अवसर: डाक विभाग के साथ खोलिए कंपनी, कमाइए लाखों

02 अप्रैल 2016   |  ओम प्रकाश शर्मा   (285 बार पढ़ा जा चुका है)

अवसर: डाक विभाग के साथ खोलिए कंपनी, कमाइए लाखों

यदि आप बेरोजगार हैं या बिना लागत आमदनी करके सफलता के शिखर पर पहुंचना चाहते हैं तो डाक विभाग आपकी मदद कर सकता है। डाक विभाग की कैश ऑन डिलीवरी सुविधा का लाभ उठाकर आप मोटी आमदनी कर सकते हैं। आपको करना बस इतना है कि ऑनलाइन अपने शहर की चुनिंदा दुकानों की खास-खास चीजों का प्रचार कीजिए, आर्डर मिलते ही डाक विभाग से संपर्क कीजिए। 

डाक विभाग आपका सामान खरीदार तक पहुंचाएगा, उससे रुपए लेकर आपको देगा।  देश की दो नामचीन ऑनलाइन रीटेल की कंपनियों ने डाकविभाग की कैश ऑन डिलीवरी सुविधा का लाभ उठाकर दूर-दराज के गांवों तक अपना जाल फैला लिया। दोनों कंपनियां हर महीने डाक विभाग के जरिए करीब तीन करोड़ रुपए का समान अकेले प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में सप्लाई कर रही हैं। 

घटिया सामान भेजा तो खैर नहीं
डाक विभाग से अनुबंधित कंपनी से सामान मंगाने वालों से धोखाधड़ी करना आसान नहीं है। यदि आप ऑनलाइन रीटेल कंपनी खोल रहे हैं तो डाक विभाग के जरिए लोगों से फ्रॉड नहीं कर पाएंगे। कुछ समय पहले लोगों ने ऑनलाइन मोबाइल खरीदा था, डिब्बा खोला तो पता चला कि मोबाइल की जगह उसमें पत्थर का टुकड़ा रखा हुआ था।

इस तरह से होने वाले फ्रॉड को ध्यान में रखते हुए डाक विभाग ने कंपनी और कस्टमर दोनों पर नजर रखने की पूरी तैयारी की है। उपभोक्ता पेमेंट करते ही सामान की पैकिंग खोल सकेगा। यदि बताया गया सामान मात्रा से कम या बदला हुआ निकला तो डाकिया तत्काल सामान वापस ले लेगा। डिलीवरी चार्ज काटकर पेमेंट तत्काल वापस कर दिया जाएगा। डिलीवरी चार्ज कंपनी से वसूलने के बाद डाक विभाग उपभोक्ता को देगा। 

रेगुलर कस्टमर को मिलेगी छूट
यदि आप डाक विभाग के रेगुलर कस्टमर बन गए तो आपको दो प्रतिशत की छूट दी जाएगी। बड़े पैमाने पर कारोबार फैला लिया तो आपका सामान स्पीड पोस्ट से काफी कम कीमत में कस्टमर तक पहुंचा दिया जाएगा। आपको डाक विभाग से अनुबंध करने के लिए कुछ खास नहीं करना है। बस आपको अपने कंपनी के नाम के लेटर हेड पर चीफ पोस्टमास्टर को अनुरोध पत्र लिखना है। पत्र में आप बताएंगे कि आप ऑनलाइन रीटेल कंपनी का सामान डाक विभाग से भेजना चाहते हैं। आपका नाम दर्ज कर लिया जाए। इस अनुरोध पत्र के देने से आपकी कंपनी का सामान विभाग के पास पहुंचते ही डिलीवरी में प्राथमिकता मिलने लगेगी। कंपनी की मुहर लगा सामान पोस्ट ऑफिस में पहुंचते ही डिलीवरी अतिशीघ्र करा दी जाएगी। 

ऐसे बनाएं ऑनलाइन रीटेल कंपनी
आप गूगल पर हाउ टू मेक फ्री वेबसाइट लिखकर सर्च कीजिए। आपको निशुल्क से लेकर बहुत ही कम कीमत पर बेबसाइट बनाने के दर्जन भर तरीके मिल जाएंगे। वेबसाइट बनाकर अपने शहर की खास-खास चीजों की फोटो अपलोड कर दीजिए। दुकानदार से उसकी मार्केटिंग और दूर तक सामान बेचने के लिए कम कीमत में सामान खरीदने के लिए वार्ता कर लीजिए। इसके बाद अपना लाभ जोड़ते हुए उत्पाद की कीमत सहित फोटो वेबसाइट पर अपलोड कर दीजिए।

इसके बाद आपको अपनी वेबसाइट का प्रचार करना होगा। जो भी आपकी वेबसाइट देखकर सामान खरीदना चाहेगा वह ऑनलाइन आर्डर कर देगा। आर्डर मिलते ही आप प्रधान डाकघर पहुंच जाइए। पत्र लिखकर चीफ पोस्टमास्टर को दीजिए और हाथोंहाथ डिलीवरी के लिए सामान दे दीजिए। आर्डर सप्लाई के बाद डाकविभाग आपके खाते में सामान की कीमत जमा कर देगा। जिसे आप एटीएम से निकाल सकेंगे।

साभार : लाइव हिन्दुस्तान.कॉम

अगला लेख: भारत माता की जय के बाद अब लाइमलाइट का अगला मुद्दा क्या ?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 अप्रैल 2016
क्
बढ़ती गर्मी और हर कहीं पानी के लिए त्राहि-त्राहि ! कहते हैं छोटी-छोटी बचत भी मायने रखती है, क्या रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में हम पानी की बचत करते हैं ? कितने ही लोगों को दिन-रात पानी बर्बाद करने से रोकना पड़ता है, फिर भी, क्या तमाम कोशिशों के बावजूद लोग मानते हैं ? आपका क्या मानना है इस बारे में ? 
14 अप्रैल 2016
04 अप्रैल 2016
क्
समाज के हर वर्ग के लोग आत्महत्या के शिकार होते हैं। अमीर-गरीब, पढ़े-लिखे और अनपढ़, महत्वाकांक्षी और आत्मसंतुष्ट... कोई पैमाना नहीं कि इस काल के गाल में कौन गिरता है। सर्वमान्य है कि कोई भी समस्या ऐसी नहीं जिसका हल न हो। फिर सवाल यह है कि क्या स्वयं का जीवन समाप्त करने वालों को इससे बचाया जा सकता है ?
04 अप्रैल 2016
02 अप्रैल 2016
पूछ रहे हो क्या अभाव हैतन है केवल प्राण कहाँ है ?डूबा-डूबा सा अन्तर हैयह बिखरी-सी भाव लहर है ,अस्फुट मेरे स्वर हैं लेकिनमेरे जीवन के गान कहाँ हैं ?मेरी अभिलाषाएँ अनगिनपूरी होंगी ? यही है कठिनजो ख़ुद ही पूरी हो जाएँऐसे ये अरमान कहाँ हैं ?लाख परायों से परिचित हैमेल-मोहब्बत का अभिनय है,जिनके बिन जग सून
02 अप्रैल 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x