पीयूष गोयल ने बनाये 600 केरिकेचर्स

28 फरवरी 2017   |  मिताली गोयल   (108 बार पढ़ा जा चुका है)

पीयूष गोयल ने बनाये 600 केरिकेचर्स

पीयूष गोयल अपनी धुन के पक्के हमेशा कुछ ना कुछ नया करते रहना उनकी फ़ितरत हैं. इसी के चलते पीयूष गोयल ने दुनिया की पहली मिरर इमेज किताब"श्री मदभगवदगीता" के सभी 18 अध्याय 700 श्लोक हिन्दी व अंग्रेजी दोनो भाषाओ में लिख चुके हैं कुछ समय पहले पीयूष ने सुईं से भी किताब लिखी हैं,ऐसा दुनिया में अभी तक नही हुआ हैं "दुनिया की पहली सुईं से लिखी "मधुशाला"(हरबंस राय बच्चन कृत) .


पीयूष 2000 से कुछ न कुछ लिखते आ रहे हैं श्रीमदभगवदगीता(हिन्दी व अँग्रेज़ी),श्री दुर्गा सप्त सत्ती (संस्कृत भाषा),श्रीसाई सतचरित्र(हिन्दी व अँग्रेज़ी),श्री सुंदरकांड(दो बार),चालीसा संग्रह,सुईं से मधुशाला,मेहन्दी से गीतांजलि(रबींद्र नाथ कृत),कील से "पीयूष वाणी"(पीयूष गोयल कृत),व कार्बन पेपर से "पंच तंत्र"(विष्णु शर्मा कृत),रामचरित्र मानस(दोहा,सोरठा,और चोपाई) (तुलसीदास कृत).


अभी हाल ही में पीयूष ने एक और कारनामा किया हैं उन्होने करीब दो महीनो में 36*23 इंच के पेपर पर 600 लोगो केकरिकचर्स बनाएे हैं जिनमे(नरेंद्रमोदी,अमितशाहा,अमिताभ,कपिलदेव,सचिन,राहुल गाँधी,सोनिया गाँधी,दिग्विजय सिंह,अटल जी,मनमोहन जी,चंद्रशेखर जी,मुकेश अंबानी,मायावती,मदर टेरेसा,मुलायम सिंह गुजराल जी,सुब्रहामनयम आदि )

पीयूष ने बताया की ईश्वर साथ दे और कुछ नया करने की लग्न हैं व्यक्ति अपने आप को बहुत उँचाइयों तक ले जा सकता हैं ​अंत में पीयूष ने अपने लिखे वाक्य से एक बहुत ही अच्छी बात कही - मधु मक्खियों को क्या पता वो सहद बना रही हैं वो तो सिर्फ़ अपना काम कर रही हैं

पीयूष गोयल ने बनाये 600 केरिकेचर्स

पीयूष गोयल अपनी धुन के पक्के हमेशा कुछ ना कुछ नया करते रहना उनकी फ़ितरत हैं. इसी के चलते पीयूष गोयल ने दुनिया की पहली मिरर इमेज किताब"श्री मदभगवदगीता" के सभी 18 अध्याय 700 श्लोक हिन्दी व अंग्रेजी दोनो भाषाओ में लिख चुके हैं कुछ समय पहले पीयूष ने सुईं से भी किताब लिखी हैं,ऐसा दुनिया में अभी तक नही हुआ हैं "दुनिया की पहली सुईं से लिखी "मधुशाला"(हरबंस राय बच्चन कृत) .


पीयूष 2000 से कुछ न कुछ लिखते आ रहे हैं श्रीमदभगवदगीता(हिन्दी व अँग्रेज़ी),श्री दुर्गा सप्त सत्ती (संस्कृत भाषा),श्रीसाई सतचरित्र(हिन्दी व अँग्रेज़ी),श्री सुंदरकांड(दो बार),चालीसा संग्रह,सुईं से मधुशाला,मेहन्दी से गीतांजलि(रबींद्र नाथ कृत),कील से "पीयूष वाणी"(पीयूष गोयल कृत),व कार्बन पेपर से "पंच तंत्र"(विष्णु शर्मा कृत),रामचरित्र मानस(दोहा,सोरठा,और चोपाई) (तुलसीदास कृत).


अभी हाल ही में पीयूष ने एक और कारनामा किया हैं उन्होने करीब दो महीनो में 36*23 इंच के पेपर पर 600 लोगो केकरिकचर्स बनाएे हैं जिनमे(नरेंद्रमोदी,अमितशाहा,अमिताभ,कपिलदेव,सचिन,राहुल गाँधी,सोनिया गाँधी,दिग्विजय सिंह,अटल जी,मनमोहन जी,चंद्रशेखर जी,मुकेश अंबानी,मायावती,मदर टेरेसा,मुलायम सिंह गुजराल जी,सुब्रहामनयम आदि )

पीयूष ने बताया की ईश्वर साथ दे और कुछ नया करने की लग्न हैं व्यक्ति अपने आप को बहुत उँचाइयों तक ले जा सकता हैं ​अंत में पीयूष ने अपने लिखे वाक्य से एक बहुत ही अच्छी बात कही - मधु मक्खियों को क्या पता वो सहद बना रही हैं वो तो सिर्फ़ अपना काम कर रही हैं

पीयूष गोयल ने बनाये 600 केरिकेचर्स

http://redalertnews.in/news.php?post=113362&title=

पीयूष गोयल ने बनाये 600 केरिकेचर्स

अगला लेख: मधुशाला दर्पण छवि में लिखने के लिए सम्मान



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 मार्च 2017
Piyush Goel Ordinary Indian Man with Extraordinary Achievement lámparas : Piyush Goel Ordinary Indian Man With Extraordinary Achievement Foto
13 मार्च 2017
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x