हौसलों का आसमान

08 मार्च 2016   |  आशीष श्रीवास्‍तव   (145 बार पढ़ा जा चुका है)

नियुक्ति-पत्र हाथ में लिए,
खिलखिलाती बेटी से 
माँ ने पूछा-
अब क्या करोगी?
माँ!तुमने समाज की
सारी कुरीतियों, क्रूरताओं के सामने
एक कवच बन कर
मुझे जन्मा, पाला;
अब तुम्हारी शक्ति बनूँगी
ऐसा अप्रत्याशित उत्तर...
आलोक से भर गया 
मन का कोना-कोना
सहसा ही मन
पीछे मुङकर देखने लगा-
वहाँ, जहाँ -
बरामदे में खड़े सभी परिजन,
नर शिशु का 
रूदन सुनने को बेचैन थे
रुदन तो सुना 
पर कन्या का
सबका उत्साह 
दूध के झाग की तरह बैठ गया...
और ....
प्रसवपीड़ा से छटपटाता 
मेरा जिस्म..
अभी स्थिर भी ना होने पाया था
कि एक नन्ही सी जान को 
मेरी बगल में लेटा दिया गया
ओह, मेरी बिटिया! 
मेरे स्त्रीत्व की पूर्णता!
लम्बी-लम्बी साँसें भरता 
वह नन्हा सा जिस्म
मजबूती से बन्द
छोटी-छोटी मुट्ठियाँ
-----आज यही मुट्ठियाँ 
सबल हो मेरे झुकते कन्धों को
सहारा देने को बढ़ आयी हैं
मेरी बच्ची आज समर्थ हो
मातृ-ऋण उतारने को 
तत्पर हो गयी है..
मेरी जान!
तुझे तेरे कदमों में 
तेरी अपनी जमीन और सिर पर
हौसलों का यह आसमान मुबारक हो।


-ममता गुप्ता

अगला लेख: मनोज कुमार जी को २०१५ का दादा साहब फाल्के पुरस्कार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
04 मार्च 2016
इस खबर को पचाने में थोड़ा वक्त लगेगा, फालके पुरस्कार के लिए चुने जाने पर बोले #मनोज कुमार  जाने-माने फिल्म अभिनेता एवं निर्देशक मनोज कुमार को भारतीय सिनेमा में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए वर्ष 2015 के दादासाहेब फाल्के पुरस्कार के लिए चुना गया है। भारत सरकार के इस फैसले पर मनोज कुमार का कहना है कि
04 मार्च 2016
06 मार्च 2016
ढा
पढ़े-लिखों की चालाकी से फूट गई तकदीरढाई आखर की बुनियादें हिलने लगीं कबीरमिल-जुल कर कैसे रहना है दुनिया भूल गई हैतुमने देखा नहीं मदरसा ये स्कूल गई हैखून की होली तोड़ रही है रिश्तों की जंजीरतुम परवाह कहां करते थे, कितना बोल गए थेदाढ़ी-चोटी जंतर-मंतर, सब कुछ खोल गए थेअक्षर-अक्षर सत्य तुम्हारा, मिलती नह
06 मार्च 2016
10 मार्च 2016
रि
केंद्रीय आवास एवं शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्री एम. वैंकेया नायडू ने #RealEstateBill पेश किया, और सदन में बहस के बाद बाद पास कर दिया गया। आइये जाने क्या ख़ास बातें हैं जो आम उपभोक्ता को देश के बिल्डरों की मनमानी से मुक्ति दिलाएगा हर राज्य में रियल एस्टेट रेग्युलर नियुक्त होंगे, जो सभी प्रोजेक्ट की मॉनीटर
10 मार्च 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x