कानपुर में गंगा मेला पर रंग खेलने की खास वजह है.

17 मार्च 2017   |  आशीष श्रीवास्‍तव   (253 बार पढ़ा जा चुका है)

होली के सुरूर से जब पूरा देश बाहर आ चुका होता है, उसके बाद भी कनपुरियों को जमकर होली खेल ते हुए देखा जा सकता है. ये मौका होता है गंगा मेला का, होली के पांचवें दिन कानपुर में इस दिन जिस तरह से रंग खेला जाता है उस तरह से तो होली पर भी रंग नहीं खेला जाता. कानपुर में गंगा मेला पर रंग खेलने की भी एक खास वजह है.

gaonconnection2016-094647e65a-2ad1-456b-b82a-0b74726d3f1e23180holi2-min

कानपुर में होली के पांचवें दिन सरसैया घाट पर गंगामेला लगता है. इस दिन कानपुर के लोग जमकर होली खेलते हैं. इस दिन हटिया के रज्जनबाबू पार्क से निकलने वाला ठेला पूरे शहर को रंग से सराबोर कर देता है. जानें गंगा मेले का इतिहास…

ganga-mela_1459070675


जानकारों के मुताबिक 1942 कानपुर के हटिया बाजार के रज्जन बाबू पार्क में युवाओं ने रंग-अबीर उड़ाकर होली खेली थी. इसके साथ ही युवाओं की इस टोली ने वहां तिरंगा फहरा दिया था. अंग्रेजों को जब इसकी भनक लगी तो वो वहां पहुंचकर तिरंगा उतरवाने लगे. युवाओं की टोली ने इस बात का विरोध किया तो गुस्साए अंग्रेजी सैनिकों ने युवाओं को पीटा और 40 से ज्यादा लोगों को जेल भेज दिया.

HOLI_CELEBRATION_AT_NAGAON


अंग्रेजी सैनिकों के इस कदम से कानपुर के लोगों का गुस्सा भड़क गया. कानपुर के बाजार बंद कर दिए गए. इसके बाद तो यहां के हर व्यक्ति ने अंग्रेजों के खिलाफ आंदोलन छेड़ दिया. इस आंदोलन में महात्मा गांधी, पंडित नेहरू और गणेश शंकर विद्यार्थी जैसे लोगों ने भी सहयोग किया.

aaaa_1459070694
होली के पांचवें दिन (अनुराधा नक्षत्र) गिरफ्तार किये गए लोगों को जब छोड़ा गया तब सभी ने जमकर होली खेली. इसके बाद से ही कानपुर में गंगा मेला मनाने की परंपरा है. यहां अनुराधा नक्षत्र के दिन जबरदस्त होली खेली जाती है. गंगा मेले पर यहां प्रतीकात्मक रूप में ठेले पर भी जुलूस निकलता है फ‌िर पूरा कानपुर जोश के साथ रंगों का त्योहार मनाता है.

अगला लेख: सुकमा में 11 जवान शहीद


रेणु
18 मार्च 2017

आशीष जी - देश के सांस्कृतिक शहर कानपुर की इस सांस्कृतिक बेला का सचित्र वर्णन बहुत अच्छा लगा -- लेख के लिए आपको बहुत धन्यवाद --

आभार रेणु जी .....

आशीष जी आपको और आपके पूरे परिवार को गंगा मेला की हार्दिक बधाइयाँ , ये त्यौहार ही तो हमें अपनों के और करीब लाते हैं . बेहतरीन लेख के लिए आपको धन्यवाद

प्रियंका जी आपको भी बहुत बधाई .......

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x