क्या सच में ब्रहमा ने अपनी बेटी से सदी की थी?

07 सितम्बर 2016   |  प्रतीक सिंह   (804 बार पढ़ा जा चुका है)

क्या सच में ब्रहमा ने अपनी बेटी से सदी की थी?


कहते हैं कि हिंदू धर्म में ब्रह्मा की पूजा नहीं की जाती. पूरे भारत में सिर्फ एक ही मंदिर है ब्रह्मा का, पुष्कर में. लोग इसकी शर्मनाक वजह बताते हैं. उन्होंने अपनी बेटी से रोमांस किया था इसलिए. पूरा मामला क्या है और क्या है उसके पीछे का सच.

इस कहानी के पीछे भागवत के इस श्लोक का लॉजिक दिया जाता है:

वाचं दुहितरं तन्वीं स्वयंभूर्हतीं मन:।
अकामां चकमे क्षत्त्: सकाम् इति न: श्रुतम् ॥(श्रीमदभागवत् 3/12/28)

इसका मतलब कि ब्रह्मा अपनी जवान बेटी पर मोहित हो गए. हालांकि बेटी जवान हो गई थी. लेकिन उस पर काम वासना का असर नहीं हुआ था. फिर भी ब्रह्मा उस पर मोहित हो गए. ऐसा सुना जाता है.

इसके सिवा एक जगह और ऐसा ही लिखा आता है. जिसका प्रयोग लोग ब्रह्मा को अपूज्य बताने के दावे में करते हैं.

प्रजापतिवै स्वां दुहितरमभ्यधावत्
दिवमित्यन्य आहुरुषसमितन्ये
तां रिश्यो भूत्वा रोहितं भूतामभ्यैत्
तं देवा अपश्यन्
“अकृतं वै प्रजापतिः करोति” इति
ते तमैच्छन् य एनमारिष्यति
तेषां या घोरतमास्तन्व् आस्ता एकधा समभरन्
ताः संभृता एष् देवोभवत्
तं देवा अबृवन्
अयं वै प्रजापतिः अकृतं अकः
इमं विध्य इति स् तथेत्यब्रवीत्
तं अभ्यायत्य् अविध्यत्
स विद्ध् ऊर्ध्व् उदप्रपतत् ( एतरेय् ब्राहम्ण् 3/333)

इसका मतलब ये है कि प्रजापति दौडा अपनी बेटी की तरफ. उस लाल लडकी के पीछे भागा. देवताओं ने देखा. कहा कि ये प्रजापति तो गंदा काम कर रहा है.तब उन्होंने तमाम बड़े बड़े शरीर जोड़ कर एक भारी ग्रुप बना दिया शरीरों का. उस ग्रुप से कहा कि यह प्रजापति गंदा काम कर रहा है. मार दे इसे. उस ग्रुप ने तथास्तु कहकर प्रजापति को एक तीर मारा. प्रजापति घायल हो कर वहीं गिर गया.

इस श्लोक का हर जगह यूज किया जाता है ब्रह्मा को बदनाम करने के लिए. लेकिन इसकी गहराई में जाए बगैर. इसमें कहा गया है कि प्रजापति दौड़ा लाल रंग की लड़की की तरफ. लेकिन ब्रह्मा की बेटी सरस्वती तो धवल यानि सफेद हैं. फिर कौन है ये लाल लड़की. उषा लाल हो सकती है. उषा मतलब उगते हुए सूरज के वक्त आसमान में जो लाली होती है. लेकिन वो ब्रह्मा की बेटी ही नहीं है. अब बड़ी मिस्ट्री ये है कि ये साहब प्रजापति हैं कौन? और कौन है उसकी बेटी.

अथर्व वेद में ये श्लोक है

सभा च मा समितिश्चावतां प्रजापतेर्दुहितौ संविदाने।
येना संगच्छा उप मा स शिक्षात् चारु वदानि पितर: संगतेषु।


http://www.thelallantop.com/bherant/hindu-mythological-stories-biggest-lie-about-lord-brahma-that-he-married-his-daughter-devi-saraswati/

अगला लेख: ओपन सेल में मिल रही है रिलायंस जियो की 4जी सिम, जिसमें मिलेगा अनलिमिटेड डेटा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
27 अगस्त 2016
भारतीय गाली ‘भों**डी के’ का कोई यूरोपीय संस्करण नहीं है. बंगाल में किसी को ‘चूतिया’ कहने पर आपकी पिटाई हो सकती है. ध्यान दीजिये कि असम की एक जनजाति भी इसी नाम से है.कभी सोचा है कि लोग गाली क्यों देते हैं? कोई कह सकता है कि ‘सभ्य’ लोग गाली नहीं देते! पर ऐसा नहीं है. दुनिया में शायद कोई ऐसा नहीं है जो
27 अगस्त 2016
24 अगस्त 2016
तिरंगा यात्रा हो रही है. देशभर में लोग तिरंगा ले-लेकर निकल रहे हैं, और प्रधानमंत्री इस मौके के अपडेट्स ट्वीट किए जा रहे हैं. कुछ ट्वीट्स में उनने स्क्रीन शॉट भी चांप दिए. ह्मने उससे कुछ निष्कर्ष निकाले वो ये हैं.कुत्ता इनके पीछे भी भागता हैमोदी जी के पास वोडाफोन का मोबाइल नंबर है. इस खबर के बाद अंबा
24 अगस्त 2016
23 अगस्त 2016
जंगल जंगल बात चली है. पता चला है चड्डी पहनकर फूल नहीं, सोना मिला है… सोना मिला है!ओलंपिक में जब अपने खिलाड़ी गोल्ड लाने के लिए जुटे हुए थे, तब एक हैदराबादी औरत भी गोल्ड लाने के लिए साजिश टाइप में लगी हुई थी. साजिश भी ऐसी कि पतलून वाले शरमा जाएं. अब फालतू के इंट्रो के चक्कर से निकलते हैं और सीधा खबर
23 अगस्त 2016
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x