आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x

चाँद फागुन का -- नवगीत

12 मार्च 2017   |  रेणु
चाँद   फागुन का --  नवगीत

बादल संग आंखमिचौली खेले --

पूरा चाँद सखी फागुन का-- !

संग जगमग तारे -

लगें बहुत ही प्यारे ;

सजा है आँगन आज गगन का !

सखी ! दूध सा चन्दा --

दे मन आनंदा ;

हरमन भाये ये समां पूनम का !

कोई फगुवा गाये --

तो पीहर याद आए ;

झर - झर नीर बहे नयनन का !

सखी अपलक निहारूँ --

मैं तन - मन वारूँ ;

जब चाँद में मुखड़ा दिखे साजन का


शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
प्रश्नोत्तर
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x