माँ! तुम्हे याद हैं ना!

23 सितम्बर 2015   |  वर्तिका   (251 बार पढ़ा जा चुका है)

माँ! तुम्हे याद हैं ना!

माँ! तुम्हे याद हैं ना,
मेरा भागते-भागते स्कूल जाना,
और नाश्ते की मेज़ पर,
तुम्हारा मेरे मुंह में कौर डालना,

माँ! तुम्हे याद हैं ना,
मेरा टेस्ट के दिन भड़भड़ाना,
भीतर की घबराहट समझकर,
तुम्हारा मुझे तस्सली दे जाना,

माँ! तुम्हे याद हैं ना,
कॉलेज के दिनों में,
मेरी सहेली बनकर मुझे चिढ़ाना,
अपने अुनभव से मुझे समझाना,

माँ! तुम्हे याद हैं ना,
शादी के समय, नए परिवार से जुड़ने पर,
मेरे भीतर हो रहे अंतर्द्वंद को समझना,
और मुझे आगे की ज़िन्दगी के लिए प्रेरित करना,

माँ, तुम से बढ़कर कुछ हैं नहीं,
बस सदा रहे, तुम्हारा मेरे सिर पर हाथ,
मुश्किल की घड़ियों में भी,
तुम्हारा संग रहे आशीर्वाद।



अगला लेख: सामान्य ज्ञान प्रश्नावली



रेणु
08 अप्रैल 2018

so. emotional.

वर्तिका
05 अक्तूबर 2015

धन्यवाद अर्चना जी!

अर्चना गंगवार
03 अक्तूबर 2015

अति सुंदर ।..........बस वो माँ ही तू है बहुत सुंदर रचना

वर्तिका
24 सितम्बर 2015

बहुत धन्यवाद पुष्पा जी!

बेहद खूबसूरत माँ की यादें । वर्तिका जी ।

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
18 सितम्बर 2015
उत्तर प्रदेश में महिला सुरक्षा की दिशा में सकारात्मक पहल करते हुए वूमन पावर लाइन १०९० कॉल सेंटर शुरू कर दिया गया हैं। प्रदेश में महिला सुरक्षा की चिंताजनक हालत देखते हुए, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वूमन पावर लाइन १०९० कॉल सेंटर की शुरुवात की है। इस वूमन पावर लाइन १०९० के जरिये, महिलाएं इस नम्बर पर
18 सितम्बर 2015
10 सितम्बर 2015
भारत माँ की रक्षा में तत्पर, ऐ वीर तुम्हे सलाम, दुश्मन से ना डरे ना झुके तुम, भारत माँ को हँसते- हँसते दे दी अपनी जान,जितना भी करूँ नमन तुम्हारा, जितना भी करूँ सम्मान,ऐ देश के वीर सिपाही, तुम पे सब कुर्बान,ऐसी है हस्ती तुम्हारी, बर्फ को भी पिघला देते हो तुम,शोलों पे जल-जल कर, दुश्मनों के छक्के छूड़ा
10 सितम्बर 2015
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x