वो एक्ट्रेस जिनकी फिल्म ने इंदिरा गांधी को डरा दिया था

06 अप्रैल 2017   |  प्रियंका शर्मा   (382 बार पढ़ा जा चुका है)

वो एक्ट्रेस जिनकी फिल्म ने इंदिरा गांधी को डरा दिया था

भारतीय सिनेमा में जैसा मुकाम सुचित्रा सेन का है किसी का नहीं है. वे बंगाली सिनेमा की बहुत बड़ी आइकन हैं. जीवन के आखिरी पैंतीस साल उन्होंने लोगों के बीच आना जाना बंद कर दिया. वे सार्वजनिक आयोजनों में हिस्सा लेने से यूं विरक्त हो चुकी थीं कि जब उन्हें हिंदी सिनेमा का सबसे बड़ा पुरस्कार दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड दिया जा रहा था तो उन्होंने लेने से मना कर दिया क्योंकि उन्हें इवेंट में जाना पड़ता. उन्हें पद्मश्री भी मिला और बंगाल सरकार का बंगा बिभूषण. वे पहली भारतीय एक्ट्रेस मानी जाती हैं जिन्हें किसी इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में सम्मानित किया गया था.

फिल्म ‘सप्तपदी’ के लिए 1963 में मॉस्को फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला था. तीन साल पहले आज ही के दिन 17 जनवरी को कोलकाता में उनकी मृत्यु हो गई थी.

सुचित्रा सेन का जन्म बंगाल के पबना कस्बे में 6 अप्रैल 1931 को हुआ था जो अब बांग्लादेश में पड़ता है. वो मिडिल क्लास परिवार से थीं. उनके पिता ने उन्हें हमेशा शिक्षा के बहुत प्रेरित किया. 1947 में एक उद्योगपति देबनाथ सेनगुप्ता से उनकी शादी कर दी गई. पति देबनाथ ने भी उन्हें फिल्मों में अभिनय करने के लिए प्रोत्साहित किया. पचास का दशक सुचित्रा के करियर के लिए बेहतरीन रहा जिसमें उन्होंने बहुत सी शानदार फ़िल्में की.

उन्होंने अपना डेब्यू बंगाली फिल्म ‘शेष कोथाई’ से किया लेकिन ये कभी रिलीज नहीं हुई. फिर बंगाली सुपरस्टार उत्तम कुमार के साथ उन्होंने क्लासिक फिल्में दीं. उनका करियर बेहतरीन रहा. उन्होंने देवदास, मुसाफिर और आंधी जैसी यादगार हिंदी फिल्मों में भी काम किया.

साठ का दशक आते-आते सुचित्रा और उनके पति के बीच के संबंध लगभग खत्म हो गए. उनके पति अमेरिका रहने लगे. 1969 में एक्सीडेंट में देबनाथ की मौत हो गई. पति की मौत के बाद सुचित्रा अकेली रहने लगी. दूसरी शादी नहीं की और अपनी बेटी मुनमुन सेन की परवरिश की. मुनमुन सेन ने भी एक अभिनेत्री के रूप में अपनी पहचान बनाई. उनकी बेटियां और सुचित्रा की नातियां रायमा और रिया सेन भी अभिनेत्रियां हैं.

बरसी पर इन तीन किस्सों में सुचित्रा सेन को याद करेंः

#1. उनका असली नाम कुछ और था

सुचित्रा के बचपन का नाम रोमा था. वे स्कूल के टाइम से ही नाटकों से जुड़ी हुई थीं. एक बार किसी नाटक के लिए वे स्क्रीन टेस्ट दे रही थीं. तो डायरेक्टर नितीश राय ने उन्हें नया नाम दिया – ‘सुचित्रा’. नाम बदलने को लेकर नितीश ने रोमा से कहा, “तुम बहुत खूबसूरत हो और सुचित्रा नाम तुम पर बिलकुल जंचता है.” फिर इसके बाद से वो ताउम्र सुचित्रा के नाम से ही जानी जाती रहीं.

#2. पारो के किरदार के लिए वे तीसरी पसंद थीं

हिंदी फिल्मों में सुचित्रा ने सबसे पहले बिमल रॉय की फिल्म ‘देवदास’ (1955) में काम किया था. इसमें उन्होंने पारो का किरदार निभाया था. इसके पीछे भी एक कहानी है. दरअसल बिमल पारो के किरदार के लिए मीना कुमारी को लेना चाहते थे लेकिन वे दूसरी फिल्म में बिजी थीं और डेट्स नहीं थी तो मीना ने मना कर दिया. पारो के रोल में बिमल की दूसरी पसंद मधुबाला थीं लेकिन उनके होने वाले देवदास दिलीप कुमार और मधुबाला की बन नहीं रही थी. दोनों इस अवधि में मुग़ल-ए-आज़म की शूटिंग करते आ रहे थे और इसी के सेट पर उनमें अनबन होने लगी थी. लिहाजा पारो का किरदार सुचित्रा सेन को दे दिया गया.

एक बार दिलीप कुमार ने सुचित्रा की तारीफ करते हुए कहा था, “पहली बार मैंने किसी महिला की खूबसूरती और बुद्धि दोनों एक साथ महसूस कीं. उनकी आंखें कमाल की थीं. उनमें एक अजीब सी नजाकत थी. जब देवदास के सेट पर पहली दफा बिमल रॉय ने उनसे मेरी मुलाकात कराई, तब मैं उन्हें देखता रह गया था. उनकी डायलॉग डिलीवरी में एक अलग सी क़ैफियत थी. जिसकी तारीफ फिल्म के सेट पर बिमल राय भी किया करते थे.”

#3. जब सुचित्रा सेन से इंदिरा गांधी डर गई थीं.

उनकी 1975 में रिलीज होने वाली नामी फिल्म थी ‘आंधी’. तब देश में इमरजेंसी का दौर चल रहा था. इसमें सुचित्रा के किरदार आरती को लोगों ने इंदिरा गांधी से जोड़कर देखा था. इस वजह से जबरदस्त विवाद शुरू हो गया और फिल्म को बैन कर दिया गया. स्थिति ये हो गई कि इमरजेंसी खत्म होने के बाद ही फिल्म रिलीज हो पाई.

दरअसल निर्माता जे. ओमप्रकाश ने डायरेक्टर गुलजार के सामने सुचित्रा सेन और संजीव कुमार को लेकर एक फिल्म बनाने का प्रस्ताव रखा था. इसकी पटकथा सचिन भौमिक ने लिखी थी जो गुलजार को पसंद नहीं आई और उन्होंने खुद एक पटकथा लिखनी शुरू की. ये कहानी एक ताकतवर महिला राजनेता और एक फाइव स्टार होटल के मालिक के संबंधों पर आधारित थी.

स्क्रिप्ट लिखने के बाद गुलजार को पता चला कि ‘काली आंधी’ नाम से कमलेश्वर ने एक उपन्यास लिखा है. फिर गुलजार ने कमलेश्वर से अनुरोध किया कि उनकी कहानी फिल्म में शामिल करने की मंजूरी दे. तब जाकर भौमिक-गुलजार-कमलेश्वर की तिकड़ी की स्क्रिप्ट पर ‘आंधी’ बनी. आज भी लोग सुचित्रा को ‘आंधी’ से रिलेट करके याद करते हैं.

जब ये फिल्म इंदिरा गांधी के शासन में बैन कर दी गई तो समीक्षकों ने कहा कि “सुचित्रा ने अपने अभिनय से इंदिरा गांधी को डरा दिया है.”

http://www.thelallantop.com/jhamajham/remembering-legendary-actress-suchitra-sen-whose-movie-allegedly-aandhi-troubled-indira-gandhi/?utm_source=Chrome&utm_medium=referral&utm_campaign=NotificationChrome?utm_source=chromenotification

अगला लेख: SBI के ग्राहकों पर बढ़ेगा बोझ, कई सेवाओं के नियम बदले, जान लें ये 10 बड़ी बातें


रुपहले पर्दे की सुनहरी यादें बड़ी ही मार्मिक हैं . सुन्दर आलेख.

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
30 मार्च 2017
जब भी कोई संवाददाता सड़क पर खड़े होकर रिपोर्टिंग कर रहा होता है तो उसके पीछे न जाने कितने ही लोग कैमरे में झांकने आ जाते हैं। रिपोर्टर के पीछे लोगों की भीड़ लग जाती है और कुछ महानुभाव तो विक्ट्री का साइन बनाकर खड़े हो जाते हैं। बहुत से लोग तुरंत ही फ़ोन करने लगते हैं कि अम
30 मार्च 2017
01 अप्रैल 2017
गोवंश सुरक्षा मजबूत करने के लिए गुजरात की विधानसभा में गोरक्षा सुधार बिल पेश किया गया, जो पास हो गया. बिल राज्य के गृहमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने सदन में रखा था, जिसे विपक्ष की गैर-हाजिरी में पास किया गया. इस नए बिल के आधार पर पुलिस को पहले से आठ अधिकार ज्यादा मिलेंगे. पहले अगर कोई गोवंश के मांस साथ
01 अप्रैल 2017
14 अप्रैल 2017
MOAB (फोटोःReuters)अमेरिका ने गुरुवार देर रात अब तक का सबसे बड़ा नॉन-न्यूक्लियर बम अफगानिस्तान में गिरा दिया. MOAB नाम के इस बम को ‘मदर ऑफ ऑल बॉम्ब्स’ कहा जाता है. ये बम ISIS के आतंकियों पर गिराने का दावा किया है, लेकिन अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इससे आतंकियों को कितना नुकसान हुआ है. शुरुआती जानका
14 अप्रैल 2017
25 मार्च 2017
Ed Sheeran’s का गाना 'शेप अॉफ यू' गाने को पार्टी और फंक्शन में तो आपने बहुत सुना होगा, गाने पर लोगों को थिरकते हुए भी देखा होगा। उड़ीसा की औरतों का ये सांसकृतिक नृत्य उस गाने पर ही कवर किया गया है। हर एक स्टेप इतने शानदार तरीके से कवर किया गया है कि मन मोह लेगा। कुछ दिनों पहले दिल्ली आईआईटी के स्टूड
25 मार्च 2017
18 अप्रैल 2017
मेरा देश बदल रहा है, आगे बढ़ रहा है' ये तो आपने देखा और सुना ही होगा. इस स्लोगन से ये प्रतीत होता कि हमारे भारत की छवि बदल रही है और देश तरक्की की राह पर है. अच्छी बात है कि देश ख़ूब तरक्की करे और आगे बढ़े, इससे बढ़कर हम देशवासियों के लिए फ़र्क की बात और क्या हो सकती है.लेकिन इतनी तरक्की के बावजूद द
18 अप्रैल 2017
28 मार्च 2017
IIT (ISM) धनबाद की एनुयअल सांस्कृतिक उत्सव के अंतिम दिन छात्र-छात्राओं ने जमकर मस्ती की. अंतिम दिन फैशन शो का भी आयोजन किया गया जिसमें मिस इंडिया रनर-अप अराधन बोरगोहेन ने भी हिस्सा लिया. बता दें. इस महोस्तव में विभिन्न IIT संस्थानों से पांच सौ से अधिक प्रतिभागी शामिल हुए. बताते चलें कि धनबाद की छवी
28 मार्च 2017
13 अप्रैल 2017
भारत में सबसे शक्तिशाली इंसान कौन है?इसका जवाब देना तब तक मुश्किल है, जब तक कि ताकत का मतलब ना पता हो. क्योंकि हर कोई अपने आप में ताकतवर ही होता है. इंडिया टुडे ने 2017 की अपनी पावर लिस्ट (The High & Mighty Power List 2017) जारी की है. इसके मुताबिक ताकत का मतलब है संभावना. जैसे कि पेट्रोकेमिकल का बि
13 अप्रैल 2017
28 मार्च 2017
शपथ लेते ही मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ की सरकार ने देखते ही देखते पूरी रफ्तार पकड ली है। इसी का नतीजा है कि अधिकांश मत्री निर्धारित समय पर सचिवालय पहुंचने लगे हैं। इसी के साथ ही मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ के अपने सचिवालय, हजरतगंज कोतवाली और मेडिकल कालेज के औचक निरीक्षण से खासा हडकंपा मच गया है।
28 मार्च 2017
25 मार्च 2017
Ed Sheeran’s का गाना 'शेप अॉफ यू' गाने को पार्टी और फंक्शन में तो आपने बहुत सुना होगा, गाने पर लोगों को थिरकते हुए भी देखा होगा। उड़ीसा की औरतों का ये सांसकृतिक नृत्य उस गाने पर ही कवर किया गया है। हर एक स्टेप इतने शानदार तरीके से कवर किया गया है कि मन मोह लेगा। कुछ दिनों पहले दिल्ली आईआईटी के स्टूड
25 मार्च 2017
04 अप्रैल 2017
भारतीय स्टेट बैंक संबंधित छह बैंकों से विलय के बाद दुनिया के 50 सबसे बड़े बैंकों में शामिल हो गया है. हालांकि आम आदमी की जेब पर इससे बोझ बढ़ने जा रहा है. विलय के बाद एसबीआई ने कई सुविधाओं के लिए लगने वाले शुल्क में वृद्धि कर दी है. विलय के बाद छह बैंकों के ग्राहकों को भी ये बढ़ी हुई कीमत चुकानी होगी.जा
04 अप्रैल 2017
17 अप्रैल 2017
बॉलीवुड के 'ट्रैजेडी किंग' और लीजेंड 94 साल के एक्टर दिलीप कुमार ने फ़ेसबुक डेब्यू किया है, उनके ऑफ़िशिल अकाउंट पर पत्नी सायरा बानो ने एक वीडियो शेयर किया है. वीडियो बेहद इमोशनल और आंखें नम कर देने वाला है.33-सेकंड के वीडियो में उनके हाथ में एक बिस्किट है. सायरा,
17 अप्रैल 2017
28 मार्च 2017
नव विक्रम संवत् २०७४ आपके जीवन में सुख समृद्धि लाए, नए अवसर लाए, जीवन को सुख की सुगन्‍ध से महकाए। जय श्री राम जय माता की...। विक्रम संवत् २०७४ की हार्दिक शुभकामनाएं (vikram sanvat 2074 kee shubhakaamanaaen) - YouTube
28 मार्च 2017
08 अप्रैल 2017
लगभग सभी लोगों को तस्वीरें खिंचवाना बहुत पसंद होता है। यही वजह है कि आजकल सेल्फी ट्रेंड में है। लोग जहां मौका पाते हैं वहीं शुरू हो जाते हैं और ये भी नहीं सोचते कि उनकी तरफ देख रहे लोग उनको लेकर क्या सोच रहे होंगे। इसको लेकर जैद अली की एक वीडियो बहुत मशहूर है। आप भी देखिए...शायद अब आपको इस बात का एह
08 अप्रैल 2017
27 मार्च 2017
हर दिन न जाने कितने ही विज्ञापनों में प्रधानमंत्री से ले कर बॉलीवुड स्टार तक, एक ही बात को दोहराते हुए दिखाई देते हैं कि 'अपने घर में शौचालय बनवाइए, और इस्तेमाल कीजिए। खुले में शौच करने से गंदगी फैलती है.' पर लोग भी पक्के ढीठ हैं, जो इतने विज्ञापनों के बावजूद सुबह बोतल उठा कर कभी खेतों की तरफ़, तो कभ
27 मार्च 2017

शब्दनगरी से जुड़िये आज ही

सम्बंधित
लोकप्रिय
09 अप्रैल 2017
आज के प्रमुख लेख
लोकप्रिय प्रश्न
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x