क्या इन देशद्रोहियों को अंग्रेज़ों से लड़ते देखा है?

23 सितम्बर 2016   |  रजत ऐलावादी   (188 बार पढ़ा जा चुका है)

साहब, राहुल गांधी जी ने कभी कोई मुख्यमंत्री या किसी सरकारी पदवी का चुनाव नहीं लड़ा है। उन्हें इंदिरा गांधी व अत्यधिक अनुभवी कांग्रेसी नेताओं से तुलना करना वैसे ही है जैसे किसी प्राथमिक विद्यालय के छात्र की किसी प्रकाण्ड पंडित से की जाए। जहां तक भाजपा का सवाल है, उसका नेतृत्व का सवाल है, तो यह कहना भूल नहीं होगा कि इंदिरा गांधी जी के खिलाफ पहले बदनामी करने की साजि़श की गई थीए और तब उनसे अवसाद में भरे सिक्ख ने निजि शत्रुता के चलते उनका कत्ल किया।


और भाजपा व पाकिस्तान की आईण्एसण्आईण् ने बहुत मिलता-जुलता किरदार निभाया कांग्रेस पार्टी के खिलाफ।


वाजपेयी का पाकिस्तान शत्रु के आगे दोस्ती का प्रस्तावए दुश्मन देश में यात्रा का आरम्भए कारगिल से सेना को हट जाने का आदेश और फिर कृत्रिम युद्ध और अडवाणी का जिन्नाह को समर्थन जबकि नेहरु.गांधी को बदनाम करनाए गांधी के कातिल का पुरज़ोर समर्थन, मोदी का पाकिस्तान के उत्सव में बिना न्यौते के शरीख़ होना।


सच्चाई को दबाया जा रहा है। नहीं तो जनता भाजपा के कार्यकर्ताओं तक को चीर-फाड़ खाए।

अगला लेख: क्या इनमें देशद्रोहियों व देशभक्तों काे अलग कर पाएंगे?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 सितम्बर 2016
आपने सोशल मीडिया पर मोदी भक्त शब्द तो कई बार सुना होगा लेकिन उनका असली भक्त कौन है ये शायद ही समझ में आया हो। लेकिन शाहजहांपुर के रहने वाले 12 साल के कार्तिक से मिलकर आप कह ही देंगे की यही है मोदी जी का असली भक्त। आठवीं में पढ़ने वाले इस मोदी भक्त कार्तिक ने अपने घर में पीएम मोदी की तस्वीर बनवा रखी ह
23 सितम्बर 2016
23 सितम्बर 2016
साहब, राहुल गांधी जी ने कभी कोई मुख्यमंत्री या किसी सरकारी पदवी का चुनाव नहीं लड़ा है। उन्हें इंदिरा गांधी व अत्यधिक अनुभवी कांग्रेसी नेताओं से तुलना करना वैसे ही है जैसे किसी प्राथमिक विद्यालय के छात्र की किसी प्रकाण्ड पंडित से की जाए। जहां तक भाजपा का सवाल है, उसका नेतृत्व का सवाल है, तो यह
23 सितम्बर 2016
18 सितम्बर 2016
जय हिन्द, जय भारत , जय भारतीय पितृ! भारतीयों, हम सबने अपनी आंखों से देखा कि अंग्रेज़ों से पीछा छुड़ाने में भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने दो गुटों में - क्रांतिकारी गुट व शांतिप्रिय गुट - स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी। यदि किसी भी गुट का न
18 सितम्बर 2016
01 अक्तूबर 2016
गांधी - ईश्वरीय चेतना का एक अवतार लेखक :- पंकज " प्रखर " शास्त्र कहते है की जब भी धरती पर अनाचार,अत्याचार,व्यभिचार,शोषण बढ़ता है तथा लोग आसुरी शक्तियों द्वारा सताये व परेशान किये जाते है, जब कभी मनुष्य अपने देवीय गुणों को छोड़ कर आसुरी प्रवृत्ति की और आकर्षित होने लगता है उस समय ईश्वर महानायक के रू
01 अक्तूबर 2016
07 अक्तूबर 2016
भारत में होने वाले आतंकी हमलों को लेकर केंद्र सरकार ने पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक जैसा ठोस कदम उठाया है. इस संबंध में जहां आतंकी हमलों से ग्रस्त विश्व के शक्तिशाली देश भारत सरका
07 अक्तूबर 2016
18 सितम्बर 2016
जय हिन्द, जय भारत , जय भारतीय पितृ! भारतीयों, हम सबने अपनी आंखों से देखा कि अंग्रेज़ों से पीछा छुड़ाने में भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने दो गुटों में - क्रांतिकारी गुट व शांतिप्रिय गुट - स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी। यदि किसी भी गुट का न
18 सितम्बर 2016
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x