ऐसा था हमारा प्राचीन भारत, इन देशों तक फैली थी हमारी संस्कृति, हर सच्चा भारतवासी जरूर शेयर करें...

15 मार्च 2017   |  रोमिश ओमर   (356 बार पढ़ा जा चुका है)

ऐसा था हमारा प्राचीन भारत, इन देशों तक फैली थी हमारी संस्कृति, हर सच्चा भारतवासी जरूर शेयर करें...

भारत बहुत प्राचीन देश है। विविधताओं से भरे इस देश में आज बहुत से धर्म , संस्कृतियां और लोग हैं। आज हम जैसा भारत देखते हैं अतीत में भारत ऐसा नहीं था भारत बहुत विशाल देश हुआ करता था। ईरान से इंडोनेशिया तक सारा हिन्दुस्थान ही था। समय के साथ-साथ भारत के टुकड़े होते चले गये जिससे भारत की संस्कृति का अलग-अलग जगहों में बटवारां हो गया। हम आपको उन देशों को नाम बतायेंगे जो कभी भारत के हिस्से थे।

ईरान – ईरान में आर्य संस्कृति का उद्भव 2000 ई. पू. उस वक्त हुआ जब ब्लूचिस्तान के मार्ग से आर्य ईरान पहुंचे और अपनी सभ्यता व संस्कृति का प्रचार वहां किया। उन्हीं के नाम पर इस देश का नाम आर्याना पड़ा। 644 ई. में अरबों ने ईरान पर आक्रमण कर उसे जीत लिया।

loading...

कम्बोडिया – प्रथम शताब्दी में कौंडिन्य नामक एक ब्राह्मण ने हिन्दचीन में हिन्दू राज्य की स्थापना की।

वियतनाम – वियतनाम का पुराना नाम चम्पा था। दूसरी शताब्दी में स्थापित चम्पा भारतीय संस्कृति का प्रमुख केंद्र था। यहां के चम लोगों ने भारतीय धर्म, भाषा, सभ्यता ग्रहण की थी। 1825 में चम्पा के महान हिन्दू राज्य का अन्त हुआ।

Source

मलेशिया – प्रथम शताब्दी में साहसी भारतीयों ने मलेशिया पहुंचकर वहां के निवासियों को भारतीय सभ्यता एवं संस्कृति से परिचित करवाया। कालान्तर में मलेशिया में शैव, वैष्णव तथा बौद्ध धर्म का प्रचलन हो गया। 1948 में अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त हो यह सम्प्रभुता सम्पन्न राज्य बना।

Source

इण्डोनेशिया – इण्डोनिशिया किसी समय में भारत का एक सम्पन्न राज्य था। आज इण्डोनेशिया में बाली द्वीप को छोड़कर शेष सभी द्वीपों पर मुसलमान बहुसंख्यक हैं। फिर भी हिन्दू देवी-देवताओं से यहां का जनमानस आज भी परंपराओं के माधयम से जुड़ा है।

Prambanan templeb in sunset , near to Yogyakarta on Java, Indonesia.

फिलीपींस – फिलीपींस में किसी समय भारतीय संस्कृति का पूर्ण प्रभाव था पर 15 वीं शताब्दी में मुसलमानों ने आक्रमण कर वहां आधिपत्य जमा लिया। आज भी फिलीपींस में कुछ हिन्दू रीति-रिवाज प्रचलित हैं।

अफगानिस्तान – अफगानिस्तान 350 इ.पू. तक भारत का एक अंग था। सातवीं शताब्दी में इस्लाम के आगमन के बाद अफगानिस्तान धीरे-धीरे राजनीति क और बाद में सांस्कृतिक रूप से भारत से अलग हो गया।

Source

§

नेपाल – विश्व का एक मात्र हिन्दू राज्य है, जिसका एकीकरण गोरखा राजा ने 1769 ई. में किया था। पूर्व में यह प्राय: भारतीय राज्यों का ही अंग रहा।

भूटान – प्राचीन काल में भूटान भद्र देश के नाम से जाना जाता था। 8 अगस्त 1949 में भारत-भूटान संधि हुई जिससे स्वतंत्र प्रभुता सम्पन्न भूटान की पहचान बनी।

loading...

यह भी पढ़ें : 168 बिलियन डॉलर लगाकर भारत में बन रही है ‘दुनिया की सबसे बड़ी नदी !

तिब्बत – तिब्बत का उल् लेख हमारे ग्रन्थों में त्रिविष्टप के नाम से आता है। यहां बौद्ध धर्म का प्रचार चौथी शताब्दी में शुरू हुआ। तिब्बत प्राचीन भारत के सांस्कृतिक प्रभाव क्षेत्र में था। भारतीय शासकों की अदूरदर्शिता के कारण चीन ने 1957 में तिब्बत पर कब्जा कर लिया।

श्रीलंका – श्रीलंका का प्राचीन नाम ताम्रपर्णी था। श्रीलंका भारत का प्रमुख अंग था। 1505 में पुर्तगाली, 1606 में डच और 1795 में अंग्रेजों ने लंका पर अधिकार किया। 1935 ई. में अंग्रेजों ने लंका को भारत से अलग कर दिया।

§

म्यांमार (बर्मा) – अराकान की अनुश्रुतियों के अनुसार यहां का प्रथम राजा वाराणसी का एक राजकुमार था। 1852 में अंग्रेजों का बर्मा पर अधिकार हो गया। 1937 में भारत से इसे अलग कर दिया गया।

पाकिस्तान – 15 अगस्त, 1947 के पहले पाकिस्तान भारत का एक अंग था। हालांकि बटवारे के बाद पाकिस्तान में बहुत से हिन्दू मंदिर तोड़ दिये गये हैं, जो बचे भी हैं उनकी हालत बहुत ही जर्जर है।

बांग्लादेश – बांग्लादेश भी 15 अगस्त 1947 के पहले भारत का अंग था। देश विभाजन के बाद पूर्वी पाकिस्तान के रूप में यह भारत से अलग हो गया। 1971 में यह पाकिस्तान से भी अलग हो गया।

प्राचीन भारत बहुत संपन्न था, दूर – दूर से लोग हमारी संस्कृति सीखने आया करते थे। नालंदा और तक्षशिला जैसे ज्ञान के भंडार हमारे देश में ही थे। जब दुनिया अपना नाम तक नहीं जानती थी, हमारे ऋषि – मुनि बहुत से गहरे अनुसंधान किया करते थे। मेरा सभी भारतवासियों से निवेदन है कि थोड़ा अपने जीवन का कीमती समय निकालकर अपने भारतके इतिहास और धरोवरों को बारे में भी पढ़ना चाहिए।

दोस्तों यदि आपको मेरा यह कार्य अच्छा लगा हो तो शेयर जरूर करें ताकि और लोग भी इसे जान सकें।।

ऐसा था हमारा प्राचीन भारत, इन देशों तक फैली थी हमारी संस्कृति, हर सच्चा भारतवासी जरूर शेयर करें...

https://dolphinpost.com/our-ancient-india/

ऐसा था हमारा प्राचीन भारत, इन देशों तक फैली थी हमारी संस्कृति, हर सच्चा भारतवासी जरूर शेयर करें...

अगला लेख: क्या गौमाता को राष्ट्रीय पशु घोषित करना चाहिए?


रेणु
15 मार्च 2017

भारतीय संस्कृति को कोटि - कोटि नमन --

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
16 मार्च 2017
अपनी कथित प्रेमिका अनुष्का शर्मा की तरह विराट कोहली ने भी हिन्दुओ के त्यौहार पर ही निशाना साधा, इन लोगों को सारा समाज सुधार केवल हिन्दुओ के त्यौहारों पर ही सूझता है विराट कोहली ने बड़ी ही घिनोनी और घटिया हरकत होली पर की है विराट कोहली ने होली पर जानवरो के खिलाफ अत्याचार का
16 मार्च 2017
29 मार्च 2017
हमारे शास्त्रो में झंडा या पताका लगाने का विधान है! पताका यश, कीर्ति, विजय , घर में सुख समृद्धि , शान्ति एवं पराक्रम का प्रतीक है। जिस जगह पताका या झंडा फहरता है उसके वेग से नकरात्मक उर्जा दूर चली जाती है ! हिन्दू समाज में अगर सभी घरो में स्वास्तिक या
29 मार्च 2017
21 मार्च 2017
*दाईं तरफ़ वाला कहता:"हे ईश्वर, तूने राजा को बहुत कुछ दिया है, मुझे भी दे दे.!"*बाईं तरफ़ वाला कहता:"ऐ राजा.! ईश्वर ने तुझे बहुत कुछ दिया है, मुझे भी कुछ दे दे.!"दाईं तरफ़ वाला भिखारी बाईं तरफ़ वाले से कहता:ईश्वर से माँग वह सबकी सुनने वाला है..बाईं तरफ़ वाला जवाब देता: "चुप कर मुर्ख.."एक बार राजा ने अपने
21 मार्च 2017
24 मार्च 2017
आप देशवासियों के लिये अपना पूरा जीवन लगा देने वाले भाई राजीव दीक्षित जी #Youtube Channel से जुड़े ! Subscribe Nowloading...ताजमहल शाहजहाँ द्वारा बनाया गया मकबरा है अथवा प्राचीन हिन्दू मंदिर मुझे नहीं पता. शंकराचार्य के पूर्व भी कई लोग ताजमहल के मंदिर होने का दावा करते रहें
24 मार्च 2017
18 मार्च 2017
जिला जेल में साध्वी दिवेशा भारती स्वामी योगेशानंद ने किए प्रवचनभास्करन्यूज|यमुनानगरगीताजयंतीके उपलक्ष्य में जिला जेल में सत्संग का आयोजन किया गया। जिसमें साध्वी दिवेशा भारती स्वामी योगेशानंद ने प्रवचन किया। उन्होंने कहा कि गीता में मनुष्य की हर समस्या का समाधान है। जरूरत
18 मार्च 2017
29 मार्च 2017
सोशल मीडिया पर उठी फिर से जनता की आवाज...न्याय में विलंब क्यों ?आज दिनभर एक ट्रेंड टॉप में चल रहा था जिसके द्वारा हजारों लोग ट्वीट कर रहे थे कि न्याय में विलंब करना भी अन्याय ही है । #न्याय_में_विलंब_क्यों इस हैशटैग को लेकर कई यूजर्स का कहना था कि POCSO कानून का दुरूपयोग
29 मार्च 2017
16 मार्च 2017
अपनी कथित प्रेमिका अनुष्का शर्मा की तरह विराट कोहली ने भी हिन्दुओ के त्यौहार पर ही निशाना साधा, इन लोगों को सारा समाज सुधार केवल हिन्दुओ के त्यौहारों पर ही सूझता है विराट कोहली ने बड़ी ही घिनोनी और घटिया हरकत होली पर की है विराट कोहली ने होली पर जानवरो के खिलाफ अत्याचार का
16 मार्च 2017
03 मार्च 2017
“Indian” शब्द का अर्थ है हरामी संतान:आपने पढ़ा होगा अंग्रेजोँ के समय मेँ सिनेमाघरोँ और कई सार्वजनिक जगहोँ पर “Dogs and Indians are not allowed” का बोर्ड लगा रहता था इसी से आप समझ सकते हैँ अंग्रेज के लिये इंडियन्स की क्या वैल्यू थी।लेकिन यदि आप ऑक्सफ़ोर्ड की पुरानी डिक्शन
03 मार्च 2017
10 मार्च 2017
एशियन पेंट का करें बहिष्कार : तारिक फतह और पतंजलि का करें समर्थन12:18 pmहिन्दुओं को ज़लील करने , उनके धर्म का मज़ाक़ बनाने , उनकी मान्यताओं का मखोल उड़ाने के लिए ढेरों फ़िल्में बनती हैं , दुनिया भर के अपने और दूसरे धर्मों के लोग ( आमिर खान टाइप) आए दिन आते हैं और हिन्दुओं को उपदेश देते हैं , पर हि
10 मार्च 2017
22 मार्च 2017
जब बाबर दिल्ली की गद्दी पर आसीन हुआ उस समय जन्म भूमि सिद्ध महात्मा श्यामनन्द जी महाराज केअधिकार क्षेत्र में थी। महात्मा श्यामनन्द की ख्याति सुन कर ख्वाजा कजल अब्बास मूसा आशिकान अयोध्या आये । महात्मा जी के शिष्य बनकर ख्वाजा कजल अब्बास मूसा ने योग और सिद्धियाँ प्राप्त कर ली और उनका नाम भी महात्मा श्या
22 मार्च 2017
19 मार्च 2017
केरल के कोच्चि में एक केथोलिक पादरी को एक नाबालिग लड़की से बलात्कार के मामलें में गिरफ्तार किया गया हैं. आरोपी रोबिन वडक्‍कनचेरिल कन्‍नूर जिले के कोटियूर में सेंटर सेबेस्टियन चर्च में पादरी है.पुलिस के अनुसार, पादरी ने चर्च की और से मिले घर के बेडरूम में पीडिता से बलात्का
19 मार्च 2017
19 मार्च 2017
केरल के कोच्चि में एक केथोलिक पादरी को एक नाबालिग लड़की से बलात्कार के मामलें में गिरफ्तार किया गया हैं. आरोपी रोबिन वडक्‍कनचेरिल कन्‍नूर जिले के कोटियूर में सेंटर सेबेस्टियन चर्च में पादरी है.पुलिस के अनुसार, पादरी ने चर्च की और से मिले घर के बेडरूम में पीडिता से बलात्का
19 मार्च 2017

शब्दनगरी से जुड़िये आज ही

सम्बंधित
लोकप्रिय
25 मार्च 2017
आज के प्रमुख लेख
लोकप्रिय प्रश्न
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x