मेरा गांव

13 अक्तूबर 2015   |  महावीर रावत   (224 बार पढ़ा जा चुका है)

गांव अब पहले जैसे नहीं रहे ,जब में छोटा था तो चारो और हरियाली थी ,बस से उतरते ही शहर को में भूल जाता था ,बड़े बुजर्गो के पैर छूते छूते में गांव में घुसता दादी -दादा ,ताई -ताऊ ,चाचा -चाची ,सब के चेहरे पर मुस्कान होती थी ,गांव में बिजली नहीं थी ,पर लोगो के दिलो में रौशनी थी,फ़ोन नहीं होते थे ,पर हर कोई खेर- खबर लेता था, चारो और लोग खेतो में आते जाते दिखाई पड़ते थे ,बच्चे गुली- डंडा,छुपम -छुपाई ,कंचे खेलते दिखाई देते थे ,भाभियाँ हंसी मजाक करती ,पोस्टमेन मिलता ,मजाक में कहता तुम चिट्टी क्यों नहीं भेजते ,चाची रोज पूछती है,छटी आई क्या ! न जाने अब क्या हो गया !गांव में हरियाली कुछ कम हो गई ,बड़े बुजुर्ग मिलते तो है,पर रुखे- रुखे रहते है, पेरो की तरफ बड़ो ,तो रहने दो ,नमस्कार बहुत है, कह कर चल देते है,अब दादी -दादा ,ताई -ताऊ ,चाचा -चाची ,सब के चेहरे पर मुस्कान नहीं होती ,अरमान होते है ,की काश वह भी शहर चले जाते ! खुसर- फुसर सुनाई देती ,लड़के को शहर की हवा लग गई है,देखो चलता कैसे है,कपड़े कैसे है.गांव मैं अब बिजली आ गई ,इंटरनेट आ गया ,केबल टी वी आ गया ,बच्चे टी वी में मस्त है.खेतो में जाने का समय बदल गया !किसे बात करने की फुरसत है! गांव पहुँचते ही दिल करता है ,वापस चलु !फिर सोचता हूँ आच्छा हुआ बिजली, इंटरनेट, मोबाइल के जमाने से पहले जनम लिया ,वरना वो प्यार और दुलार कहा मिलता ,प्रकर्ति के संग खेल कर बड़े हुए ,आज तो टी वी , कंप्यूटर और मोबाइल पर ही खेलना पड़ता !वो गाये -भैसें चुगाने का आनंद ,वो चोरी से फल चुरने का आनंद ,नदीयों में नहाने का आनंद अब कहा !स्कूल से छुपने का आनंद ,गुरुजी का डर ,मित्रो अब वो बात कहा!

अगला लेख: वर्तमान



वर्तिका
14 अक्तूबर 2015

आपका लेख पढ़कर सचमुच गाँव की याद ताज़ा हो गयी! सच में, आज के इंटरनेट युग में वो बात कहाँ!

प्रियंका शर्मा
14 अक्तूबर 2015

हा महावीर जी , अब गाँव भी शहर बनते जा रहे हैं । वो मस्ती गाँव वाली अब देखने को नहीं मिलती । हमे भी याद है की छोटे मे कैसे सब पलटन के साथ घूमा करते थे। तालाब मे जा के मछ्ली पकड़ते, घंटो घूमा करते थे .... अब वो सब बातें याद आती हैं ...

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
यु
15 अक्तूबर 2015
मे
14 अक्तूबर 2015
यु
15 अक्तूबर 2015
14 अक्तूबर 2015
16 अक्तूबर 2015
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x