विश्व शांति दिवस

21 सितम्बर 2015   |  वैभव दुबे   (2720 बार पढ़ा जा चुका है)

विश्व शांति दिवस


विश्व में शांति कायम हो सोचो क्या-क्या जतन किये
शांति दिवस आया गगन में कुछ कबूतर उड़ा दिए

उड़ाना है तो भेदभाव,द्वेष-दंभ,भ्रष्टाचार उड़ा डालो
शांत सब कोलाहल होगा,हृदय प्रेममय बना डालो

आज दिनांक 21 सितम्बर को पूरे विश्व में शांति व अहिंसा स्थापित करने के लिए विश्व शांति दिवस या अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस के रूप में मनाया जाता है।
वैसे तो संयुक्त राष्ट्र संघ ने शांति का सन्देश दुनिया के कोने कोने में पहुंचाने के लिए कला,साहित्य,खेल,संगीत व सिनेमा जगत की विश्वविख्यात हस्तियों को शांतिदूत के रूप में नियुक्त किया है
और आज के दिन कुछ सफेद कबूतर उड़ा कर विश्व में शांति बनाये रखने का आह्वाहन किया जाता है
परन्तु क्या मात्र कबूतर उड़ा देने से हृदय में जलती भेदभाव,ईर्ष्या,स्वार्थ,वर्चस्व की आग
शांत हो जायेगी..?
कदापि नहीं ..विश्व के प्रत्येक नागरिक को अपने कर्तव्यों का ईमानदारी से पालन करना होगा और आपस में भाईचारे,सौहार्द की भावना को जागृत करना होगा तभी विश्व में शांति कायम हो सकती है।

वैभव"विशेष

अगला लेख: जानूँ मैं



वैभव दुबे
22 सितम्बर 2015

हृदयतल से आभार वर्तिका जी

प्रत्युष
20 सितम्बर 2017

हीईई

वैभव दुबे
22 सितम्बर 2015

हृदयतल से आभार वर्तिका जी

वर्तिका
22 सितम्बर 2015

"हृदय प्रेममय बना डालो", सार्थक रचना के लिए बधाई!

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x