तुम्हारा मौन

16 फरवरी 2017   |  रेणु   (224 बार पढ़ा जा चुका है)

 तुम्हारा   मौन

असह्य हो चुका है तुम्हारा

- ये विचित्र मौन ;

विरक्त हो जाना तुम्हारा -

रंग , गंध और स्पर्श के प्रति ;

अनासक्त हो जाना - अप्रतिम सौन्दर्य के प्रति |

भावहीन हो बैठ उपेक्षा करना -

संगीत की मधुर स्वर लहरियों की ! !

स्वयं से रूठना और कैद हो जाना -

मन की ऊँची दीवारों के बीच-

नहीं है जीवन -----|

उठो ! खोल दो मन के द्वार !

सुनो गौरैया की चहचहाहट और -

भँवरे की गुनगुनाहट में उल्लास का शंखनाद ! !

देखो बसंत आ गया है ---,

निहारो रंगों को महसूस करो गंध को -

जो उन्मुक्त पवन फैला रही है हर दिशा में -

हर कोने में !

स्पर्श करो सौदर्य को -

जिसमे निहित है जीवन की सार्थकता !

उठो कि स्पंदन से भरी एक मानव देह हो तुम हो -

कोई निष्प्राण प्रतिमा नहीं !

तुम्हारे लिए ही बने है ;

रंग , गंघ , सौन्दर्य और संगीत

क्योंकि तुम्ही निमित्त हो - संसार में नवजीवन के ------ ! ! !

अगला लेख: जी , टी . रोड पर अँधेरी रात का सफ़र ---



वाह्हहहहहहह दीदी बहुत ही उत्तम रचना है,

रेणु
18 जून 2017

सस्नेह आभार हेम ---

अन्तर्चेतना को झंकृत करती आशावादी रचना........ अप्रतिम

रेणु
18 जून 2017

आदरणीय त्रिपाठी जी ----- हार्दिक आभार आपका कि आपने रचना को पढ़ा और उत्साहवर्धन किया ----

उज्जवल भविष्य के लिए मंगल कामना

रेणु
04 मार्च 2017

पंकज जी -- उत्साहवर्धन के लिए बहुत शुक्रिया

मौन का शंखनाद और निष्प्राण प्रतिमा वाह वाह और वाह आदरणीया, छू गई रचना मन को

रेणु
27 फरवरी 2017

आभार मिश्रा जी

रश्मि प्रभा
25 फरवरी 2017

स्नेहिल हौसले भरे शब्दों में गजब का आह्वान है

रेणु
25 फरवरी 2017

आपने छोटी सी कोशिश को सराहा रश्मि जी -- मैं खुद को बहुत भाग्यशाली समझ रहीहूं -- आपका बहुत धन्यवाद -- सादर्र रेणु

कृपया अपने परिचय मे housewife के साथ साथ प्रतिभावान लेखिका भी जोड़ लें । बहुत खूब

रेणु
19 फरवरी 2017

बाउट आभार प्रियंका जी

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x