विश्व हिंदी सम्मेलन - रामधारी सिंह दिनकर सभागार - YouTube

10 सितम्बर 2015   |  अवधेश प्रताप सिंह भदौरिया 'अनुराग'   (218 बार पढ़ा जा चुका है)

विश्व हिंदी सम्मेलन - रामधारी सिंह दिनकर सभागार - YouTube

उदघाटन समारोह - रामधारी सिंह दिनकर सभागार

https://youtu.be/5WLFrj0zknE

अगला लेख: समय



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
12 सितम्बर 2015
समय वो तलवार है जिसे कोई नहीं हासिल कर सका, समय वो ताकत है जिसे कोई नही रोक सका, समय से आजतक कोई नही बच सका लगता है , लगता है हम समय को काट रहे हैं ,पर सच तो है की समय हमे काट रहा है,समय वो ज़ंजीर है जिसे कोई नही तोड़ सका, समय वो चीज है जिसे भागवान नही रोक सका ।'कृष्णा' ! ये पंक्तींया मेरे
12 सितम्बर 2015
03 सितम्बर 2015
वो ही बुत बनके मेरे सामने आ बैठा है,बनके खुशबू ,जो हवाओं में घुला रहता है ।नूर बनके जो ,निगाहों में आ समाया है ,ज़िन्दगी बनके कलेजे में, धड़क उठता है ।खैर छोडो! ये फ़साना है रुहे बिस्मिल का ,दर्द-ए=जज्वात ज़माना कहाँ समझाता है|लोग मौजों से उलझते हैं, लुत्फ़ आने तक ,तूफां किश्ती को कनारे पे ,डुबा देता
03 सितम्बर 2015
03 सितम्बर 2015
दाग दमन के, जाकर दिखाऊँ किसेहाल-ऐ-दिल, इस जहाँ में सुनाऊँ किसे। मेहरबां आज फिर इम्तहाँ ले रहे हैं ,तुम बताओ की मैं आजमाऊँ किसे ।आपकी आरजू है ,मेरा राज-ए-दिल ,फर्ज या कर्ज, आखिर निभाऊं किसे ।ज़िन्दगी,और ज़माने के रस्मे-रवा ,तोड़ दूँ मैं किसे ,और बचाऊं किसे|पास हैं रूबरू ,फिर भी मजबूरियां ,बात परदे से ब
03 सितम्बर 2015
सम्बंधित
लोकप्रिय
01 सितम्बर 2015
11 सितम्बर 2015
05 सितम्बर 2015
03 सितम्बर 2015
01 सितम्बर 2015
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x