मैं अक्सर हार जाता हूँ-भाग-1

28 जुलाई 2020   |  बिनय कुमार शुक्ल   (284 बार पढ़ा जा चुका है)

परसों किसी सज्जन ने मुझे व्हाट्सएप पर संदेश दिया

Why Job ??? When U can own ur Business..........Let's learn 2 *EARN*
कुछ नया व्यापार,सपनों की हर बात हासिल करने की शायद राह दिखाना चाह रहे थे। मैं भी उत्साहित था कि कुछ नया करने का मौका है।
और फिर उन्होंने मुझे फोन किया।औपचारिक बातचीत के बाद उन्होंने मुझसे पूछा कि नौकरी कबतक करेंगे?
मैंने कहा: अब जब घर बैठे महीने का 60-70हजार रुपये मिल रहे हों तो क्या खराबी है!
उन्होंने पूछा : कितने दिन नौकरी करेंगे?कबतक चलेगी नौकरी?
मैंने कहा : तीस साल से नौकरी कर रहा हूँ और इस कोरोना काल में तो अधिक लाभ मिला।पिछले तीन महीने से घर मे हूँ और तनख्वाह मिल रही है।
उन्होंने कहा : तो आप नौकरी से खुश हैं?
मैंने कहा : जी अबतक तो हूँ!
फिर उन्होंने यह कह कर संबंध विच्छेद कर लिया कि मुझे फिर अभी बिजनेस करने की जरूयत नहीं,फिर कभी जरूरत समझूँ तो फोन कर लूं।
उनके फोन काटने का कारण अबतक समझ न सका..
यदि आप समझ सकें तो मुझे बताना न भूलें।

अगला लेख: Sketches from life: खबरदार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x