ग्लास को नीचे रख दीजिये हिंदी और अंग्रेजी मे

30 जून 2020   |  अबतक हिंदी न्यूज   (287 बार पढ़ा जा चुका है)


आज का प्रेरक प्रसंग


ग्लास को नीचे रख दीजिये

-------------------------------------------------


एक प्रोफ़ेसर ने अपने हाथ में पानी से भरा एक Glass पकड़ते हुए Class शुरू की . उन्होंने उसे ऊपर उठा कर सभी Students को दिखाया और पूछा , ” आपके हिसाब से Glass का वज़न कितना होगा?” ’50gm….100gm…125gm’…छात्रों ने उत्तर दिया. ” जब तक मैं इसका वज़न ना कर लूँ मुझे इसका सही वज़न नहीं बता सकता”. प्रोफ़ेसर ने कहा. ” पर मेरा सवाल है:


यदि मैं इस ग्लास को थोड़ी देर तक इसी तरह उठा कर पकडे रहूँ तो क्या होगा ?” ‘कुछ नहीं’ …छात्रों ने कहा. ‘अच्छा , अगर मैं इसे मैं इसी तरह एक घंटे तक उठाये रहूँ तो क्या होगा ?” , प्रोफ़ेसर ने पूछा. ‘आपका हाथ दर्द होने लगेगा’, एक छात्र ने कहा. ” तुम सही हो, अच्छा अगर मैं इसे इसी तरह पूरे दिन उठाये रहूँ तो का होगा?”


”आपका हाथ सुन्न हो सकता है, आपके Muscle में भारी तनाव आ सकता है , लकवा मार सकता है और पक्का आपको Hospital जाना पड़ सकता है”….किसी छात्र ने कहा, और बाकी सभी हंस पड़े…“बहुत अच्छा , पर क्या इस दौरान Glass का वज़न बदला ?” प्रोफ़ेसर ने पूछा. उत्तर आया ..”नहीं” ” तब भला हाथ में दर्द और मांशपेशियों में तनाव क्यों आया?” Students अचरज में पड़ गए. फिर प्रोफ़ेसर ने पूछा ” अब दर्द से निजात पाने के लिए मैं क्या करूँ?”


” ग्लास को नीचे रख दीजिये! एक छात्र ने कहा. ” बिलकुल सही!” प्रोफ़ेसर ने कहा. Life की Problems भी कुछ इसी तरह होती हैं. इन्हें कुछ देर तक अपने दिमाग में रखिये और लगेगा की सब कुछ ठीक है.उनके बारे में ज्यदा देर सोचिये और आपको पीड़ा होने लगेगी.और इन्हें और भी देर तक अपने दिमाग में रखिये और ये आपको Paralyze करने लगेंगी. और आप कुछ नहीं कर पायेंगे.



शिक्षा

अपने जीवन में आने वाली चुनातियों और समस्याओं के बारे में सोचना ज़रूरी है, पर उससे भी ज्यादा ज़रूरी है दिन के अंत में सोने जाने से पहले उन्हें नीचे रखना.इस तरह से, आप Stressed नहीं रहेंगे, आप हर रोज़ मजबूती और ताजगी के साथ उठेंगे और सामने आने वाली किसी भी चुनौती का सामना कर सकेंगे.



Today's inspiring episode



Put the glass down


-------------------------------------------------



A professor started the class by holding a glass of water in his hand. He lifted it up and showed it to all the students and asked, "How much do you think Glass will weigh?" ‘50gm… .100gm… 125gm’… students answered. "I can't tell its true weight until I weigh it". The professor said. But my question is:



What if I hold this glass for a while and hold it like this? " 'Nothing'… the students said. "Well, what if I keep it up for an hour like this?" , The professor asked. 'Your hand will start hurting', one student said. "You're right, well if I keep this up all day like that?"



"Your hand may be numb, your Muscle may be stressed, paralyzed and you may have to go to the hospital"…. Some student said, and everyone else laughed… “Very well, but what about this Did Glass Change Its Weight? ” The professor asked. The answer came .. "No" "Then why did there be pain in the hands and tension in the muscles?" Students were surprised. Then the professor asked "Now what should I do to get rid of the pain?"



Put the glass down! One student said. " Absolutely right!" The professor said. Life's problems are also similar. Keep them in your mind for some time and you will feel that everything is fine. Think about them for a long time and you will start to suffer. Keep them in your mind for longer and they will start paralyzing you. And you will not be able to do anything.




Education


It is important to think about the challenges and problems that come in your life, but more than that, it is important to keep them down before going to sleep at the end of the day. That way, you will not be stressed, you will be strengthened and refreshed everyday. Will rise and will be able to face any challenge faced.

अगला लेख: उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 जून 2020
कल दिनांक 29 जून को "पीपल्स पार्टी ऑफ इंडिया डेमोक्रेटिक"(पीपीआई डी) के कार्यकर्ताओं की टीम,पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष आर के विद्यार्थी के नेतृत्व में ग्राम सभा भीटा ब्लॉक जसरा जिला प्रयागराज मे जनसंपर्क किया! जनसंपर्क के दौरान यह बात निकल कर के आई कि गांव के मनरेगा के मजदूरों को उनकी मेहनत का आधा पै
30 जून 2020
28 जून 2020
उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूँ। आप सभी छात्र-छात्राओं को भारत का भविष्य निर्धारित करना है। आशा है आप अपने आगामी जीवन की सभी परीक्षाओं में अपना इसी प्रकार श्रेष्ठतम प्रदर्शन देगें। ‬‪जो छात्र इस वर्ष किसी कारणवश
28 जून 2020
29 जून 2020
ये कौन ? फिरंगी! हाय राम... जिन्होंने हमारे देश को गुलाम बनाया था। सतीश की 80साली दादी बोली।सतीश “अरे अंग्रेजों को भारत छोड़े हुए कई साल बीत चुके है वो तो बस घुमने फिरनेआते है हमारे देश में, जैसे कि हम उनके देशों की सैर करने जाते हैं." ये हमारेगांव में क्या कर रहा है ? "
29 जून 2020
19 जून 2020
अचानक विजय के पास स्मृति का फोन आयाकहने लगी मुझे तुम एयरपोर्ट तक छोड़ दो ना।तब विजय चौंककर बोला “आजअचानक मुझे क्यों कॉल कर रही हो क्या तुम्हारे माता पिता नहीं छोड़ सकते हैतुम्ह
19 जून 2020
29 जून 2020
अबतक हिंदी न्यूज़/प्रयागराजअपना दल( एस) के राष्टीय अध्यक्ष श्री मती अनुप्रिया पटेल जी के आदेशानुसार ,कार्यकारिणी सदस्य मा राजेश पटेल (बुलबुल)जी सभी कार्यकता व पदा अधिकारीयो को अवगत किया कि यश:कायी बोधिसत्व डॉ. सोनेलाल पटेल जी की जयंती 2 जुलाई को है। लाकडाउन के इस दौर में इसे कुछ नए ढंग से मनाने का प
29 जून 2020
29 जून 2020
मा
अबतक हिंदी न्यूज़ /प्रयागराज/मेजा/तरवाई एक बार फिर मातादान सिंह इ. कॉलेज के छात्र/छात्रों ने फिर लहराया परचम हाई स्कूल व इंटर की परीक्षा को पास कर के अपने विद्यालय व माता पिता , गुरुओ का सम्मान बढ़ाया है।इस अवसर पर विद्यालय के प्रधनाचार्य श्री इंद्रभान सिंह ने बच्चो को हार्
29 जून 2020
28 जून 2020
माता दान सिंह इंटर कालेज मेजा प्रयागराज का परिणाम उत्कृष्ट रहा ........ विगत वर्षों की तरह इस वर्ष भी माता दान सिंह इंटर कालेज मेजा की परीक्षा परिणाम में उत्कृष्ट प्रदर्शन रहा जिसमें इंद्रभान सिंह प्रधानाचार्य जी ने विद्यालय की मेरिट सूची में विद्यालय की कक्षा 12 के छात्र व छात्राओ में पूजा कन्नौजि
28 जून 2020
28 जून 2020
आज का विज्ञान_एम्बुलेंस पर नाम उल्टा क्यों लिखा जाता है - Why Ambulance Name is Written Opposite दरअसल एम्बुलेंस का प्रयोग रोगियों को लेने के लिए किया जाता है क्योंकि जब ऐम्बुलेंस गंभीर बीमारी के रोगियों को ले जाती है तो वह काफी तेजी से चलती है और उससे आगे की तरफ एम्बुलेंस के अक्षरों को उल्टा लिख दि
28 जून 2020
30 जून 2020
दो
आज का प्रेरक प्रसंगदो सांपों की कहानी*एक बार एक राजा था जिसका नाम था देवशक्ति वह अपने बेटे से बहुत निराश था, जो बहुत कमजोर था। वह दिन व दिन दुबला और कमजोर होता जा रहा था। दूर के स्थानों से प्रसिद्ध चिकित्सक भी उसे ठीक नहीं कर पा रहे थे। क्योंकि उसके पेट में साँप था। उन्होंने सभी तरह के उपचारों की को
30 जून 2020
28 जून 2020
फू
*प्रेरणादायक कहानी _फूटा_घड़ा बहुत समय पहले की बात है , किसी गाँव में एक किसान रहता था . वह रोज़ भोर में उठकर दूर झरनों से स्वच्छ पानी लेने जाया करता था . इस काम के लिए वह अपने साथ दो बड़े घड़े ले जाता था , जिन्हें वो डंडे में बाँध कर अपने कंधे पर
28 जून 2020
30 जून 2020
दो
आज का प्रेरक प्रसंगदो सांपों की कहानी*एक बार एक राजा था जिसका नाम था देवशक्ति वह अपने बेटे से बहुत निराश था, जो बहुत कमजोर था। वह दिन व दिन दुबला और कमजोर होता जा रहा था। दूर के स्थानों से प्रसिद्ध चिकित्सक भी उसे ठीक नहीं कर पा रहे थे। क्योंकि उसके पेट में साँप था। उन्होंने सभी तरह के उपचारों की को
30 जून 2020
15 जून 2020
हमे अपने जीवन में होने वाली कई घटनाएं बहुत ही अचंभित कर जाती हैं। कुछ तो आनन्द से विभोर कर देती है, ऐसी घटनाओं के बारे में हम तुरंत अपनी प्रभावकारी शख्सीयत या फिर अपनी कुशलता को कारण मान कर खुश हो लेते है या फिर किसी व्यक्ति का आभार मान लेते हैं जिसकी वजह से ये आनन्द अनुभूति होती है।
15 जून 2020
28 जून 2020
मा
पूर्णिमा " तुम एक ही हफ्ते भर में चार दिन भूखी रह जाओगी, तो शरीर में ना मांस बचेगी ना खून " , हमेशा की तरह फिर से पिता जी ने भृकुटि को सिकोड़कर अपने पौरुषेय शैली में मां पर गुस्सा निकालना शुरु किया. "अगर दिन रात मैं खट कर तुम लोगों को मन पसंद खाना खिला सकती हूं, घर का
28 जून 2020
13 जुलाई 2020
रात के 10 बजेथे। 18 साल की रज्जो अपनी साइकिल से खेतसे गुजरने वाले रास्ते से तेज-तेज गति में निकल रही थी। तभी धनिया वहां कुछ काम कररहा था, बोला “ अरे इतनी रात को क्या काम है तुझे ? क्या प्रेमी से मिलने जा रही है जो अंधेरे का वक्त चुना है तुने, कुछ डरहै कि नहीं तुझे, औरत ज
13 जुलाई 2020
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x