@@@ नारी @@@

31 जनवरी 2015   |  दुर्गेश नन्दन भारतीय   (175 बार पढ़ा जा चुका है)

@@@@@@@@- नारी- @@@@@@@@
इस दुनिया की शोभा है , इस दुनिया की रौनक है |
खुश रखें सदा इसको ,रचा कुदरत ने है जिसको ||
जिसकी दीवानी सृष्टि सारी,वो नारी है कहलाती |
बुझे -बुझे मर्दों का मन ,नारी ही तो बहलाती ||
घर में पायल खनकाती ,मन का मोर नचवाती |
पतली कमर लचकाती ,प्यार में आकर इठलाती ||
इस दुनिया की शोभा है , इस दुनिया की रौनक है |
खुश रखें सदा इसको ,रचा कुदरत ने है जिसको ||
पुरुष को जो प्यारा है , औरत वो सहारा है |
विलक्षण वो अदाकारा है ,मर्द उसी का मारा है ||
सुन्दरता उसकी बढ़ जाती ,जब कभी वो शर्माती |
जब जब सुर में वो गाती,कोयल की बोली याद आती ||
इस दुनिया की शोभा है , इस दुनिया की रौनक है |
खुश रखें सदा इसको ,रचा कुदरत ने है जिसको ||
बहिन बीवी या हो भाभी ,सहेली हो या हो साली |
नारी की रौनक के बिन ,जीवन लगता है खाली ||
नारी के बिन घर-आँगन में,नहीं गूँजती किलकारी |
नारी के बलबूते पर ही ,चलती है गृहस्थी सारी ||
इस दुनिया की शोभा है , इस दुनिया की रौनक है |
खुश रखें सदा इसको ,रचा कुदरत ने है जिसको ||
@@@@@@@@@@@@@@@@@@@

अगला लेख: उन्नति की ठाना कर



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
31 जनवरी 2015
@
@@@@@@@@@ शादी @@@@@@@@@ ****************************************************** शादी के अनूठे सौदे में,बिक जाती अनमोल आजादी | मनाते जश्न जिस गुलामी का ,वो कहलाती है शादी || शादी अगर सादी हो तो,बारातियों को नहीं आता मजा | भोगते हैं स्वेच्छा से जिसको ,शादी है एक ऐसी सजा || कितना अनोखा है ये रिश्ता,जो
31 जनवरी 2015
31 जनवरी 2015
@@एक दिन मानेगा तुझे,ये सारा संसार@@ ********************************************* पवित्र तुम्हारा प्यार है ,पवित्र तुम्हारे विचार | एक दिन मानेगा तुझे ,ये सारा संसार || अभावों के रेगिस्तान में ,तुम मीठा जल बनो | दबी-कुचली नार का , तुम मजबूत सम्बल बनो || देश की हर समस्या का ,तुम सटीक हल बनो | भारत क
31 जनवरी 2015
31 जनवरी 2015
बो
@@@@@ बो विश्वगुरु भारत देश कठे @@@@@ ******************************************************* मानवता है धर्म जकारो ,बे मिनख भलेरा आज कठे | भ्रष्टाचार ने रोक सके , इसो भलेरो राज कठे || पति रो दुखड़ो बाँट सके ,बा सती सुहागण नार कठे| घर ने सरग बणा सके ,बा लुगाई पाणीदार कठे || लुगाई ने सम्भाळ सके ,बो मर्
31 जनवरी 2015
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x