फूल.....

21 मार्च 2017   |  सौम्य स्वरूप नायक   (282 बार पढ़ा जा चुका है)

फूल..... - शब्द (shabd.in)


कितना दर्द सहते हो तुम फूल ,

कांटों मे भी मुस्कुराते हो तुम फूल ,

महक से दिलों में खुशी लाते तुम फूल ,

प्रक्रुति को अपने रंगों से,

किसी नई दुल्हन सी सजाते तुम फूल । ॥1॥



चाहे आए गर्मी जाड़ा या तूफ़ान कोई ,

न तुम लडखड़ाते हो ,

भौंरे तितली चुसे तुमको ,

फिर भी प्यार उन पर लुटाते हो ,

बन माला -गुलदस्ता प्यार तुम बाँटते हो ,

जीवन के हर दुख में खिले रहने का पाठ ,

बिन कहे हमें पढ़ा दिए जाते हो । ॥2॥

- सौम्य स्वरूप नायक

सम्बलपुर , ओडिशा

अगला लेख: मन की लगाम कसकर रखें(man kee lagaam kasakar rakhen)



रेणु
21 मार्च 2017

फूल सी कोमल रचना

बहुत बहुत धन्यवाद आपका

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
21 मार्च 2017
मे
मेरे हाथों की लकीरों में तू ना सही मेरे ख़यालों में रहेगी सदा मेरी ज़ुबान पर तेरा नाम ना सही मेरे अहसास में तू रहेगी सदा मेरे दिल में तेरी तस्वीर ना सहीमेरे ख़्वाबों में तू रहेगी सदा मेरी क़िस्मत तुझ से जुड़ी ना सही मेरी ज़िंदगी तुझ से जुड़ी रहेगी सदा ३ मार्च २०१७जिनेवा
21 मार्च 2017
25 मार्च 2017
Ed Sheeran’s का गाना 'शेप अॉफ यू' गाने को पार्टी और फंक्शन में तो आपने बहुत सुना होगा, गाने पर लोगों को थिरकते हुए भी देखा होगा। उड़ीसा की औरतों का ये सांसकृतिक नृत्य उस गाने पर ही कवर किया गया है। हर एक स्टेप इतने शानदार तरीके से कवर किया गया है कि मन मोह लेगा। कुछ दिनों पहले दिल्ली आईआईटी के स्टूड
25 मार्च 2017
16 मार्च 2017
मौन में शक्ति होती है इसलिए वह शक्तिशाली है। आगे... मौन शक्तिशाली है! (maun shaktishaalee hai) - YouTube
16 मार्च 2017
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x