आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x

ऐप्पल ने तलाशा भारत में नया बाजार, ज्योतिष, क्रिकेट और फिल्मों का करेंगे व्यापार

25 मई 2016   |  इंडियासंवाद
ऐप्पल ने तलाशा भारत में नया बाजार, ज्योतिष, क्रिकेट और फिल्मों का करेंगे व्यापार

पिछले हफ्ते भारत दर्शन के लिए पहुंचे ऐप्पल के सीईओ टिम कुक ने मोबाइल और लैपटॉप से इतर उससे भी कहीं बड़ा बाजार तलाश लिया है। उम्मीद है कि बहुत जल्द वह इस बाजार पर भी वर्चस्व बनाने की योजना तैयार कर नए प्रतिस्पर्धी बनाएंगे। यह बाजार है ज्योतिष, क्रिकेट और बॉलीवुड फिल्मों का।

नई दिल्ली : पिछले हफ्ते भारत दर्शन के लिए पहुंचे ऐप्पल के सीईओ टिम कुक ने मोबाइल और लैपटॉप से इतर उससे भी कहीं बड़ा बाजार तलाश लिया है। उम्मीद है कि बहुत जल्द वह इस बाजार पर भी वर्चस्व बनाने की योजना तैयार कर नए प्रतिस्पर्धी बनाएंगे। यह बाजार है ज्योतिष, क्रिकेट और बॉलीवुड फिल्मों का।  


अपने भारत दर्शन का आगाज कुक ने मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर का दर्शन कर शुरू किया। फिर बांद्रा वेस्ट के महबूब स्टुडियो जाकर बॉलीवुड फिल्म की शूटिंग देखी और शाम होते ही क्रिकेट और बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान के घर मन्नत डिनर के लिए पहुंच गए। यह भी कम था कि अगले ही दिन आईपीएल मैच का आनंद लेने वह मुंबई से कानपुर आ पहुंचे।


कुक के ऐसी चीजों में दिलचस्पी लेने को नए एंगल से जोड़कर देखा जा रहा है। सूत्रों की मानें तो ऐप्पल सीईओ भारत में एक नया बाजार तलाशने पहुंचे थे, एक ऐसा बाजार जो मोबाइल, लैपटॉप, इंटरनेट से भी कहीं ज्यादा बड़ा दिख रहा हो। अब उम्मीद की जा रही है कि कुक को यह बाजार भारत की नब्ज मानी जाने वाली धर्म, क्रिकेट और बॉलीवुड फिल्मों में नजर आया है।


यही नहीं, एबीसी के कंटेट यानी एस्ट्रॉलजी, बॉलीवुड और क्रिकेट सबसे ज्यादा इंटरनेट खपत वाले सेक्शन और ऐप क्रिएटर्स भी हैं। सिर्फ सोशल नेटवर्किंग साइट्स ही इन्हें टक्कर दे पाते हैं। ऑडिट और कंसल्टेंसी फर्म केपीएमजी में पार्टनर रोमल शेट्टी ने कहा, ऐप्पल को दो चीजों से बढ़ावा मिलता है। पहला ब्रांड जिसे लोग अपने पास रखना चाहते हैं। दूसरा ऐप्स की संख्या, जिससे उपभोक्ता का व्यवहार जुड़ा है। अब तक ऐप्पल का इकोसिस्टम कमोबेश पश्चिमी देशों के मुताबिक तैयार होता रहा है लेकिन अब वह भारत को ध्यान में रखकर ऐप तैयार कर रही है। 


 ऐप्पल ने तलाशा भारत में नया बाजार, ज्योतिष, क्रिकेट और फिल्मों का करेंगे व्यापार

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
प्रश्नोत्तर
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x