शायद एक ना होती तो महाभारत ना होती

13 जुलाई 2016   |  Ashwani Manocha   (316 बार पढ़ा जा चुका है)

शायद हम जानते है महाभारत क्यूं हुई यही शायद  गीता में भी लिखा है और वही हमने देखा है और वही टी.वीके  माध्यम से हम देखते आ रहे है । शकूनी मामा और दुर्योध्न ने किस तरह से चालबाजी करके पांडवो का 

सारा राज्य ले लिया फिर द्रोपदी का चीर हरण किया जिससे आगे चलकर महाभारत हुई । 

            पर आप सोचिये अगर युधिष्ठर से खेल खेलने से मना कर देता तो क्या महाभारत होती । चलो खेल भी 

खेल लेता राज्य भी हार जाता पर क्या द्रोपदी को दांव पर लगाना ठीक था द्रोपदी दांव पर नहीं लगती तो

महाभारत भी नहीं होती इसमें शकूनी मामा और दुर्योध्न की चाल थी पर इसमें युधिष्ठर की भूमिका कम तो नहीं थी अगर यूधिष्ठर एक ना बोल देता और ये खेल नहीं खेलता तो इतनी िवनाशकारी महाभारत ना होती । 

अगला लेख: टेंशन



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 जुलाई 2016
अनाथाश्रम का नाम जब भी सुनते है तो सोचने को मजबूर होना पड़ता है कि कितने बदनसीबबच्चे है जिनकी परवरिश अनाथ आश्रम में हो रही है अौर वृद्धाश्रम का नाम सुनते है की कितने बदनसीब माँ-बाप है जिन्हें अपने बच्चों के होते हुए वृद्धाश्रम में रहना पढ़ रहा है । अनाथ आश्रम को तो चलों हम सोच सकते है कि बच्चों को ज
23 जुलाई 2016
29 जून 2016
हम जानते है कि अब कलयुग चल रहा है और हम किसी से भी इस बारे मे बात करते है तो वो कलयुग कामतलब काला युग कहेगा जिसमे चोरी डकैती लूटपाट बलात्कार आदि होता है और सीधे शब्दों में कहे तो हर प्रकार के दुष्कर्म कलयुग में होते है इसी लिए इस युग का नाम कलयुग है ये परिभाषा कलयुग की है जिसे साधारण लोग, विद्धवान स
29 जून 2016
09 जुलाई 2016
आज का सुवचन 
09 जुलाई 2016
11 जुलाई 2016
प्
आजकल आप देखिये प्रकृति ने भी अपना व्यवहार बदल लिया क्योंकि इन्सान ने उसे बदलने के लिये मजबूर कर दिया है क्योंकि सिर्फ अपनी जरूरत को पूरा करने के लिये हम इन्सान लगातार प्रकृति को नुकसान पंहुचा  रहे है । अब जंगल तो नाम के ही रह गये है । शहरों का विस्तार तो एेसे भड़ रंहा है जैसे जिस स्पीड से प्रदूषणभड़
11 जुलाई 2016
19 जुलाई 2016
टे
इस युग की सबसे बड़ी देन है टेंशन जो शायद पहले के लोग नहीं लेते थे और आजकल हर छोटी से छोटी बात पर इतनी टेंशन ले लेते है जैसे पता नहीं क्या हो जायेगा और आप टेंशन सुनेगे तो अपने आप को हसाने से नहीं रोक पायेगें । सुबह दूध नहीं आया तो टेंशन, पानी नहीं आया तो टेंशन, लाईट नहीं है तो टेंशन, गाड़ी में पैट्रो
19 जुलाई 2016
22 जुलाई 2016
जो
कहते है जोडियां भगवान बनाता है और नीचे पण्डित या रिलेटिव के द्वारा मिलकर उनकी शादी हो जाती है और सुनने में आता है ये  जोड़ी भगवान ने बनाई है अौर बोलते है  राम मिलाई जोड़ी ।                इसमें कितनी सच्चाई है यहीं बात मैं सोच कर परेशान रहा । भगवान भी कितना फ्री बैठा होगा । जोडियां बनाने के लिये ये 
22 जुलाई 2016
25 जुलाई 2016
भू
डॉ. अब्दुल कलाम। ये हम सब जानते हैं कि वो इस युग के महानायक थे ।  उनका जीवन हमारे लिए किसी अनमोल रत्न से कम नही था। उन्होंने हमेशा ही हमें सपने देखना और उसे जीना सिखाया। उन्होंने अपने जीवन का एक.एक पल भारत के उन्नति के लिए दिया। वह सिर्फ़ भारत के मिसाइल कार्यक्रम के पिता ही नहीं थे बल्कि हमारे देश क
25 जुलाई 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x