उत्तराखण्ड के CM हरीश रावत ने बाग़ियों के लिए बिछाई ऐसी बिसात कि BJP के उड़े होश

28 जनवरी 2017   |  इंडियासंवाद   (66 बार पढ़ा जा चुका है)

उत्तराखण्ड के CM हरीश रावत ने बाग़ियों के लिए बिछाई ऐसी बिसात कि  BJP के उड़े होश

देहरादून: कांग्रेस के कद्दावर बागी नेताओं को मात देने के लिए उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कई जगहों पर भाजपा के बाग़ियों को टिकट दे दिया तो कहीं कांग्रेस के दिग्गजों को, राजनीति के माहिर हरीश रावत ने राजनीतिक चातुर्यता के साथ कई जगह पर जातीय समीकरणों का खेल खेला है। उत्तराखण्ड में कांग्रेस की बिछाई हुई इस बिसात में अब बाग़ियों की सीटों पर मुक़ाबला बेहद दिलचस्प हो गया है। अब भाजपा ने भी इन सीटों पर कांग्रेस की रणनीति को नाकाम करने के लिए व्यूह तैयार कर लिया है।

दरअसल, भाजपा ने कांग्रेस से बाग़ी हुए सीएम हरीश रावत के बेहद ख़ास रहे पूर्व मंत्री हरक सिंह को कोटद्वार से टिकट दिया है, जहां पर सरकार में मंत्री सुरेंद्र सिंह नेगी को कांग्रेस ने उतारा है। ग़ौरतलब है कि उत्तराखण्ड में हरक सिंह 18 मार्च के सियासी घटनाक्रम के बाद से सीएम हरीश रावत के निशाने पर हैं। हरक को मात देने के लिए वहां भाजपा के बागी शैलेंद्र रावत को कांग्रेस ने अपने साथ ले लिया है। धुर विरोधी रहे शैलेंद्र और सुरेंद्र सिंह अब एक पार्टी में होने से हाथ के साथ गले भी मिल चुके हैं। शैलेंद्र यमकेश्वर से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं। ऐसे में भाजपा ने इस सीट समेत प्रभावित होने वाली सीटों पर पूर्व सीएम बीसी खंडूड़ी के प्रभाव को इस्तेमाल करने की रणनीति बनाई है। इसकी काट के लिए कांग्रेस ने केदारनाथ विधानसभा में बगावत कर भाजपा में पहुंची शैलारानी रावत के खिलाफ नया चेहरा मनोज रावत उतारा है।

वोट बैंक की ठकुरैसी सियासत

संभावना जताई जा रही थी कि इस सीट से कांग्रेस अपना प्रत्याशी भाजपा की पूर्व विधायक आशा नौटियाल को बना सकती है। कांग्रेस ने ठाकुर वोट बैंक की सियासत के तहत शैला के खिलाफ मनोज को उतारा है, जिससे नौटियाल बतौर निर्दलीय अगर भाजपा और ब्राह्मण वोट बैंक पर सेंध मारें तो उससे शैला के समीकरण बिगड़ जाएं। रुड़की में कांग्रेस ने बागी बनाम बागी का फार्मूला अपनाया है।

प्रदीप बत्रा के भाजपा में शामिल होने के बाद कांग्रेस से बागी सुरेश चंद जैन के उतरने से दोनों दलों में खलबली है। नरेंद्रनगर विधानसभा में भी केदारनाथ की तरह जातीय समीकरणों का गणित कांग्रेस ने खेला है। बागी सुबोध उनियाल के खिलाफ ब्राह्मण प्रत्याशी हिमांशु बिजल्वाण को उतार दिया है। ऐसे में भाजपा के ठाकुर वोट बैंक पर भाजपा बागी ओम गोपाल रावत सेंधमारी कर उनियाल को नुकसान पहुंचा सकते हैं।


ताज़ा बाग़ी प्रकरण में यशपाल आर्य के खिलाफ सिख और दलित चेहरा उतारने के साथ सीएम हरीश रावत के बगल की सीट से उतरने का दबाव बनेगा, जिसके जवाब में भाजपा अब पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, भगत सिंह कोश्यारी और आर्य की संयुक्त टीम उतार रही है। रायपुर से बागी उमेश शर्मा काऊ के खिलाफ कांग्रेस ने लंबी माथापच्ची के बाद पूर्व ब्लॉक प्रमुख प्रभुलाल बहुगुणा को प्रत्याशी बनाया है, जिनसे पहाड़ी मूल के मतदाताओं के साथ पुराना अनुभव माना जा रहा है। जसपुर सीट से शैलेंद्र मोहन सिंघल के खिलाफ आदेश चौहान को प्रत्याशी बनाया है। सितारगंज सीट से पूर्व सीएम विजय बहुगुणा के बेटे सौरभ के खिलाफ कांग्रेस ने बंगाली मतदाता का कार्ड खेला है। सितारगंज में बंगाली मतदाता जीत हार के समीकरणों को भी तय करते हैं।

भाजपा का काउंटर प्लान

भाजपा ने जीत का दांव खेलकर कांग्रेस के जिन दर्जन भर बागी नेताओं को अपने पाले में लिया, उनको लेकर सीएम रावत की रणनीति का तोड़ भाजपा तलाश रही है। भाजपा में कांग्रेस से पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, हरक सिंह, सुबोध उनियाल, शैलेंद्र मोहन सिंघल, प्रदीप बत्रा, उमेश काऊ, कुंवर प्रणव, अमृता रावत, शैलारानी रावत, रेखा आर्य और यशपाल आर्य बीते 10 माह में शामिल हुए हैं।

इन नेताओं की विधानसभा सीटों पर भाजपा को दोहरी चुनौती झेलनी पड़ी है। एक तो उनके आने से भाजपा के दावेदार नाराज हैं, दूसरा सीएम हरीश रावत ने इन सीटों को लेकर विशेष रणनीति बनाई है। भाजपा ने कांग्रेस के बागियों की राह आसान करने के लिए डैमेज कंट्रोल टीमें उनके क्षेत्रों में लगा दी हैं। पार्टी के अंदर पनपे असंतोष और बागियों के समर्थन में पार्टी कैडर को लाने के लिए ताकत झोंक दी है। हर बागी के साथ पार्टी का प्रदेश स्तरीय नेता लगा दिया है, जिससे कैडर उनसे जुड़ा हुआ महसूस करे।

उत्तराखण्ड के CM हरीश रावत ने बाग़ियों के लिए बिछाई ऐसी बिसात कि BJP के उड़े होश

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/states/bjp-get-shocked-after-knowing-cm-harish-rawat-plan-20737#.WIyjJbOCEMM.facebook

उत्तराखण्ड के CM हरीश रावत ने बाग़ियों के लिए बिछाई ऐसी बिसात कि  BJP के उड़े होश

अगला लेख: ममता बनर्जी को कोर्ट ने लगाई फटकार, संघ की रैली रोकने के आदेश को पलटा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
14 जनवरी 2017
लंदन: भारत में लोगबाग भले ही कड़ाके की सर्दी से परेशान हैं लेकिन युरोपीय देशों में इतनी जबर्दस्त सर्दी पड़ रही है कि पूछिए मत ... इन दिनो देश का तापमान माइंस में चला गया है और यह कितना जानलेवा है इसको बयां करने के लिए एक तस्वीर सामने आई है. इस तस्वीर में एक लोमड़ी की जो ब
14 जनवरी 2017
14 जनवरी 2017
नई दिल्ली : पिछले कुछ दिनों में पीएम मोदी अपने अधिकारियो के लापरवाह रुख को लेकर नाराज हो गए और प्रेजेंटेशन को बीच में छोड़कर चले गए. पीएम मोदी ने अधिकारियों को लताड़ लगता हुए कहा इस तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी. जाइए अपने काम पर और मेहनत करे और फिर से प्रेजेंटेस
14 जनवरी 2017
14 जनवरी 2017
झाबुआ : एक बेटा एएसआई है तो दूसरा प्रधान आरक्षक. फिर भी ऐसे निर्दयी कि बूढ़ी मां संभाल सकें. अपनी मां को पैरों में बेडिय़ां डालकर पलंग से बांध दिया. कड़ाके की ठंड में बूढ़ी मां भूखी-प्यासी घर के बाहर बरामदे में एक शेड में पड़ी रहती पर उन्हें दया नहीं आती. एसपी को जानकार
14 जनवरी 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x