ऐ मेरे दिल की दीवारों

01 मई 2017   |  एस. कमलवंशी   (335 बार पढ़ा जा चुका है)

ऐ मेरे दिल की दीवारों - शब्द (shabd.in)

ऐ मेरे दिल की दीवारों, रूप अनूप तुम्हारा करूँ!

मेरे रूप की धूप अनेकों, कौन सा रूप तुम्हारा करूँ?


क्या श्वेत करूँ, करे शीतल मनवा, उथल पुथल चितचोर बड़ा है,

करूँ चाँदनी रजत लेपकर, पूनम का जैसे चाँद खड़ा है।

करूँ पीताम्बर नील नगर में, जैसे चढ़ता सूर्य गगन पर,

या फेरूं मैं कालिख़ तुझ पर, तू बेपीर सा पीर बड़ा है।


श्याम करूँ कोई शाम सोचकर, या सिंदूरी सुबह ओढ़कर?

धरा धरातल पर करूँ धानी, या रानी कोई सुमन तोड़कर?

करूँ मैं नीला कोई नीलमणि, सागर के गहरे तलहट में।

या दे दूँ सतरंगा चोला, इंद्रधनुष के रंग पोतकर।।


करूँ गुलाबी जैसे नैन शराबी, होंठों के दो जाम पिलाकर,

रूप बादामी तुम पर फेरूं, सजनी को मैं पास बुलाकर,

करूँ सुनहरा केश छटा से, गजरे के कुछ रंग सजाकर,

या बचा लूँ तुझे नज़र से, कजरे की एक धार लगाकर।


करूँ हिना सा कुछ चटकीला, मेंहदी हाथों पर बिखराकर,

या करूँ तुझे ढलता सूरज, लाली होंठों से मैं चुराकर।

क्या करूँ तेरा रंग बता दे, उलझन मेरी तू सुलझाकर,

क्या भर दूँ हर रंग उसी का, बाहों में उसे अपनी सुलाकर।


ऐ मेरे दिल की दीवारों, कौन सा रूप तुम्हारा करूँ?

मेरे रूप की धूप अनेकों, रूप अनूप तुम्हारा करूँ!

अगला लेख: अब इतना दम कहाँ!



करूँ हिना सा कुछ चटकीला, मेंहदी हाथों पर बिखराकर,
या करूँ तुझे ढलता सूरज, लाली होंठों से मैं चुराकर।
क्या करूँ तेरा रंग बता दे, उलझन मेरी तू सुलझाकर,
क्या भर दूँ हर रंग उसी का, बाहों में उसे अपनी सुलाकर।

सुन्दर भावना ! उत्तम लेखनी, आदरणीय ,आभार "एकलव्य"

आपकी सरहनात्मक पंक्तियों के लिए धन्यवाद।

धन्यवाद नृपेंद्र कुमार जी।

शब्दों का चयन बहुत सुन्दरता से किया आपने।

रेणु
02 मई 2017

अनिर्वचनीय कल्पना --- निशब्द हूँ -- शाबाश -- वेरी गुड

बहुत ही सुंदर रचना। आप एक अच्छे रचनाकार हैं।

सपना जी धन्यवाद!

प्राकृतिक सौंदर्य से नायिका नखशिख सौंदर्य की तरफ कविता का मुड़ जाना प्रशंशनीय है। आपने दोनों ही विषय का सुंदर वर्णन किया है।

धन्यवाद प्रवेश जी।

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
अंग्रेजी  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x