आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x

मीठा खाने का मन करे तो चीनी फांक लेना पर वर्क वाली बर्फी कभी मत खाना

29 मई 2016   |  इंडियासंवाद

	मीठा खाने का मन करे तो चीनी फांक लेना पर वर्क वाली बर्फी कभी मत खाना

sweets silver work is not vegetarian


चांदी के वर्क लगी मिठाई आप जरूर खरीदते होंगे क्योंकि वो देखने मे सुंदर लगती हैं. किसी भी शुभ कार्य में चांदी के वर्क लगी मिठाई और चांदी का वर्क लगा पान बड़े चांव से लोग खाते है और इस वर्क को शाकाहारी मानते हैं. लेकिन हकीकत यह है कि मिठाइयों पर नजर आने वाला ये चांदी का वर्क आपकी सेहत और आपके बच्चों की दिमागी सेहत के लिए बेहद खतरनाक है. चांदी के वर्क में लिपटी मिठाई से आपको कैंसर जैसी घातक बीमारी हो सकती है.


दरअसल चांदी का वर्क वास्तव में शुद्ध चांदी का होता ही नहीं है बल्कि एल्मीनियम जैसी चमकीली धातु से बनाया जाता है. आपको बताते हैं कि चांदी का वर्क कैसे तैयार किया जाता है. चांदी के वर्क बनाने के लिए हर वर्ष तकरीबन 125000 गायों की हत्या की जाती है. और उसके पेट से आंत निकालकर उसके अंदर चमकीली चांदी जैसी धातु का टुकड़ा परत-दर-परत आंत में लपेट कर रखा जाता है, कि उसका खोल बन जाए. उसके बाद लकड़ी के हथौड़े से जोर-जोर से पीटा जाता है, जिससे आंत फैल जाती है और आंत के साथ धातु का टुकड़ा वर्क के रूप में पतला होता चला जाता है. 


रिर्सच मे पता चला


1. चांदी के वर्क के बारे में लखनऊ के इंडियन इंस्टीटय़ूट ऑफ टाक्सकोलॉजी रिसर्च (IITR) के अध्यनन के मुताबिक बाजार में उपलब्ध चांदी के वर्क में निकल, लेड, क्रोमियम और कैडमियम बहुतायत मात्रा में पाया जाता है. इसको खाने से कैंसर जैसे घातक रोग हो सकता है.


2. इसी तरह शिमला के इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के मेडिसन विभाग के प्रोफेसर डा. राजेश कश्यप ने बताया कि धातु चाहे किसी भी रूप में हो, सेहत के लिए नुकसानदेय है. इसके सेवन से   ज्यादा नुकसान लिवर, किडनी और गले को होता है.


3. पुणो स्थित एनजीओ ब्यूटी बिदाउट क्रुएलिटी (BWC) के मुताबिक एक किलोचांदी का वर्क बनाने के लिए लगभग 12500 गायों की आंतों चाहिए होती हैं. एक अनुमान के मुताबिक देश में सालाना लगभग     30 टन चांदी के वर्क की खपत होती है. इसे बनाने का काम मुख्य रूप से कानपुर, जयपुर, अहमदाबाद, सूरत, इंदौर, रतलाम, पटना, भागलपुर, वाराणसी, गया, मुम्बई आदि में होता है.


कानून तो बना है 


हालांकि चांदी के इस वर्क को लेकर कानून भी बना हुआ है. फूड रेगुलेटरी अथॉरिटी के मुताबिक चांदी के वर्क में 99.9 फीसदी चांदी होनी चाहिए. संस्था ने ये जानने के लिये रिसर्च किया कि चांदी के वर्क में 99 फीसदी चांदी के साथ 0.1 फीसदी कौन-सी धातु मिलाई जाती है. वैज्ञानिकों ने इसके लिये कुल 178 नमूने लिए जांच करने पर पता चला कि ज्यादातर नमूनों में चांदी ही नहीं थी. मिठाइयों में इस्तेमाल होने वाले जहरीले वर्क के खुलासे से रिर्सच करने वाले भी दंग हैं ज्यादा से ज्यादा मुनाफे की लालच में वाजार मे जहर बेचा जा रहा है.



 मीठा खाने का मन करे तो चीनी फांक लेना पर वर्क वाली बर्फी कभी मत खाना


शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
प्रश्नोत्तर
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x