Kaveeta

20 मार्च 2016   |  दीपक श्रीवास्तव   (185 बार पढ़ा जा चुका है)

Kaveeta

देश के

सहिष्णु

कहते हैं कि;

जयहिन्द नही कहेंगे

वंदे मातरम नही कहेंगे

भारत माता की

जय नहीं बोलेगें

क्योंकि;

भारतीय संविधान में

इस हेतु

कोई;

व्यवस्था नही है

वह उदारवादी हैं

धर्म निरपेक्ष हैं

और;

यदि हम इंशाअल्लाह

किसी

आंतकवादी को

फांसी दे दे

तो;

हम

असहिष्णु हैं

साम्प्रदायिक हैं

वह

देश का

विरोध करें तो

यह उनका

मौलिक अधिकार है

जबकि;

हम अवाम की

हिफाजत करें तो

यह उनको

नही स्वीकार है

हाय रे हाय राजनैतिक मजबूरी !!

अगला लेख: Kaveeta



शब्दनगरी पर ही किसी दुसरे यूज़र ने लिखा है - जिस प्रकार संसार में कुछ संतान अपने माँ बाप का विरोध करते है और उनको छोड़ देते है ,और इस बात से यह सिद्ध नही होता की संसार में सारे संतान अपने माँ बाप का विरोध करते है ठीक उसी प्रकार कुछ लोग अपने जन्म भूमि का विरोध कर रहे है इसे यह सिद्ध नही होता की सरे देशवाशी देश का विरोध कर रहे है बल्कि समाज में इनका बहिस्कार कर देना चाहिए | उनको भोक ने दे "भारत माता" की जय बोलते हुए अपना काम करते रहे |

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
K
17 मार्च 2016
13 मार्च 2016
11 मार्च 2016
21 मार्च 2016
इं
16 मार्च 2016
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x