किसान और चट्टान हिंदी और अंग्रेजी में

05 जुलाई 2020   |  अबतक हिंदी न्यूज   (282 बार पढ़ा जा चुका है)

!! *किसान और चट्टान* !!
------------------------------------------------

एक किसान था. वह एक बड़े से खेत में खेती किया करता था. उस खेत के बीचों-बीच पत्थर का एक हिस्सा ज़मीन से ऊपर निकला हुआ था जिससे ठोकर खाकर वह कई बार गिर चुका था और ना जाने कितनी ही बार उससे टकराकर खेती के औजार भी टूट चुके थे. रोजाना की तरह आज भी वह सुबह-सुबह खेती करने पहुंचा पर जो सालों से होता आ रहा था एक वही हुआ , एक बार फिर किसान का हल पत्थर से टकराकर टूट गया.

किसान बिल्कुल क्रोधित हो उठा , और उसने मन ही मन सोचा की आज जो भी हो जाए वह इस चट्टान को ज़मीन से निकाल कर इस खेत के बाहर फ़ेंक देगा. वह तुरंत भागा और गाँव से 4-5 लोगों को बुला लाया और सभी को लेकर वह उस पत्त्थर के पास पहुंचा . ” मित्रों “, किसान बोला , ” ये देखो ज़मीन से निकले चट्टान के इस हिस्से ने मेरा बहुत नुक्सान किया है, और आज हम सभी को मिलकर इसे जड़ से निकालना है और खेत के बाहर फ़ेंक देना है.”

और ऐसा कहते ही वह फावड़े से पत्थर के किनार वार करने लगा, पर ये क्या ! अभी उसने एक-दो बार ही मारा था की पूरा-का पूरा पत्थर ज़मीन से बाहर निकल आया. साथ खड़े लोग भी अचरज में पड़ गए और उन्ही में से एक ने हँसते हुए पूछा ,” क्यों भाई , तुम तो कहते थे कि तुम्हारे खेत के बीच में एक बड़ी सी चट्टान दबी हुई है , पर ये तो एक मामूली सा पत्थर निकला ??”

किसान भी आश्चर्य में पड़ गया सालों से जिसे वह एक भारी-भरकम चट्टान समझ रहा था दरअसल वह बस एक छोटा सा पत्थर था !! उसे पछतावा हुआ कि काश उसने पहले ही इसे निकालने का प्रयास किया होता तो ना उसे इतना नुक्सान उठाना पड़ता और ना ही दोस्तों के सामने उसका मज़ाक बनता .


*शिक्षा*:-
Friends, इस किसान की तरह ही हम भी कई बार ज़िन्दगी में आने वाली छोटी-छोटी बाधाओं को बहुत बड़ा समझ लेते हैं और उनसे निपटने की बजाये तकलीफ उठाते रहते हैं. ज़रुरत इस बात की है कि हम बिना समय गंवाएं उन मुसीबतों से लडें , और जब हम ऐसा करेंगे तो कुछ ही समय में चट्टान सी दिखने वाली समस्या एक छोटे से पत्थर के समान दिखने लगेगी जिसे हम आसानी से ठोकर मार कर आगे बढ़ सकते हैं।

----------------------------------------------------------------------
English
---------------------------------------------------------------------
!! * Farmer and rock * !!
------------------------------------------------------------------

Was a farmer. He used to farm in a big field. In the middle of that field, a part of the stone was up from the ground, due to which he had fallen several times by stumbling and many times the farming tools had broken after colliding with him. Like every day, he reached to do farming in the morning, but the same thing that had been happening for years, once again, the plow of the farmer collided with the stone and broke.

The farmer got very angry, and he thought in his mind that whatever happens today, he will throw this rock out of the ground and throw it out of this field. He immediately ran away and called 4-5 people from the village and took all of them to the stone. "Friends", the farmer said, "Look, this part of the rock coming out of the ground has done me a lot of damage, and today we all have to come together and remove it from the root and throw it out of the field."

And as soon as he said this, he started to hit the stone edge with a shovel, but what is this! Now he had killed once or twice that the whole stone came out of the ground. The people standing together were surprised and one of them smilingly asked, "Brother, why did you say that a big rock is buried in the middle of your field, but it turned out to be a small stone?" "

The farmer was also surprised for years that what he considered to be a huge rock was actually just a small stone !! He regrets that if he had tried to remove it earlier, he would not have suffered so much nor would he have made fun of it in front of friends.


*Education*:-
Friends, like this farmer, we too often understand the small obstacles that come in life are very big and instead of dealing with them, continue to suffer. It is important that we fight those troubles without losing time, and when we do this, in no time, the rock-like problem will look like a small stone which we can easily stumble and move.

अगला लेख: उत्तर प्रदेश बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण सभी छात्रों को मैं बधाई



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
29 जून 2020
अबतक हिंदी न्यूज़/प्रयागराजअपना दल( एस) के राष्टीय अध्यक्ष श्री मती अनुप्रिया पटेल जी के आदेशानुसार ,कार्यकारिणी सदस्य मा राजेश पटेल (बुलबुल)जी सभी कार्यकता व पदा अधिकारीयो को अवगत किया कि यश:कायी बोधिसत्व डॉ. सोनेलाल पटेल जी की जयंती 2 जुलाई को है। लाकडाउन के इस दौर में इसे कुछ नए ढंग से मनाने का प
29 जून 2020
30 जून 2020
दो
आज का प्रेरक प्रसंगदो सांपों की कहानी*एक बार एक राजा था जिसका नाम था देवशक्ति वह अपने बेटे से बहुत निराश था, जो बहुत कमजोर था। वह दिन व दिन दुबला और कमजोर होता जा रहा था। दूर के स्थानों से प्रसिद्ध चिकित्सक भी उसे ठीक नहीं कर पा रहे थे। क्योंकि उसके पेट में साँप था। उन्होंने सभी तरह के उपचारों की को
30 जून 2020
28 जून 2020
अब तक हिंदी न्यूज़ /प्रयागराज/घूरपुर (प्रयागराज) शोक संतप्त परिजनों को ढाढ़स बंधाने पहुंचे अपना दल एस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य राजेश पटेल (बुलबुल)। दो दो जवान लड़कों की मौत की खबर सुनकर अपना दल एस के नेता राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य राजेश पटेल तेवरिया गांव में इंद्रराज सिंह के घर पर पहुं
28 जून 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
नौ
28 जून 2020
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x