लेडी ऑफ द हार्ले ~~ वीनू पालीवाल

12 अप्रैल 2016   |  आशीष श्रीवास्‍तव   (502 बार पढ़ा जा चुका है)

लेडी ऑफ द हार्ले की , सड़क हादसे में गई जान

लेडी ऑफ द हार्ले का ये था फेसबुक पर आखिरी पोस्ट, सड़क हादसे में गई जान
वीनू पालीवाल

लखनऊः लेडी आॅफ द हार्ले के नाम से मशहूर वीनू पालीवाल को क्या पता था कि  लखनऊ में देखा शाम-ए-अवध उसके लिए अवध का आखिरी नजारा होगा। लखनऊ से सोमवार को भोपाल के लिए रवाना हुई बाइक राइडर वीनू पालीवाल की सोमवार शाम मध्य प्रदेश के विदिशा के पास सड़क हादसे में मौत हो गई। वीनू को इंडिया की लेडी ऑफ द हार्ले 2016 के खिताब से नवाजा गया था। वे जयपुर की रहने वाली थी। वीनू अपनी फिल्म के लिए बाइक से पूरे भारत के टूर पर निकली थी।

लखनऊ पहुंचने से पहले किया था फेसबुक पर आखिरी मैसेज
-अपने टूर के दौरान वीनू ने दुर्गापुर से लखनऊ आने से पहले फेसबुक पर स्टेटस अपडेट किया था।
-उन्होंने लिखा था कि हम दुर्गापुर से निकल रहे हैं, लेकिन रास्ता खराब है।
-रोड पर ट्रैफिक बहुत ज्यादा है। जगह-जगह ट्रैफिक जाम है।
-लेकिन हमारा टीम लीडर बेहद मजबूत है, वो आगे बढ़कर हमारे लिए रास्ता बना रहा है।
-लखनऊ में लोग हमारा इंतजार कर रहे हैं।
-मैसेज में वीनू ने अपने टीम-मेट्स विपुल, आदिल व मनू को थैंक यू कहा था।

last-post

लखनऊ से शुरू हुआ था आखिरी सफर
-वीनू हार्ले डेविडसन बाइक से अपने साथियों के साथ इंडिया टूर पर पर निकली थीं।
-सोमवार सुबह 7 बजे वे लखनऊ से रवाना हुई थी।
-शाम लगभग  6 बजे सागर से भोपाल की ओर जाते समय उनकी बाइक ग्यारसपुर के पास स्लिप कर गई।
-अंदरूनी चोटों के कारण अस्पताल इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
vonu9

पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि एक्सीडेंट में वीनू का लीवर बुरी तरह डैमेज हो चुका था।
-इस वजह से वीनू की मौत हुई।

vinu-4

विरासत में मिला था हार्ले चलाने का शौक 
-मीडिया को दिए गए एक इंटरव्यू में वीनू ने बताया था कि बाइक चलाने का शौक उन्हें अपने पिता से विरासत में मिला था।
-उन्होंने बताया कि वे तब से हार्ले चला रहीं थीं, जब वे अजमेर के मशहूर सोफिया कॉलेज में पढ़ रही थी।
-वीनू का दावा था कि वे अपनी 1200 सीसी का इंजन और 265 किलो वजन वाली हार्ले को 180 स्पीड में आसानी से चला लेती थी।

-इतनी स्पीड के साथ जब वे हार्ले चलती थीं, तो उनका कहना था कि वे हवा के साथ कॉम्पिटीशन करती थी कि पहले कौन पहुंचेगा।
vinu-5


-वीनू पालीवाल जयपुर में दो रेस्टोरेंट चलाती थीं।
-जयपुर के डिग्गी हाउस में वीनू का चाह बार रेस्टोरेंट है। यह एक विक्टोरियन टीरूम लाउन्ज है।
-हार्ले चलाने का शौक रखने से पहले खरीदने से पहले वे कार चलाने का भी शौक रखती थी।
-लेकिन एक बार हार्ले डेविडसन का शौक लगा, तो वही उनकी पहले पसंद बन गया।

-वीनू के दो बच्चे हैं एक पुत्र जो की इंजीनियर और पुत्री जिसने अभी कक्षा १२ की परीक्षा दी है 

अंश न्यूजट्रैक 

अगला लेख: उत्तर प्रदेश पुलिस अब सोशल मीडिया पर



रिप !

ईश्वर के अजब फैसले ... जान के सच में अफ़सोस हुआ

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x