नई अर्थक्रांति की शुरुवात है यह सर्जिकल स्ट्राइक

10 नवम्बर 2016   |  जीतेन्द्र कुमार शर्मा   (96 बार पढ़ा जा चुका है)

पीएम नरेंद्र मोदी ने देश में काले धन पर सर्जिकल स्ट्राइक की। देश को संबोधित करते हुए उन्होंने घोषणा की कि आज मध्यरात्रि यानी 8 नवंबर 2016 की रात 12 बजे से वर्तमान में जारी 500 रुपए और एक हजार रुपए के करंसी नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे। यानी ये मुद्राएं कानून अमान्य होंगी। पीएम ने कहा कि हमने काले धन के चोरों के लिए दरवाजे बंद कर दिए हैं। 9 और 10 नवंबर को एटीएम काम नहीं करेंगे। कुछ दिन तक सिर्फ दो हजार एटीएम से निकाले जा सकेंगे। मोदी ने कहा कि देश अब शुचिता की दिवाली मनाए।
इंजीनियरों और चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की इस संस्था ने मोदी को सुझाव दिये थे यह पुणे की इकोनॉमिक एडवाइजरी संस्था है। जिसमें चार्टर्ड अकाउंटेंट्स और इंजीनियर शामिल हैं। अर्थक्रांति प्रपोजल को संस्थान ने पेटेंट कराया है। संस्थान का दावा है कि यह प्रपोजल ब्लैकमनी, मंहगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, रिश्वतखोरी, आतंकियों की फंडिंग रोकने में पूरी तरह कारगर होगा।
फर्स्टपोस्ट की खबर के मुताबिक, करीब डेढ़ साल पहले मेकेनिकल इंजीनियर बोकिल अपने डेलिगेशन के साथ प्रपोजल लेकर राहुल गांधी से मिलने गए थे। लेकिन घंटों सिक्युरिटी चेक के बाद राहुल ने उन्हें सिर्फ 10-15 सेकेंड का वक्त दिया था। ब्लैक कैट कमांडो ने उन्हें प्रपोजल वाली सीडी साथ लेकर जाने की भी इजाजत नहीं दी थी। उन्हें सीडी में ऐसा कोई प्रपोजल नहीं होने का भी शक था। तब राहुल ने सिर्फ इतना कहा था कि प्लीज आप डॉ. मोहन गोपाल से मिल लें, हम पहले इसे देखेंगे। गोपाल राजीव गांधी फाउंडेशन के डायरेक्टर थे।
केंद्र सरकार ने मंगलवार रात 12 बजे से 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए हैं। इनकी जगह आरबीआई ने 500 और 2000 के नए नोट जारी किए हैं। 500 रुपए की बात करें तो यह नोट पहले से काफी अलग होगा। यह ग्रीन कलर का होगा साथ ही पीछे की तरफ लाल किले की फोटो छपी होगी। ये नोट महात्मा गांधी न्यू सीरीज ऑफ नोट्स कहलाएंगे। 2000 रुपए के नोट में होगीमंगलयान की फोटो – 2000 रुपए का नया नोट पिंक यानी गुलाबी कलर का होगा। – पीछे की तरफ मंगलयान की तस्वीर होगी। यह देश के साइंटिफिक अचीवमेंट को बयां करेगी। – इसका साइज भी छोटा होगा।

मोदी सरकार ने मंगलवार आधी रात से मौजूदा 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि अर्थक्रांति संस्थान ने ऐसा प्रपोजल राहुल गांधी, मोदी और बीजेपी नेताओं को दिया था। इस ऑर्गेनाइजेशन का दावा है कि उनके मेंबर अनिल बोकिल ने मोदी के साथ कुछ महीनों पहले मीटिंग की थी। बोकिल को मोदी से मुलाकात के लिए सिर्फ 9 मिनट का वक्त दिया गया था, लेकिन बड़े नोट बंद करने का प्रपोजल जानने के बाद उन्होंने इसमें इंटरेस्ट दिखाया और पूरे 2 घंटे तक चर्चा की। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बोकिल की टीम डेढ़ साल पहले राहुल गांधी से भी मिलने गई थी। राहुल ने टीम को सिर्फ 10 से 15 सेकंड का वक्त दिया था। इसके बाद अर्थक्रांति की टीम ने कुछ बीजेपी नेताओं से भी मुलाकात की थी।
इंजीनियरों और चार्टर्ड अकाउंटेंट्स की इस संस्था ने अपने प्रपोजल में कहा था कि इंपोर्ट ड्यूटी छोड़कर 56 तरह के टैक्स वापस लिए जाएं। बड़ी करेंसी 1000, 500 और 100 रुपए के नोट वापस लिए जाएं। सभी तरह के बड़े ट्रांजेक्शन सिर्फ बैंक से जरिए चेक, डीडी और ऑनलाइन हों। कैश ट्रांजेक्शन के लिए लिमिट फिक्स की जाए। इन पर कोई टैक्स न लगाया जाए। सरकार के रेवेन्यू जमा करने का एक ही बैंक सिस्टम हो। क्रेडिट अमाउंट पर बैंकिंग ट्रांजेक्शन टैक्स (2 से 0.7%) लगाया जाए। फिलहाल देश में 2.7 लाख करोड़ का बैंकिंग ट्रांजेक्शन रोज होता है। सालाना 800 लाख करोड़। सिर्फ 20% ट्रांजेक्शन बैंक के जरिए होता है। बाकी 80% कैश होता है, जिसे ट्रेस नहीं किया जा सकता। देश की 78% आबादी रोज सिर्फ 20 रुपए खर्च करती है। ऐसे में उन्हें 1000 रुपए के नोट की क्या जरूरत। इस संस्थान ने सरकार को दिए प्रपोजल में कहा था कि कैश ट्रांजेक्शन से होने वाला भ्रष्टाचार पूरी तरह खत्म होगा। ब्लैकमनी व्हाइट हो जाएगी या फिर बेकार। 1000 और 500 के नोट कागजी टुकड़े बन जाएंगे। प्रॉपर्टी, जमीन, ज्वेलरी और घर खरीदने में ब्लैकमनी के इस्तेमाल से कीमत बढ़ जाती है। मेहनत से कमाई रकम की वैल्यू घट रही है। इस पर फौरन लगाम लगेगी। कुछ क्राइम जैसे किडनैपिंग, रिश्वतखोरी, सुपारी लेकर मर्डर पर रोक लगेगी। कैश ट्रांजेक्शन के जरिए आतंकवाद की फंडिंग पर रोक लगेगी। कोई भी मंहगी प्रॉपर्टी कैश में खरीदते वक्त रजिस्ट्री में घालमेल नहीं कर पाएगा। जाली नोटों के लेनदेन पर रोक लगेगी।
नौकरीपेशा लोगों के हाथ में ज्यादा पैसा होगा और परिवारों की खरीदारी कैपिसिटी बढ़ेगी। पेट्रोल, डीजल, एफएमसीजी के साथ सभी कमोडिटीज 35 से 52 फीसदी तक सस्सी होंगी। टैक्स भरने का कोई सवाल नहीं होगा तो लोग ब्लैकमनी जमा नहीं कर पाएंगे। बिजनेस सेक्टर में उछाल आएगा और लोगों के पास खुद के रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।
अर्थक्रांति के मुताबिक, सभी चीजों की कीमत घटेगी, नौकरीपेशा लोगों के हाथ में ज्यादा पैसा होेगा।
सोसाइटी की खरीदारी की कैपिसिटी बढ़ेगी। मांग और प्रोडक्शन बढ़ेगा तो कंपनियों में रोजगार बढ़ेगा। बैंकों से आसान और सस्ता लोन मिलेगा। इंटरेस्ट रेट घटेगा। राजनिती में ब्लैकमनी का इस्तेमाल भी बंद होगा। जमीन और प्रॉपर्टी की कीमत कम होगी। व्यापार घाटे को पूरा करने के लिए बीफ एक्पोर्ट की जरूरत नहीं होेगी। रिसर्च और डेव्लपमेंट के लिए पर्याप्त धन मौजूद होगा। आसामाजिक तत्वों पर लगाम कसेगी। पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा मौजूदा 500 रुपए और एक हजार रुपए के करंसी नोट बंद करने की घोषणा के साथ सोशल मीडिया में सेलेब्स ने भी अपने रिएक्शन दिए। सेलेब्स ने सरकार के फैसले का खुले दिल से स्वागत किया है। हालांकि कुछ सेलेब्स ने इस फैसले पर अपने ट्विटर हैंडल पर जोक भी शेयर किए हैं। अमिताभ बच्चन ने कहा पिंक इफेक्ट, परेश रवाल ने शेयर किया ये जोक… – @SunielVShetty जब भी 9/11 आता है हिला डालता है भाई। इस 9/11 कुछ लोग हारेंगे, लेकिन कई लोग शायद जीतेंगे। एक जबरदस्त और बाहदुर निर्णय। –

अगला लेख: भारत में इन महर्षियों ने कर दिए थे हजारों साल पहले अविष्कार



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x