देख लीजिए कैसे चर्च के हाथो की कठपुतली थी जय ललिता ! सोनिया गाँधी के साथ मिलकर करती थी काम

19 फरवरी 2017   |  रोमिश ओमर   (216 बार पढ़ा जा चुका है)

देख लीजिए कैसे चर्च के हाथो की कठपुतली थी जय ललिता ! सोनिया गाँधी के साथ मिलकर करती थी काम

क्या आप जानते है कुछ दिनों से हमारे देश में एक अभियान चल रहा है शंकराचार्य के मठ पर सरकार कब्ज़ा करने जा रही है, कांचीपुरम शंकराचार्य जी के मठ पर सरकार कब्ज़ा करने की पूरी तैयारी कर चुकी है, इसके लिये उनके ऊपर चार्जेस लगाये गए है उनके खिलाफ 2000 पेज की चार्जशीत फाइल की गई है राजीव भाई शंकराचार्य जी के मठ में पिछले 6 साल से जाते थे, और उनकी सभी गतिविधियों में बहुत नजदीक से शामिल थे, शंकराचार्य जी का जो मठ है कांचीपुरम में उसको एक साल में 5000 करोड़ डोनेशन आता है, जी हा 5000 करोड़। एक बार राजीव भाई ने शंकराचार्य जी को पूछा कि इस डोनेशन का ज्यादा कहा पर प्रयोग होता है, तो उन्होंने बताया कि मै इस पैसे का सबसे ज्यादा उन गाँव में प्रयोग करता हूँ जहा पर गरीब हिन्दू इसाई बन गए है। शंकराचार्य जी दक्षिण भारत के गाँव में जो इसाई बने हुए हिन्दू है उनको वापस हिन्दू बनाने में उनका सारा पैसा खर्च होता है। हर साल 5000 करोड़ वो इस काम में खर्च करते है

सारी जानकारी लिख पाना असंभव है ये विडियो देखिए >>

राजीव भाई ने एक बार शंकराचार्य जी को कहा कि ये तो बहुत बड़ी रकम है जो आप खर्च कर रहे है तो शंकराचार्य जी ने कहा कि राजीव भाई आपको मालूम है लोगो को इसाई बनाने के लिये हर साल 18000 करोड़ खर्च हो रहा है, मै तो उनको एक तिहाई भी खर्च नहीं कर रहा हूँ।

अब आप सोच रहे होंगे कि वो करते क्या है तो वो गरीब आदिवासी के लिये निशुल्क स्कूल चलाते है, और उन स्कूल में भर्ती होने पर उनको फिर से हिन्दू बनाते है, उनके लिये स्कूल के सभी खर्चे करते है, जैसे किताब, कॉपी, पेन्सिल, खाना पीना, कपडे । फीस भी वही भरते है, रहने के लिये हॉस्टल का खर्च भी शंकराचार्य जी का मठ करता है। और ऐसे उनके करीब 170 स्कूल तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश में चलते है जिनकी संख्या धीरे धीरे वो बढ़ा रहे है। उनके बहुत से हॉस्पिटल चलते है जहा पर गरीब आदिवासियों को निशुल्क चकित्सा दी जाती है ।

आप इस पोस्ट को ऑडियो में भी सुन सकते है >

दोस्तों उस वक़्त की कांग्रेस की सरकार चाहती थी कि ये सब बंद हो जाये क्योकि Christian Institutes को ये बर्दास्त नहीं, क्योकि शंकराचार्य जी उनके सामने खड़े है, अब आर-पार की लड़ाई हो रही है Christian Institutions का असर भारत में उसी दिन बढ़ाना शुरू हो गया था जिस दिन सोनिया गाँधी इस देश की सुपर प्राइम मिनिस्टर बनी थी। शंकराचार्य के इन कार्यो को रोकने के लिये तरह तरह से कोशिस चल रही है, एक तो सीधे सीधे उनके ऊपर चार्ज लगाओ और उनको जेल में डालो, चार्ज अप्रूव नहीं हुआ फिर में जेल में डालो। और जिनके ऊपर चार्ज अप्रूव हो गए है उनको केबीनेट मिनिस्टर बनाकर बिठाओ। सिभु सोरेन ने 78 मर्डर किये है, 78 मुसलमानों को झारखण्ड में जिन्दा जला दिया था। सबुत है अपराध सिद्ध हुआ है, चार्ज भी प्रूव हुए है, लेकिन वो आजतक छुटा हुआ है क्योकि सरकार में मंत्री बनकर बैठा है और अगर सरकार उसे अरेस्ट करे तो केंद्र की सरकार गिरेगी तो सिभु सोरेन को मंत्री बनाओ और उसको सुरक्षा दो, ये सरकार कर रही है और शंकराचार्य जी जिनका अपराध अभी सिद्ध नहीं हुआ उनको जेल में भेजो, और पुरे देश में बदनामी करवाओ और टीवी वालो को भी पैसा देकर कई महीनो तक दिखवा, आजकल चले रहे लगभग सभी चैनल अमरीका या दुसरे देशो के है जिन्होंने 3 महीनो तक शंकराचार्य जी को बदनाम किया। सत्य बिलकुल उसके विपरीत है। शंकराचार्य जी के ऊपर एक भी चार्ज प्रूव नहीं होगा जब मामला सुप्रीम कोर्ट में जायेगा । सुप्रीम कोर्ट ने अभी अभी आर्डर दिया है कि तमिलनाडु में कोई निष्पक्ष न्याय नहीं मिलेगा एसलिये सभी मामले कर्नाटक में भेजे जाए, ये आर्डर आते ही जय ललिता को मिर्ची लग गई और वो परेशान हो गई, क्योकि उसे मालूम है कि किसी और अदालत में ये सिद्ध नहीं होगा। एक दिन सुप्रीम कोर्ट में शंकराचार्य जी का बेल एप्लीकेशन गया और उसी दिन स्वीकार हो गया और हाई कोर्ट ने बेल एप्लीकेशन रिजेक्ट कर दी थी क्योकि हाई कोर्ट जय ललिता के कण्ट्रोल में है, जय ललिता सोनिया गाँधी के कण्ट्रोल में है और सोनिया गाँधी चर्च के कण्ट्रोल में है। भाई राजीव दीक्षित जी का ये व्याख्यान कांग्रेस सरकार के समय का है इस केस में शंकराचार्य जी पर कोई चर्ज प्रूव नहीं हुआ।

10 साल कैद के बाद कोर्ट ने टिप्पणी की थी कि शंकराचार्य जी पर प्रथम दृष्टया मामला बनता ही नहीं था. प्रश्न वहीं है 10 साल 10 साल क्यों लगा और इसकी भरपाई कैसे हो पाएगी.

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो जन-जागरण के लिए इसे अपने Whatsapp और Facebook पर शेयर करें
देख लीजिए कैसे चर्च के हाथो की कठपुतली थी जय ललिता ! सोनिया गाँधी के साथ मिलकर करती थी काम

http://rajivdixitji.com/2016/04/jai-lalita-and-sonia-gandhi-control-by-christians-mother-teresa/

अगला लेख: भविष्य_में_हिन्दुओ_का_अस्तित्व_कैसे_समाप्त_होगा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
08 फरवरी 2017
स्वामी विवेकानंद अद्भुत व्यक्तित्व के स्वामी थे इसमें कोई शक नहीं। पर एक विद्वान्, दार्शनिक, प्रभावशाली वक्ता होने के अलावा उनकी एक और सबसे खास बात थी उनकी स्मरण शक्ति। उनमें फोटोग्राफिक (चित्रित स्वरूप में चीजों को संजोना) स्मरण शक्ति थी, जिसके कारण केवल एक बार पढ़कर वो क
08 फरवरी 2017
14 फरवरी 2017
◆एक मुसलमान लड़का भीख मांगने मेरे पास आया जिसकी उम्र करीब 12 साल थी। उसने कहा साहब अल्लाह के नाम पर कुछ दे दो।मैने कहा मैं इस्लाम को नहीं मानता इसलिये तुम्हे अल्लाह के नाम पर कुछ नहीं दे सकता।फिर उसने कहा अजमेर शरीफ या पीर दरगाह के नाम पर दे दो।मैने कहा उन में भी मेरी कोई आस्था नही है।इतना सुनते ही
14 फरवरी 2017
15 फरवरी 2017
मामला अम्बेडकर नगर जिले के अलीगंज थाने से जुड़ा है. इस थाने पर तैनात दरोगा रविन्द्र प्रताप सिंह खुलेआम घूस लेने की बात स्वीकार करते हुए कैमरे में कैद हुआ है. उत्तर प्रदेश पुलिस का बेशर्म चेहरा एक बार फिर सामने आया है. मामला अम्बेडकर नगर जिले के अलीगंज थाने से जुड़ा है. इस थाने पर तैनात दरोगा रविन्द्र
15 फरवरी 2017
16 फरवरी 2017
हिन्दुओ और मंदिरो से टेक्स लेकर , मस्जिद , मदरसों , चर्च पर खर्च कर रही है कर्नाटक सरकारइस देश में केवल हिद्नुओ का ही हो रहा है दमन, हिन्दुओ दो ही लूट जाता है और बाद में हिन्दू को ही असहिष्णु भी बता दिया जाता है सेकुलरिज्म नामक इ जो राक्षस हो ये हिदुओ का खून ऐसे चूस रहे
16 फरवरी 2017
26 फरवरी 2017
कु
loading...केवल वेद ही मनुष्य को मनुष्य बनना सिखाते है, अन्य मजहबी किताबें मनुष्य को मनुष्य बनना नहीं सिखातीये हमारा कहना नहीं बल्कि ये कहना है मेरठ के बरवाला की बड़ी मस्जिद के पूर्व इमाम काजो अब उच्च पंडित महेन्द्र पाल आर्य के नाम से जाने जाते हैबता दें की महेन्द्र पाल आर्
26 फरवरी 2017
03 मार्च 2017
“Indian” शब्द का अर्थ है हरामी संतान:आपने पढ़ा होगा अंग्रेजोँ के समय मेँ सिनेमाघरोँ और कई सार्वजनिक जगहोँ पर “Dogs and Indians are not allowed” का बोर्ड लगा रहता था इसी से आप समझ सकते हैँ अंग्रेज के लिये इंडियन्स की क्या वैल्यू थी।लेकिन यदि आप ऑक्सफ़ोर्ड की पुरानी डिक्शन
03 मार्च 2017
09 फरवरी 2017
ओ३म्*मर्यादा पुरुषोत्तम-श्रीराम**श्री राम स्थितप्रज्ञ थे―*संसार में हम देखते हैं कि जब कभी हमारी इच्छापूर्ति में कोई छोटा मोटा भी आघात उपस्थित करता है, तो हम उसके प्रति कुपित ही नहीं प्रत्युत मरने-मारने को भी तैयार हो जाते हैं। किन्तु श्रीराम असाधारण योगीसम स्थिरप्रज्ञ थे जो बड़े से बड़े कष्ट के समय भ
09 फरवरी 2017
21 फरवरी 2017
मनु स्मृति-इन 15 लोगों के साथ कभी वाद-विवाद नहीं करना चाहिए.....!!-⬇⬇⬇⬇⬇श्लोक--ऋत्विक्पुरोहिताचार्यैर्मातुलातिथिसंश्रितैः।बालवृद्धातुरैर्वैधैर्ज्ञातिसम्बन्धिबांन्धवैः।।मातापितृभ्यां यामीभिर्भ्रात्रा पुत्रेण भार्यया।दुहित्रा दासवर्गेण विवादं न समाचरेत्।।---अथार्त-⬇-1⃣ यज्ञ करने वाले,2⃣ पुरोहित,3⃣ आचा
21 फरवरी 2017
08 फरवरी 2017
पाकिस्तान के नष्ट होने और उसके द्वारा महाविनाशकारी परमाणु अस्त्रों के प्रयोग की भविष्यवाणी मेदनी ज्योतिष द्वारा गणना करके मेरे द्वारा जब वर्ष 2012 में पहली बार की गई थी तब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी अत: मेरी इस भविष्यवाणी की बहुत आलोचना की गयी थी किन्तु काल के प्रवाह
08 फरवरी 2017
09 फरवरी 2017
गर्व करने योग्य नाम हिंदू या आर्य ??जब कोई जाति अपने देश की नाम, संस्कृति, गौरवपूर्ण इतिहास को भूलकर अन्य विदेशी आक्रमणकारीयों के द्वारा दिया नाम और कुसंस्कृति को अपना लेती है । तो उसका स्वाभिमान नष्ट हो जाता है । इसी विषय पर ये लेख प्रस्तुत है कि हमारा प्राचीन नाम क्या था और वर्तमान में हम किस गुला
09 फरवरी 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x