कुर्सी का खेल (व्यंग)

13 जून 2016   |  अवनीश कुमार मिश्रा   (532 बार पढ़ा जा चुका है)

चाहे भोजन करने के लिए कुर्सियों का जंग हो या नेताओं के बीच सत्ता का लेकिन कुर्सी का खेल बड़ा ही निराला है कोई मेज के लिए झगड़ा क्यों नहीं करते क्या खास बात है कुर्सी में इसे तो ऐसे ही समझ लेना चाहिए कि आज से ही मोदी क्यों इलाहाबाद जाकर अपनी कुर्सी पक्का करने में जुट गयें हैं |ये दूसरो को बेकार और अपने आप को अच्छा कहने में तनिक नहीं हिचक रहे हैं ये भी नहीं जानते कि मैंने काम क्या किया है २साल जनता को मजबूत चूतिया बनाया फिर आ गया हूँ
कुर्सी की गर्मी इसी से जान लीजिए कि एसी. के तरावट में रहने वाले नेता जी इस गर्मी में कहाँ से आ गये कहीं झाईंया निकल आयी तो क्या होगा |अरे होगा क्या बाबा रामदेव की पतंजलि कंपनी है न क्रीम मंगवा लेंगे किसी ने कहा जनता क्या करेगी नेता झट से बोल उठे जाकर सरसों का उबटन लगायें
तब पता चला कि आखिर कुर्सी की गर्मी क्या होती है||

अगला लेख: अपना लहू बहा देंगे(कविता)"ये वतन"पुस्तक



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 जून 2016
हमारे देश में पहले की तुलना में अब बहुत कम वन रह गयें है इसका सबसे बड़ा कारण है बढ़ती आबादी और स्मार्टता ,और अन्य कारण भी है |हमारे देश के वासी दूसरों की कापी करने में बहुत आगे रहते हैं |इसी का नतीजा है कि आयुर्वेदिक को छोड़कर अंग्रेजी दवाईयां प्रयोग करते हैं |लेकिन वन काट दिये तो जड़ी -बूटियाँ कहाँ
16 जून 2016
14 जून 2016
नेता जी भाषण देने पहुचे तो जनता देखकर दंग रह गई |असल में नेता जी की हिरनी जैसी चाल जो थी सभी नेता जी के चाल के दिवाने हो गये |अब नेता जी आते-जाते दिखते तो लोग एकत्रित हो जाते हिरनी चाल का मजा लेने के लिए |लेकिन सचमुच ऐसी चाल नेताजी की नहीं थी |ये उनकी चाल थी जो गदहे जैसा चलने लायक नहीं वह हिरनी जैसा
14 जून 2016
21 जून 2016
देश में इस समय हाहाकार मचा हुआ है लेकिन सभी लोग इसे नहीं समझ हे कि ये नेता जी की कुलबुलाहट ही कल से जनता के बीच आने वाली है बड़ी -बड़ी बातें करेंगें ,चुनाव जीतेंगें ,फुर्र से उड़ जाऐंगे |क्योंकि अब आगे यूपी सहित कईं राज्यों में चुनाव जो है लेकिन जनता का भला हो या अनभला उन्हें क्या करना |उन्हें तो सि
21 जून 2016
14 जून 2016
वीर जवां हूँ इसी वतन का इस देश को न झुकने देंगे लेकर हाँथों में खड़ग ,सर काटेंगे ,कटवा भी लेंगे कट जाऐंगे सर फिर भी ,आखिर तक लड़ते रहेंगे हम अपने वतन के खातिर अपना लहू बहा देंगे|भारतवासी हैं हम सब जन गैर गुलामी नहीं सहेंगें बर्छी और भाले लेकर हम बिना खड़ेदे नहीं रहेंगें गर नहीं खड़ेदे दुश्मन
14 जून 2016
18 जून 2016
😂झूठ बोलना …बच्चों के लिए … पाप ,,कुंवारों के लिए …. अनिवार्य ,,प्रेमियों के लिए ….. कला ,,और …शादीशुदा लोगों के लिए … शान्ति से जीने का मार्ग होता है....!!""✋ये है इस हफ्ते का साप्ताहिक ज्ञान।बड़ी मुश्किल से ढूंढ़ कर निकाला है।गीता में लिखना रह गया था।
18 जून 2016
19 जून 2016
आज हमारे समाज बहुत कुरीतियाँ फैली है बच्चो को गलत रास्ते पर लाने में अहम भूमिका उनके माँ-बाप की होती है आज ऐसे ही एक केस सुनने में आया जिसमें उनके घरवाले ही बढ़ावा दे रहें है बात यूँ है कि एक आठ साल के लड़के ने अपने से लगभग दो दशक बड़ी एक महिला से बोला लँहगा -- आगे कहने का साहस नही है क्योकि ये शब्द
19 जून 2016
14 जून 2016
तेरे प्यार में मरता रहा मैं तेरे इश्क के लिए भटकता रहा मैं तू ने मेरे प्यार पर मार दिया ठोकर ,भरी जवानी में तड़पता रहा मैं |
14 जून 2016
21 जून 2016
तेरी यादों के बिस्तर पर मैं सो गया ,तेरे बिस्तर के खुशबू में मै खो गया , मगर तुमने घृणा की मुझे इस कदर ,मैं तेरे बेवफाई में अवारा बन गया |
21 जून 2016
23 जून 2016
दे
देश वासी देश की तरक्कीमे सहयोग करें ============================आरक्षण जैसी कई बीमारिया की वजह से टीना डाभी पास हुई और अंकित श्री वास्तव फेल जो की अंकित कोsahyog तिनसे ज्यादा मार्क्स है ३५ मार्क ज्यादा लेकिन अंकित को आरक्षण व्यवस्ताने फेल करदिया और तिनको पास , ये बिमारिकि जड़ देश में डालने वाला नहेरु
23 जून 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x