गमज़दा रात

17 अगस्त 2016   |  प्रियंका शर्मा   (167 बार पढ़ा जा चुका है)

गमज़दा रात है बेवफा ए उल्फ़त भी है और तन्हाई है दीवानगी सी लगती है बस वीरानगी सी छाई है  


- रविंदर विज 

अगला लेख: टेस्ट



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
19 अगस्त 2016
मेरे शब्दों में अब बजन ही कंहा रहा है वो तो बस असर था तेरी मोहब्बत का , जो इतना कुछ लिखा था तेरे को दिल के आइने में देख देख के ... ‪#‎आप‬ याद आते हो मनमोहन कसाना
19 अगस्त 2016
16 अगस्त 2016
उड़ा भी दो सारी रंजिशें इन हवाओं में यारो, छोटी सी जिंदगी है नफ़रत कब तक करोगे, घमंड न करना जिन्दगी मे तकदीर बदलती रहती है, शीशा वही रहता है बस तस्वीर बदलती रहती है.. 
16 अगस्त 2016
17 अगस्त 2016
मुझसे मुहब्बत करे कोई शायद गाफिल ही होगाउजड़े दयार से किसी को कुछ हासिल नही होगा-   रविंदर विज 
17 अगस्त 2016
16 अगस्त 2016
 14 साल की और 21 साल की मेरी दो बहनें आई पीएस और आई ए एस बनना चाहती हैं . सुनकर ही अच्छा लगेगा .लडकियां जब सपने देखती हैं और उन्हें पूरा करने को खुद की और दुनिया की कमज़ोरियों से जीतती हैं तो लगता है अच्छा .बेहतर और सुखद. खासकर राजनीति ,सत्ता और प्रशासन के गलियारे और औरतें .वहां जहाँ औरतें फिलहाल ग्र
16 अगस्त 2016
25 अगस्त 2016
सभी को इस पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं
25 अगस्त 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x