Exclusive : अमर बने विभीषण, मुलायम के विरोधियों से मिलकर सपा को ढहाने में लगे

11 फरवरी 2017   |  इंडियासंवाद   (59 बार पढ़ा जा चुका है)

Exclusive : अमर बने विभीषण, मुलायम के विरोधियों से मिलकर सपा को ढहाने में लगे

लखनऊ : यूपी में समाजवादी पार्टी कुनबे में अहम् रोल अदा करने वाले और मुलायम के दाहिने हाथ समझे जाने वाले राज्यसभा सांसद अमर सिंह अब उसी खेमे से बगावत करने पर उतर आये हैं, जिसके साथ वह कंधे से कंधा मिलकर कभी बड़ी शान समझते थे. लेकिन जब से सीएम अखिलेश ने उनके पर कतरे हैं तब से वह सत्ता के गलियारे में तो अपना ठौर ठिकाना ढूंढ ही रहे हैं. साथ ही मुलायम कुनबे की बखियां उड़ाते नजर आ रहे हैं.

सपा की बखियां उखाड़ते नजर आये अमर

सूत्रों के मुताबिक अमर सिंह सपा से अपना पत्ता साफ होते देख अब अपना ठौर ठिकाना दूसरी राजनीति क पार्टी में ढूंढ रहे हैं. यही नहीं पिछले दिनों अखिलेश ने जब उनके निकले परों पर अपनी कैंची चलायी तो वह तिलमिला उठे. और तो और वह इतने मधुर स्वर मुलायम के हितैषी बनकर बोलने लगे जैसे नेताजी के लिए वह कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं, लेकिन अब वही अमर सिंह सपा कुनबे से अलग होने के बाद उसी सपा पार्टी की बखियां उखाड़ते दिख रहे हैं, जिसको कभी वह अपनी पार्टी समझते थे.

अमर ने की आज़म को वोट न देने की अपील

हाल में एक एक टी वी चैनल को दिए इंटरव्यू में अमर सिंह ने अपने बयानों की ऐसी झड़ी लगा दी है कि सपा के दिग्गज और बाहुबली नेता आज़म खान की नींद उसको सुनने के बाद हराम हो जाएगी. बताया जाता है कि चैनल को दिए गए इंटरव्यू में अमर सिंह ने आजमखान को देश द्रोही बताते हुए आम जनता से हाथ जोड़कर अपील की है कि वे समाजवादी पार्टी से लड़ रहे नेता आज़म खान को किसी भी दशा में वोट न दे. ज्ञात हो कि आजम खान ने कुछ दिन पूर्व जयाप्रदा को नाचने वाली और अमर सिंह को दलाल कहा था.


अमर सिंह का खुलासा

अमर सिंह ने समाजवादी पार्टी में चल रही अंतर्कलह के बाद चुनाओ आयोग द्वारा अखिलेश को साईकिल चुनाव चिन्ह दिए जाने का पर्दा भी फाश कर दिया. अमर सिंह ने बताया कि मुलायम सिंह ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर दिया था कि साईकिल चुनाव चिन्ह अखिलेश को दे दें. चुनाव आयोग ने उनके प्रस्ताव को स्वीकार करके ही अखिलेश को साईकिल चुनाव चिन्ह दिया था. अमर सिंह ने यह भी बताया कि अंतिम सुनवाई के दिन मुलायम सिंह ने उन्हें चुनाव आयोग ऑफिस जाने से भी रोक दिया था.

भतीजे को अंकल नहीं कह सकता

अमर सिंह से यह पूछने पर की आप तो मुलायम परिवार के करीबी थे तो आपने परिवार में सुलह कराने का प्रयास क्यों नहीं किया. अमर सिंह ने बड़ी बेबाकी से बताया कि मैं स्वंम उसमे एक पार्टी था. इस कारण मैं सुलह नहीं करा सकता था. यह पूछे जाने पर कि आप तो अखिलेश के अंकल थे, अमर सिंह बोले कि देश की जनता आज अखिलेश को अंकल अंकल कह कर पुकारती है तो मैं क्या! हाँ मैं उन्हें अंकल नहीं कह सकता हूँ. रिपोर्ट : अतुल कुमार

Exclusive : अमर बने विभीषण, मुलायम के विरोधियों से मिलकर सपा को ढहाने में लगे

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/othertopstories/sp-engaged-in-demolishing-opponents-consisting-of-amar-21195#.WJ3WXpHS8f0.facebook

Exclusive : अमर बने विभीषण, मुलायम के विरोधियों से मिलकर सपा को ढहाने में लगे

अगला लेख: दिल्ली के वसंत कुंज में मोर्टार शेल मिलने से मचा हड़कंप, NSG की टीम को मौके पर बुलाया गया



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
28 जनवरी 2017
नई दिल्ली : अमेरिका की सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी सीआईए ने हालही में 9,30000 गोपनीय दस्तावेज या 1.2 करोड़ पेज के दस्तावेज ऑनलाइन सार्वजानिक किये हैं। इन दस्तावेजों के जरिये कई सनसनीखेज खुलासे हो रहे हैं। इन दस्तावेजों में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान को परमाणु बम
28 जनवरी 2017
28 जनवरी 2017
देहरादून: 7 बार से विधायक हैं पर रहने को एक घर तक नहीं, यक़ीन करना भले ही मुश्किल हो लेकिन सच तो यही कि इन विधायक साहब के पास न तो घर है और न ही कोई अचल संपत्ति, जी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में वर्ष 1989 से लगातार सात बार विधायक रहे भाजपा नेता हरबंस कपूर के नाम अपना मकान
28 जनवरी 2017
28 जनवरी 2017
लखनऊः टिकट न मिलने पर भाजपा के बागी नेताओं का गुस्सा बढ़ गया है। अब वे सड़क पर उतर गए हैं। बागी नेताओं ने प्रदेश कार्यालय को ही अपना निशाना बना लिया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आने से पहले प्रदेश कार्यालय के दोनों गेटों पर उन
28 जनवरी 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x