अनन्त चतुर्दशी

29 अगस्त 2020   |  कात्यायनी डॉ पूर्णिमा शर्मा   (282 बार पढ़ा जा चुका है)

अनन्त चतुर्दशी

अनन्त चतुर्दशी

अनंन्तसागरमहासमुद्रेमग्नान्समभ्युद्धरवासुदेव ।

अनंतरूपेविनियोजितात्माह्यनन्तरूपायनमोनमस्ते ||

भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्दशी को अनन्त चतुर्दशी कहा जाता है । इस वर्ष सोमवार 31 अगस्त को प्रातः 8:49 के लगभग चतुर्दशी तिथि का आगमन होगा जो पहली सितम्बर को प्रातः 9:38 तक विद्यमान रहेगी और उसके बाद पूर्णिमा तिथि आ जाएगी जो दो सितम्बर को प्रातः 10:51 तक रहेगी | उसके बाद प्रतिपदा लग जाएगी | इस प्रकार अनन्त चतुर्दशी का व्रत और पूर्णिमा का श्राद्ध पहली सितम्बर को ही किया जाएगा | इसी दिन गणेश विसर्जन भी है | किन्तु दो सितम्बर को प्रतिपदा सूर्योदय काल में न होने के कारण प्रतिपदा का श्राद्ध तीन सितम्बर को किया जाएगा | सर्वप्रथम सभी को अनन्त चतुर्दशी और गणेश विसर्जन की अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएँ...

पहली सितम्बर को सूर्योदय 5:59 पर होगा अतः 5:59 से तिथि की समाप्ति यानी प्रातः 9:38 तक अनन्त चतुर्दशी की पूजा का मुहूर्त है |

कहा जाता है कि जब पाण्डव द्यूत क्रीड़ा में अपना सर्वस्व हारकर वनों में कष्ट भोग रहे थे उस समय भगवान श्री कृष्ण ने उन्हें अनन्त चतुर्दशी का व्रत करने का सुझाव दिया था | धर्मराज युधिष्ठिर ने अपने भाइयों तथा द्रौपदीके साथ पूरे विधि-विधान से यह व्रत किया तथा अनन्त सूत्र धारण किया | जिसके कारण उनके सभी संकट समाप्त हो गए | यह व्रत किसी जलाशय के निकट किया जाने का विधान है | किन्तु यदि ऐसा सम्भव न हो तो अपने निवास पर भी इस व्रत को किया जा सकता है | इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है |

जैन धर्म में भी अनन्त चतुर्दशी का बहुत महत्त्व है | इस दिन चौदहवें तीर्थंकर अनन्तनाथ की पूजा :ॐ ह्रीं श्री अनन्तनाथ जिनेंद्राय अनर्घ्यपदप्राप्तये अर्घ्यं निर्वपामीति स्वाहा” अथवा “ॐ ह्रीं अर्हं हं स: अनन्त केवलिभ्यो नम:” अथवा “ॐ नमोSर्हते भगवते अणंताणंतसिज्झधम्मे भगवतो महाविज्जा-महाविज्जा अणंताणंतकेवलिए अणं‍तकेवलणाणे अणंतकेवलदंसणेअणुपुज्जवासणे अणंते अणंतागमकेवली स्वाहा” मन्त्र से की जाती है | चौदह वर्षों तक हर वर्ष अनन्त चतुर्दशी का व्रत करके इसका समापन उद्यापन किया जाता है |

गणेश चतुर्थी और गणेश विसर्जन के सम्बन्ध में मान्यता है कि महर्षि वेदव्यास ने भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को श्री गणेश को दस दिनों के लिए महाभारत की कथा सुनानी आरम्भ की थी जिसे गणेश जी साथ साथ लिखते चले गए थे | इसी के प्रतीक स्वरूप भाद्रपद शुक्ल चतुर्थी को गणेश जी का आह्वाहन और स्थापन किया जाता है और दस दिनों के बाद यानी भाद्रपद शुक्ल चतुर्दशी को पुनः आगमन की प्रार्थना के साथ विसर्जन किया जाता है |

कथाएँ और मान्यताएँ चाहे जितनी भी हों, भगवान विष्णु, भगवान अनन्तनाथ और ऋद्धि सिद्धि दाता भगवान श्री गणेश सभी का कल्याण करें यही कामना है... सभी को अनन्त चतुर्दशी और गणेश विसर्जन की एक बार पुनः अग्रिम हार्दिक शुभकामनाएँ...

अगला लेख: जीवन क्या है



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 अगस्त 2020
श्राद्ध पक्ष में पाँच ग्रास निकालने का महत्त्वश्रद्धया इदं श्राद्धम्‌ - जोश्रद्धापूर्वक किया जाए वह श्राद्ध है | यद्यपि इस वाक्य की व्याख्या बहुत विशद हो सकतीहै – क्योंकि श्रद्धा तो किसी भी के प्रति हो सकती है | किन्तु यहाँ हम श्राद्धपक्ष के सन्दर्भ में बात कर रहे हैं कि अपने दिवंगत पूर्वजों के निमि
31 अगस्त 2020
09 सितम्बर 2020
पुष्प बनकर क्या करूँगी, पुष्प का सौरभ ही दे दो |दीप बनकर क्या करूँगी, दीप का आलोक दे दो ||हर नयन में देखना चाहूँ अभय मैं हर भवन में बाँटना चाहूँ हृदय मैं बंध सके ना वृन्त डाल पात से जो थक सके ना धूप वारि वात से जो भ्रमर बनकर क्या करूँगी, भ्रमर का गुंजार दे दो ||रचना सुनने के लिए कृपया वीडियो देखने क
09 सितम्बर 2020
20 अगस्त 2020
कालिदास सदा सम सामयिकआषाढ़शुक्ल प्रतिपदा – जो की इस वर्ष 21 जून को थी – को महाकवि कालिदास के जन्मदिवस के रूप में कुछ लोग मानते हैं| अभी पिछले दिनों एक मित्र इसी विषय पर चर्चा कर रहे थे कि कोरोना संकट के कारणमहाकवि की जयन्ती नहीं मनाई जा सकी | मैं कालिदासकी अध्येता हूँ और वे हमारे प्रिय कवि हैं, सो उन
20 अगस्त 2020
09 सितम्बर 2020
कनिष्ठ महाविद्यालय हिंदी अध्यापक संघ द्वारा आयोजित 'शिक्षक दिवस समारोह'कनिष्ठ महाविद्यालय हिंदी अध्यापक संघ मुंबई विभाग द्वारा ऑनलाइन वेबिनार के माध्यम से आयोजित 'शिक्षक दिवस समारोह' दिनांक 8 सितंबर, 2020 को सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस के दिन ही 'शिक्षक दिवस समारोह' का आयोजन
09 सितम्बर 2020
23 अगस्त 2020
भारतीय इतिहास को क्रोनोलॉजी याने कालक्रम के अनुसार मोटे तौर पर चार भागों में बांटा गया है - प्राचीन काल, मध्य काल, आधुनिक काल और 1947 के बाद स्वतंत्र भारत का इतिहास. प्राचीन इतिहास लगभग सात हज़ार ईसापूर्व से सात सौ ईसवी तक माना जाता है. इतने पुराने समय के हालात जानने के लि
23 अगस्त 2020
10 सितम्बर 2020
हिमालय - अदम्य साधनाकी सिद्धि का प्रतीक आज देश भर में एक ही विषय पर सब लोग बात कर रहे हैं –सुशान्त सिंह मर्डर केस और कँगना रनौत तथा महाराष्ट्र सरकार के बीच वाद विवाद |सारे समाचार पत्रों और सारे न्यूज़ चैनल्स के पास केवल यही दो विषय अधिकाँश में रहगए हैं ऐसा जान पड़ता है | इन समाचारों को देखते सुनते पढ़त
10 सितम्बर 2020
12 सितम्बर 2020
जीवन क्या है मात्र चित्रों की एक अदला बदली...किसी अनदेखे चित्रकार द्वारा बनाया गया एक अद्भुत चित्र...जिसे देकर एक रूप / उकेर दी हैं हाव भाव और मुद्राएँ और भर दिए हैं विविध रंग / उमंगों और उत्साहों के सुखों और दुखों के / रागों और विरागों के कर्तव्य और अकर्तव्य के / प्रेम और घृणा के अनेकों पूर्ण अपूर्
12 सितम्बर 2020
07 सितम्बर 2020
पुरुषोत्तममास अथवा अधिक मास आज पितृपक्ष की पञ्चमी तिथि है | 17 सितम्बर को पितृविसर्जनी अमावस्याहै | हर वर्ष महालया से दूसरे दिन यानी आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से शारदीय नवरात्रआरम्भ हो जाते हैं | किन्तु इस वर्ष ऐसा नहीं हो रहा है | इस वर्ष आश्विन मास मेंमल मास यानी अधिक मास हो रहा है | अर्थात 18 सितम्बर
07 सितम्बर 2020
04 सितम्बर 2020
शिक्षक दिवसकल पाँच सितम्बर है – शिक्षकदिवस से सम्बन्धित बैठकों, काव्य सन्ध्याओं, साहित्यसन्ध्याओं और अन्य प्रकार के कार्यक्रम आरम्भ हो चुके हैं | सर्वप्रथम सभी कोशिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ...जीवन में प्रगति पथ परअग्रसर होने और सफलता प्राप्त करने के लिए शिक्षा के महत्त्व से कोई भी इन्कारनहीं कर सकता,
04 सितम्बर 2020
09 सितम्बर 2020
समाज और देश के उत्थान में युवाओं की भूमिकासमाज और देश के उत्थान में युवाओं की अहम भूमिका होती है। मैं युवाओं की बात को स्वामी विवेकानंद जी के उन विचारों के माध्यम से शुरू कर रहा हूँ जिनमें युवाओं को विशेष रूप से संबोधित किया गया है। स्वामीजी की मान्यता है कि भारतवर्ष का नवनिर्माण शारीरिक शक्ति से न
09 सितम्बर 2020
22 अगस्त 2020
पिछले कुछ दिनोंसे बरखा रानी लगातार अपना मादक नृत्य दिखा दिखा कर रसिक जनों को लुभा रही हैं... और पर्वतीय क्षेत्रों में तो वास्तव मेंग़ज़ब का मतवाला मौसम बना हुआ है... तन और मन को अमृत रस में भिगोतीं रिमझिमफुहारें... हरित परिधान में लिपटी प्रेयसि वसुंधरा से लिपट उसका चुम्बन लेते ऊदेकारे मेघ... एक ओर अपन
22 अगस्त 2020
20 अगस्त 2020
कालिदास सदा सम सामयिकआषाढ़शुक्ल प्रतिपदा – जो की इस वर्ष 21 जून को थी – को महाकवि कालिदास के जन्मदिवस के रूप में कुछ लोग मानते हैं| अभी पिछले दिनों एक मित्र इसी विषय पर चर्चा कर रहे थे कि कोरोना संकट के कारणमहाकवि की जयन्ती नहीं मनाई जा सकी | मैं कालिदासकी अध्येता हूँ और वे हमारे प्रिय कवि हैं, सो उन
20 अगस्त 2020
28 अगस्त 2020
श्रद्धाऔर भक्ति का पर्व श्राद्ध पर्वभाद्रपदशुक्ल चतुर्दशी यानी पहली सितम्बर को क्षमावाणी – अपने द्वारा जाने अनजाने किये गएछोटे से अपराध के लिए भी हृदय से क्षमायाचना तथा दूसरे के पहाड़ से अपराध को भी हृदयसे क्षमा कर देना – के साथ जैन मतावलम्बियों के दशलाक्षण पर्व का समापन होगा |वास्तव में कितनी उदात्त
28 अगस्त 2020
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x