आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x

आपका के दिये हुए #दान से कोई #गलत_कार्य होता हैं तो आप भी उतने ही #पाप के #हकदार हैं जितना पाप करने वाला ।।
सोच #समझ कर दान करना चाहिए।
जरूरत बंध को दान करना ही पूण्य का कार्य हैं ।।
यदि आप बहुत #दानवीर हैं और आप के #भाइयों के गरीबी से #झुंज रहे और आप उनके लिए कुछ नही कर सकते तो आप का दानवीर होना #व्यर्थ हैं।
#मंदिर_मज्जिद या कोई भी जगह आप दान करते हो और आप के #माँ_बाप को #सुख_शांति नही दे सकते तो आप के दिए हुए दान से भगवान कभी भी #खुश नही हो सकते ।।
यदि आप के दान की जरूरत आप के #दुश्मन को हैं तो भी आप उस की मदत जरूर करे क्या मालूम #दुश्मनी ही #ख़त्म हो जाए ।।
#जयश्रीराम #Spurohit


शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
प्रश्नोत्तर
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x