शायरी

27 फरवरी 2016   |  देवेन्द्र प्रसाद   (277 बार पढ़ा जा चुका है)

“कहते हैं दिल से ज्यादा महफूज जगह नहीं दूनिया में और कोई;


फिर भी ना जाने क्यों सबसे ज्यादा यहीं से लोग लापता होते हैं।”

अगला लेख: हिंदी करण



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 फरवरी 2016
एक औरत मॉल से बिस्कुट चुराते हुए पकड़ीगयी।......जज ने कहा तुमने जो बिस्कुट का पैकेट चुराया उसमे 10 बिस्कुट थे।इसलिए तुम्हे 10 दिन की जेल की सज़ादी जाती है।...पति पीछे से चिल्लाया। जज साहब इसने एक सौंफ का पैकेटभी चुराया है।😜😜😜😜😜😜😜😜
28 फरवरी 2016
19 फरवरी 2016
बो
बोलो धत तेरे की…! 😛😛 नमस्कार को टाटा खा गया,नूडल खा गया आटा!! अंग्रेजी के चक्कर मेंहुआ बडा ही घाटा !!!! बोलो धत्त तेरे की !! माताजी को मम्मी खा गयीपिता को खा गया डैड!! दादाजी को ग्रैंडपा खा गये,सोचो कितना बैड !!!! बोलो धत्त तेरे की !!गुरुकुल को स्कूल खा गया,गुरु को खा गया चेला!! सरस्वती माता की प्
19 फरवरी 2016
18 फरवरी 2016
सं
यहाँ जाइए http://devvanisanskrit.wordpress.com/ धन्यवााद.
18 फरवरी 2016
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x