इस 9वी क्लास के लड़के ने बदल दी उत्तराखण्ड के गांव की तस्वीर...

25 फरवरी 2017   |  इंडियासंवाद   (67 बार पढ़ा जा चुका है)

इस 9वी क्लास के लड़के ने बदल दी उत्तराखण्ड के गांव की तस्वीर...

देहरादून: नौवी कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र ने ऐसे कारनामे को अंजाम दिया कि पूरा गांव ही दंग रह गया। उत्तराखण्ड के छोटे से गाँव पथरौली में रहने वाले राहुल चंद्र बड़ ने अपने गांव में एक पुस्तकालय खोला है। जिसके बाद हर कोई उस लड़के का मुरीद हो गया।

पिथौरागढ़ ज़िले के देवलथल क्षेत्र से लगभग तीन किमी दूर पथरौली गांव में हुई है। इसमें छात्र का जनप्रतिनिधि और ग्रामीणों ने भी सहयोग किया है। पथरौली गांव के रहने वाले राहुल चंद्र बड़ राजकीय इंटर कॉलेज देवलथल के कक्षा नौवीं के छात्र हैं। राहुल चंद्र बड़ की पहल पर गांव में एक पुस्तकालय स्थापित किया गया। पुस्तकालय के लिए ग्राम प्रधान के भाई जगदीश चंद्र बड़ ने कमरा और फर्नीचर उपलब्ध करवाया है। पुस्तकालय के लिए अभी किसी भी प्रकार का कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है। इसे सुचारु रूप से चलाने के लिए छात्रों की समिति का भी गठन किया गया है। जिसका अध्यक्ष राहुल को ही बनाया गया।


राहुल चंद्र बड़ ने कहा कि गांव में आजकल पढ़ने का माहौल कम होता जा रहा है। इसी कारण मेरे मन में गांव में पुस्तकालय खोलने का विचार आया। जब गांव में प्रधान और अन्य लोगों से बातचीत की तो उन्होंने सहयोग किया। गांव में पुस्तकालय खुलने से ग्रामीणों और विद्यार्थियों में साहित्य के प्रति रुचि पैदा होने के साथ ही गांव में रचनात्मक गतिविधियां बढ़ने की भी उम्मीद है।

आलम यह है कि राहुल सें प्रेरित होकर उसैल गांव में नौंवी के ही श्वेता पांडे और विजय पांडे ने एक और पुस्तकालय की शुरुआत कर दी है। जिसमें गांव के बुजुर्गों ने सहयोग किया है। उन्होंने बताया कि छात्र राहुल विद्यालय में होने वाली कई रचनात्मक गतिविधियों से जुड़ा है। पढ़ाई में अव्वल होने के साथ ही राहुल अच्छा वक्ता भी है।

इस 9वी क्लास के लड़के ने बदल दी उत्तराखण्ड के गांव की तस्वीर...

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/states/library-is-opened-in-uttarakhand-by-ninth-class-student-21647

इस 9वी क्लास के लड़के ने बदल दी उत्तराखण्ड के गांव की तस्वीर...

अगला लेख: संसद में कानून पास हो गया लेकिन इसे लागू होने में लग जाता है इतना वक़्त, पढ़िए !



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 फरवरी 2017
नई दिल्ली : एक विचार मंच विधि सेंटर फॉर लीगल पॉलिसी की एक रिपोर्ट के अनुसार संसदीय कानून को अस्तित्व में आने में औसतन 261 दिनों का समय लगता है। इस रिपोर्ट में वर्ष 2006 से वर्ष 2015 के बीच संसद द्वारा पारित 44 कानूनों का विश्लेषण किया गया है। कानून पर राष्ट्रपति की सहमति
11 फरवरी 2017
11 फरवरी 2017
चंडीगड़ : सोशल मुद्दों को अपने गानों के जरिए समाज के सामने रखने वाले गुरदास मान एक बार फिर चर्चा में हैं. उनके वीरवार शाम को पंजाब के मुद्दों को लेकर जारी हुए गाने 'केहड़ा केहड़ा दुख दस्सां मैं पंजाब दा, फुल मुरझाया पेया है पंजाब दा, ने सोशल मीडिया पर जबरदस्त बहस छेड़ दी
11 फरवरी 2017
11 फरवरी 2017
जेवर : जेवर में चुनावी रैली के दौरान एक मुसलमान से मैंने पूछा कि राजनाथ सिंह के भाषण में कुछ अच्छा लगा? उसने बड़ी साफगोई से कहा, हमने सुना था ये लोग मुसलमानों को देश से भगाने की बात कर रहे हैं, ऐसा तो कुछ नहीं लगा। फिर ये पूछने पर कि बीजेपी को वोट दोगे क्या, उसने कहा, वोट
11 फरवरी 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x