"उलारा गीत"

06 मार्च 2016   |  महातम मिश्रा   (195 बार पढ़ा जा चुका है)

सादर निवेदित एक भोजपुरी उलारा जो  रंग फ़ाग चौताल इत्यादि के बाद लटका के रूप में गाया जाता है। कल मैनें इसी के अनुरूप एक चौताल पोस्ट किया था  जिसका उलारा आज आप सभी मनीषियों को सादर निवेदित है, पनिहारन वही है उसके नखरे देखें


"उलारा गीत"

कूई पनघट गागर ले आई, इक कमर नचावत पनिहारन

छलकाती अधजल कलसा, झुकि प्यास बढावत पनिहारन

नैनन कजरा मोहें गजरा, तकि बान चलावत है अंचरा

गिरे बूंद पे बूंद अधर तरसे, लटकन अंझुरावत पनिहारन।।


पग नागिन सी लहराय धरे, लखि भार दबाय हंसे विंहसे

लाल गुलाबन होठ कपोलन, मद मदन दिखावत पनिहारन।।


निहुरि घड़ा उचकति कुंअने, चंचल चकोर चित चाह लिए

छैल छबीली छमक छत्तीसी, छकि छाँह लजावत पनिहारन।।


झारि झबर झट केश कमर, लट पट नागिन सी लहराए

अधखिली कली अंजान डगर, खुद बाग बतावत पनिहारन।।


फागुन मह रसभरी गागरिया, लिए सोलह बसंत अधीर हुई

रंग डालू केहि भांति काहि तन, प्यास पुकारत पनिहारन।।


ढोलक मंजीरा रगर मचावत, चौताल चतुर डेढ़ताल जिगर

चैती चहका रसफाग रागरस, वैसवार सुनावत पनिहारन।।


मनभावत अस सरस कबीरा, सुर सररर सुन्दर सी गोरी

लटका झटका भरि पिचकारी, तरका झहरावत पनिहारन।।


महातम मिश्र (गौतम )


अगला लेख: "कुण्डलिया"



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
03 मार्च 2016
"
सादर शुभप्रभात, सादर निवेदित है एक रचना आशीष प्रदान करें ......... “गीत-नवगीत”गीत कैसे लिखूँ नाम तेरे करूँ  शब्द शृंगार पहलू समाते नहींकिताबों से मैंने भी सीखा बहुतहुश्न चेहरा पढ़ें मन सुहाते नहीं॥....... गीत कैसे लिखूँ ........ ये शोहरत ये माया की मीठी हंसीलिए पैगाम यह चुलबुली मयकसी होठ तक सुर्खुरु
03 मार्च 2016
25 फरवरी 2016
"
सादर शुभदिवस मित्रों, आज एक क्षेत्रीय गीत “खेमटा” आप सभी को सादर निवेदित है......... “खेमटा” बताव पिया कइसन राग मल्हार सुनाव पिया काइसन राग मल्हार॥बिन बदरा सूनी बरशे बदरियाँ काली घटा घिरी आय संवरियाजब गाए ध्वनि स्वर सुर सितार.....बताव पिया कइसन राग मल्हार पूरब गइली पश्चिम न देखलीतोहरी सुरतिया हिया ल
25 फरवरी 2016
12 मार्च 2016
बु
बुरा न मानों होली है.....जोगीरा सररररर..........होली में हुड़दंग मिला है, जश्न धतूरा भाँग.....रंग गुलाबी गाल लगा है, खूब चढ़ा बेईमान.....जोगीरा सरररररझूम रहा है शहर मुहल्ला, खाय मगहिया पानगली गली में शोर मचा है, माया की मुस्कान......जोगीरा सरररररजोर-शोर से हर सेंटर पर है हल्ला इम्तहानबाप सिखाए अकल नक़ल
12 मार्च 2016
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x