क्या इन देशद्रोहियों को अंग्रेज़ों से लड़ते देखा है?

23 सितम्बर 2016   |  रजत ऐलावादी   (202 बार पढ़ा जा चुका है)

साहब, राहुल गांधी जी ने कभी कोई मुख्यमंत्री या किसी सरकारी पदवी का चुनाव नहीं लड़ा है। उन्हें इंदिरा गांधी व अत्यधिक अनुभवी कांग्रेसी नेताओं से तुलना करना वैसे ही है जैसे किसी प्राथमिक विद्यालय के छात्र की किसी प्रकाण्ड पंडित से की जाए। जहां तक भाजपा का सवाल है, उसका नेतृत्व का सवाल है, तो यह कहना भूल नहीं होगा कि इंदिरा गांधी जी के खिलाफ पहले बदनामी करने की साजि़श की गई थीए और तब उनसे अवसाद में भरे सिक्ख ने निजि शत्रुता के चलते उनका कत्ल किया।


और भाजपा व पाकिस्तान की आईण्एसण्आईण् ने बहुत मिलता-जुलता किरदार निभाया कांग्रेस पार्टी के खिलाफ।


वाजपेयी का पाकिस्तान शत्रु के आगे दोस्ती का प्रस्तावए दुश्मन देश में यात्रा का आरम्भए कारगिल से सेना को हट जाने का आदेश और फिर कृत्रिम युद्ध और अडवाणी का जिन्नाह को समर्थन जबकि नेहरु.गांधी को बदनाम करनाए गांधी के कातिल का पुरज़ोर समर्थन, मोदी का पाकिस्तान के उत्सव में बिना न्यौते के शरीख़ होना।


सच्चाई को दबाया जा रहा है। नहीं तो जनता भाजपा के कार्यकर्ताओं तक को चीर-फाड़ खाए।

अगला लेख: क्या इनमें देशद्रोहियों व देशभक्तों काे अलग कर पाएंगे?



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
01 अक्तूबर 2016
गांधी - ईश्वरीय चेतना का एक अवतार लेखक :- पंकज " प्रखर " शास्त्र कहते है की जब भी धरती पर अनाचार,अत्याचार,व्यभिचार,शोषण बढ़ता है तथा लोग आसुरी शक्तियों द्वारा सताये व परेशान किये जाते है, जब कभी मनुष्य अपने देवीय गुणों को छोड़ कर आसुरी प्रवृत्ति की और आकर्षित होने लगता है उस समय ईश्वर महानायक के रू
01 अक्तूबर 2016
29 सितम्बर 2016
कृ
धर्म का वो ढाल है.. अधर्म का वो काल है.. सोलह कलाओं से परिपूर्ण है.. नारायण का स्वरूप है.. मीरा जिसकी पुजारी.. राधा का है मुरारी.. रहीम का मुरलीधर है, गोकुल का चक्रधारी.. कंस का संहारक.. अधात्म का प्रचारक.. अर्जुन का गीता ज्ञान है, धर्म का विचारक.. देवकी का दुलारा.. वो जानकी का प्यारा.. वृंदावन
29 सितम्बर 2016
14 सितम्बर 2016
भा
कला के क्षेत्र में उन्नति व प्रोत्साहन के लिए 'कलाभवन' सन 1993 से कार्यरत है. आगामी भारतीय कला महोत्सव 2016 जो fक मुम्बई में 6 अक्टूबर 2016 से 10 अक्टूबर 2016 तक मनाया जायेगा. कई दर्जनों चित्रकार ों की खोजबीन करने के बाद भारत के
14 सितम्बर 2016
23 सितम्बर 2016
जिससे वह पाकिस्तान को घुटने के बल पर ला सकता है।यह है इंडस वॉटर ट्रीटी अर्थात् सिंधु जल संधि। तब के इंटरनेशनल बैंक फॉर रिकंस्ट्रक्शन ऐंड डेवलपमेंट (अब विश्वबैंक) की मौजूदगी में 19 सितंबर 1960 को कराची में
23 सितम्बर 2016
18 सितम्बर 2016
जय हिन्द, जय भारत , जय भारतीय पितृ! भारतीयों, हम सबने अपनी आंखों से देखा कि अंग्रेज़ों से पीछा छुड़ाने में भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने दो गुटों में - क्रांतिकारी गुट व शांतिप्रिय गुट - स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी। यदि किसी भी गुट का न
18 सितम्बर 2016
18 सितम्बर 2016
जय हिन्द, जय भारत , जय भारतीय पितृ! भारतीयों, हम सबने अपनी आंखों से देखा कि अंग्रेज़ों से पीछा छुड़ाने में भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों ने दो गुटों में - क्रांतिकारी गुट व शांतिप्रिय गुट - स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी। यदि किसी भी गुट का न
18 सितम्बर 2016
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x