्मक लोगों से दूर रहिए | दूसरे क्या कहेंगे इसकी चिन्ता किये बिना बस आगे बढ़ जाइये | साथ ही महत्त्वाकांक्षाओं और वास्तविकता में भेद करना तथा संतुलन स्थापित करना भी अत्यन्त आवश्यक है | आगे बढ़ने के लिए महत्त्वाकांक्षाओं का होना आवश्यक है, लेकिन हर महत्वाकांक्षा पूर्ण होगी ही होगी ऐसा नहीं होता है | वास्तविकताओं को ध्यान में रखे बिना कार्य करेंगे तो सफलता नहीं मिलेगी |

और अन्तिम महत्त्वपूर्ण बात, जो आप करना चाहते हैं अवश्य करें | लेकिन करने से पूर्व एक बार स्वयं से प्रश्न अवश्य करें कि ऐसा करना क्या आपके हित में रहेगा |

सभी का हर दिन सफलताओं और नवीन उपलब्धियों से युक्त हो यही कामना है...

अगला लेख: कम्मो



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 जून 2020
गंगा दशहराआज गंगा दशहरा और कल निर्जला एकादशी | गंगा दशहरावास्तव में दश दिवसीय पर्व है जो ज्येष्ठ शुक्ल प्रतिपदा से आरम्भ होकर ज्येष्ठशुक्ल दशमी को सम्पन्न होता है | इस वर्ष तेईस मई को गंगादशहरा का पर्व आरम्भ हुआ था, आज पहली जून को इसका समापन हो रहा है | मान्यता है किमहाराज भगीरथ के अखण्ड तप से प्रसन
01 जून 2020
16 मई 2020
श्
श्यामा नाम था उसका, ठीक उसके श्वेत रंग केविपरीत, हर दिन हमारे घर के सामने आ खड़ी होती। ऐसा उसने करीब 10 दिन तक किया,हमने कहा ये तो अब पराए घर जा चुकी है फिर यहां क्यों आती है तो घर वालों ने कहाकि ये गाय है इंसान नहीं जो किसी को इतनी जल्दी भूल जाए, भूलना तो इंसानी फ़ितरतहै
16 मई 2020
26 मई 2020
प्रस्तुत है एक रचना - अनन्त की यात्रा | योग और ध्यान के अभ्यास में हम बात करते हैं सात चक्रों की... कोषो की...उन्हीं सबसे प्रेरित होकर कुछ लिखा गया, जो प्रस्तुत है सुधीश्रोताओं और पाठकों के लिए...https://youtu.be/Am8VnQlAElM
26 मई 2020
07 जून 2020
हीरों के हारोंसी चमकें फुहारें, और वीणा के तारों सी झनकें फुहारें |धवल मोतियों सी जो झरती हैं बूँदें, तो पाँवों में पायल सी खनकें फुहारें ||कोयल की पंचम में मस्ती लुटातीं, तो पपिहे की पीहू में देतीं पुकारें |कली अनछुई को रिझाने को देखो षडज में येभँवरे की देतीं गुंजारें ||(पूरा सुनने केलिए नीचे दिए ल
07 जून 2020
24 मई 2020
पति पत्नी दोनों जॉब करते हों तो अर्थ शास्त्र आसान हो जाता है. दोनों के खातों में पैसा दो पैसे जमा होते रहते हैं और जमा होते होते रुपए भी बन जाते हैं. पर इन सिक्कों की पिक्चर का दूसरा पक्ष भी है जिसमें बच्चे और मम्मी पापा भागते दौड़ते ही नज़र आते हैं. ऐसे में डबल इनकम ग्रुप
24 मई 2020
03 जून 2020
सूर्योदयसमस्याएँजीवन का एक अभिन्न अंग जिनसेनहीं है कोई अछूता इस जगत में किन्तुसमस्याओं पर विजय प्राप्त करके जो बढ़ता है आगे नहींरोक सकती उसे फिर कोई बाधा हर सन्ध्याअस्त होता है सूर्य पुनःउदित होने को अगली भोर में जोदिलाता है विश्वास हमें किनहीं है जैसा मेरा उदय और अवसान स्थाई उसी प्रकारनहीं है कोई
03 जून 2020
06 जून 2020
Today WOW India had a session withMrs. Pramila Malik on Acupressure. Mrs. Malik is as trained practitioner andtherapist of Acupressure. She taught us acupressure for knee pain, blood pressure,back pain and to improve our eyesight. Mrs. Pramila Malik’s video and audiowere disturbed due to some Intern
06 जून 2020
22 मई 2020
वटवृक्ष की उपासना का पर्व वट सावित्रीअमावस्याआज वट सावित्री अमावस्या का व्रत सौभाग्यवती महिलाओं ने किया है |सर्वप्रथम सभी को वट सावित्री अमावस्या की हार्दिक शुभकामनाएँ...वट सावित्री अमावस्या का व्रत सौभाग्य को देने वालाऔर सन्तान की प्राप्ति में सहायता देने वाला व्रत माना गया है | भारतीय संस्कृतिमें
22 मई 2020
28 मई 2020
लॉक डाउन के दौरान टाइम मैनेजमेंटहम आज बात कर रहे हैं टाइम मैनेजमेंट की | आज प्रायः लोगों को कहतेसुना जाता है कि हम अमुक कार्य करना चाहते हैं, लेकिन क्याकरें – हमारे पास समय ही नहीं है | कार्य की सफलता और लक्ष्य प्राप्ति की यदि बातकरते हैं तो हमें आज की समस्याओं को भी समझना होगा | आज केसमय में जो लोग
28 मई 2020
27 मई 2020
प्रगति का सोपान सकारात्मकताव्यक्ति के लिए हर दिन - हर पल एक चुनौती का समय होता है | और आजकल केसमय में जब सब कुछ बड़ी तेज़ी से बदल रहा है - यहाँ तक कि प्रकृति के परिवर्तन भीबहुत तेज़ी से ही रहे हैं - इस सारे बदलाव और जीवन की भागम भाग के चलते मनुष्य केमन में बहुत सी शंकाएँ अपने वर्तमान और भविष्य को लेकर
27 मई 2020
15 मई 2020
★★★★★देवाधिदेव ★★★★★"परम पुरुष" के बाहर कुछ भी नहीं।वे हीं देव हैं जो ब्रह्माण्डीय कार्यकीके कारण हैं। ब्रह्म रंध्र वा विश्व नाभिसे उत्सर्जित अभिव्यक्त महापँचभूत तरंगें हीं देवता हैं जो देव स्वरूपपरम पुरुष की सृष्टि नियंत्रित करते हैं।यहीं महाशक्ति ब्रह्माण्ड के अनवरतताण्डव का कारण है जिसक
15 मई 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x