अनन्त के साथ मिलन की यात्रा

26 मई 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (6429 बार पढ़ा जा चुका है)

अनन्त के साथ मिलन की यात्रा

प्रस्तुत है एक रचना - अनन्त की यात्रा | योग और ध्यान के अभ्यास में हम बात करते हैं सात चक्रों की... कोषो की... उन्हीं सबसे प्रेरित होकर कुछ लिखा गया, जो प्रस्तुत है सुधी श्रोताओं और पाठकों के लिए...

https://youtu.be/Am8VnQlAElM

अगला लेख: Birds can't shop – Dr. Dinesh Sharma



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 जून 2020
मो
मोटा चूहा
01 जून 2020
24 मई 2020
जीवन में हर कार्य महत्त्वपूर्ण होता है | कोई भी कार्य छोटा या बड़ानहीं होता | किसी भी कार्य को पूर्ण करने के लिए योग्यता केसाथ साथ आत्म विश्वास भी अत्यन्त आवश्यक है | और आत्मविश्वासकहीं बाहर से नहीं प्राप्त किया जा सकता | इसे स्वयं ही केप्रयास से अपने भीतर विकसित करना पड़ता है |सफलता प्राप्ति के लिए क
24 मई 2020
30 मई 2020
मैं आदिहीन, मैं अन्त हीन, मैं जन्म मरण सेरहित सदा |मुझमेंना बन्धन माया का, मैं तो हूँ शाश्वत सत्य सदा ||जिसदिवस मृत्यु के घर में यह आत्मा थक कर सो जाएगी तन लपटों का भोजन होगा, बन राख़ धरा पर बिखरेगा |उस दिन तन के पिंजरे को तज स्वच्छन्द विचरने जाऊँगी मेरी आत्मा मानव स्वरूप, फिर भी मैं शाश्वत सत्य सदा
30 मई 2020
17 मई 2020
वं
हे जगज्जननी मातु, सुन ले हमारी अर्चन |हे वीणावादिनी माँ , सर्वस्व तुझपे है अर्पण ||अज्ञानता मिटा दे , तू कष्ट सारे हर ले |कर दे प्रकाशित जीवन,तम को तू सारे हर ले ||संपूर्ण सृष्टि तुझको, आह्वान कर रहा हैै |देर ना कर अब तू , नव चेतना तू भ
17 मई 2020
22 मई 2020
वटवृक्ष की उपासना का पर्व वट सावित्रीअमावस्याआज वट सावित्री अमावस्या का व्रत सौभाग्यवती महिलाओं ने किया है |सर्वप्रथम सभी को वट सावित्री अमावस्या की हार्दिक शुभकामनाएँ...वट सावित्री अमावस्या का व्रत सौभाग्य को देने वालाऔर सन्तान की प्राप्ति में सहायता देने वाला व्रत माना गया है | भारतीय संस्कृतिमें
22 मई 2020
28 मई 2020
लॉक डाउन के दौरान टाइम मैनेजमेंटहम आज बात कर रहे हैं टाइम मैनेजमेंट की | आज प्रायः लोगों को कहतेसुना जाता है कि हम अमुक कार्य करना चाहते हैं, लेकिन क्याकरें – हमारे पास समय ही नहीं है | कार्य की सफलता और लक्ष्य प्राप्ति की यदि बातकरते हैं तो हमें आज की समस्याओं को भी समझना होगा | आज केसमय में जो लोग
28 मई 2020
17 मई 2020
हे जगज्जननी मातु, सुन ले हमारी अर्चन |हे वीणावादिनी माँ , सर्वस्व तुझपे है अर्पण ||अज्ञानता मिटा दे , तू कष्ट सारे हर ले |कर दे प्रकाशित जीवन,तम को तू सारे हर ले ||संपूर्ण सृष्टि तुझको, आह्वान कर रहा हैै |देर ना कर अब तू , नव चेतना तू भर दे ||हे विद्यादायिनी माँ, सुन ले मेरी गुजारिश |ये विश्व रो रहा
17 मई 2020
03 जून 2020
सूर्योदयसमस्याएँजीवन का एक अभिन्न अंग जिनसेनहीं है कोई अछूता इस जगत में किन्तुसमस्याओं पर विजय प्राप्त करके जो बढ़ता है आगे नहींरोक सकती उसे फिर कोई बाधा हर सन्ध्याअस्त होता है सूर्य पुनःउदित होने को अगली भोर में जोदिलाता है विश्वास हमें किनहीं है जैसा मेरा उदय और अवसान स्थाई उसी प्रकारनहीं है कोई
03 जून 2020
17 मई 2020
श्
श्रम साधक को विश्राम नहींकडी़ धूप में मेहनत करते , सर्दी में भी नहीं वे थकते |कभी बनातें सड़कें-गलियाँ, कभी तोड़ते कड़ी चट्टानकरते कभी आराम नहीं , श्रम साधक को विश्राम नहीं |मेहनत हीं है उनकी रीत ,लेते नहीं कभी वे भीख |मेहनत से ही खाते हैं ,चौराहे पर सो जाते हैं |कर्
17 मई 2020
03 जून 2020
Birds can't shop – Dr.Dinesh SharmaI wrote these lines seven years ago when I observedhundreds of parrots descending on my Litchi trees and destroying most of thefruits. This continues even today and I barely get a few fruits to taste andeat...Thisparrot I have named RampageSteals my Litchi with bra
03 जून 2020
05 जून 2020
🌲🌳🌴🌾🌾🌴🌳🌲🌲विश्व पर्यावरणदिवस🌲🌲🌳🌴🌾🌾🌴🌳🌲हिमगिरि से झर-झर्र बह झरना नद-ताल-तिलैया का आप्लावन करता है।बसुंधरा पर सर्वत्र हरितिमा फैला महासागर में अन्ततः नीर मिल जाता है।।शितल जल छारीय बन कर भी भास्कर की असह्य उष्णता झेल जाता है।वाष्पित - धनीभूत हो काले बादल बन उमड़-धुमड़ कर छा जाते हैं।
05 जून 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x