ये दलहनी फसलें कम समय में तैयार होंगी और रोग मुक्त भी, आईआईपीआर कानपुर ने विकसित की नई प्रजातियां - फार्मर्स कनेक्शन

17 फरवरी 2017   |  प्रशांत कटियार   (89 बार पढ़ा जा चुका है)

ये दलहनी फसलें कम समय में तैयार होंगी और रोग मुक्त भी, आईआईपीआर कानपुर ने विकसित की नई प्रजातियां - फार्मर्स कनेक्शन

भारतीय दलहन अनुसन्धान संस्थान (आईआईपीआर) के कृषि वै ज्ञान िकों ने दलहनी फसलों की ऐसी प्रजातियां विकसित की हैं जिसमे न रोग लगेगा और न ही पकने में ज्यादा समय। जिससे किसान अब मटर, चना और मसूर की रोगमुक्त फसल पैदा कर सकेंगे। इन नई प्रजातियों के तैयार होने से दलहनी फसलें तीन से चार माह में पाक जाएँगी और रोगमुक्त भी रहेगीं। नई प्रजातियों से इन फसलों का उत्पादन पांच से आठ टन बढ़ाया जा सकता है। मूंग चितकबरा रोग से और मसूर फंगस से मुक्त रहेगी।

विकसित की गई नई प्रजातियां:-
मटर:- आईपीएफडी ०६-०३, आईपीएफडी १०-१२ (१२० अब १०९ दिन में तैयार) एवं आईपीएफडी ११-१५, आईपीएफडी१२-२

मूंग:-आईपीएम २०५, आईपीएम ४१०-३ ( पहले ७० से ८० दिन अब ५२ से ५५ दिन में तैयार)

चना:- आईपीसी २००५-६२ (पहले १३० दिन अब १२० दिन), आईपीसी २००६-७७ आईपीसी २००४-०१ व आईपीसी२००४-९८ (पहले १२० दिन अब ११२ से ११५ दिन में )

मसूर:- आईपीएल ५२६, आईपीए ३१६,

अरहर:- आईपीए २०३

ये दलहनी फसलें कम समय में तैयार होंगी और रोग मुक्त भी, आईआईपीआर कानपुर ने विकसित की नई प्रजातियां - फार्मर्स कनेक्शन

http://www.farmersconnection.in/iipr-kanpur-develop-new-crop-of-pulses



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x