होमो सेपियन ही बन जाओ

30 जून 2017   |  उषा लाल   (155 बार पढ़ा जा चुका है)

आज क़लम विद्रोह कर उठी

बोली तुम झूठा लिखती हो !

किस युग की बातें करती हो

सच पर क्यूँ परदा ढकती हो !


देखो दुनिया बदल रही है

प्रेम - राग सब मिथ्या ही है

भाई चारा कहीं खो गया

नातों की बुनियाद हिली है !


बाहर तनिक निकल कर देखो

रक्त- पात है आम हो रहा

क्या तुमने यथार्थ देखा है?

कौन यहां कविता सुनता है !


याद नहीं किस युग की गाथा

जब 'रसखान', 'श्याम' रंग रंगे

'अकबर' के प्रासाद कक्ष में

होते 'कृष्ण जन्म' के जलसे!


नामों से 'पहचान' जान कर

क्यूँ बन जाते हैं अंगारे

कब हिन्दू या मुस्लिम बन गये

इक 'आदम' के वंशज सारे !


कैसा यह उन्माद बढ़ रहा

कौन इसे है यूँ भड़काता

पल भर में हत्या कर देना

पाठ भला यह किस शिक्षा का ?


हो क़ुरान , गीता या बाइबिल

नहीं किसी की सीख घृणा है

हर मज़हब का एक सूत्र है

मानवता का धर्म बड़ा है !


बस कर दो !अब बस भी कर दो!!!

'नर पिशाच ' मत यूँ बन जाओ

जात- धर्म का तमग़ा फेंको

"होमों सेपियन " ही कहलाओ!!

अगला लेख: क़िस्मत( कविता)



बहुत बहुत खूब , सत्य है मानव अगर मानव ही बन सके तब समाज में शांति लेन के लिए कोई और कार्य करना ही न पड़े।

शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
13 जुलाई 2017
भले, सूरज पश्चिम से उग जाए मगर, कोई चाहें तुम्हें, मुझ से ज़्यादा यह हो नहीं सकताभले, चाँद उतर कर आ जाए धरती परमगर, कोई चाहें तुम्हें, मुझ से ज़्यादा यह हो नहीं सकता भले, रगों में बहता ख़ून पानी हो जाए मगर, कोई चाहें तुम्हें, मुझ से ज़्यादा यह हो नहीं सकताभले, सागर का नीर मीठा हो जाए मगर, कोई चाहें
13 जुलाई 2017
22 जून 2017
यूट्यूब का एक वीडियो इन दिनों लोगों के बीच चर्चा का विषय बन चुका है. जो भी इस वीडियो को देखता है वो ये कहने से खुद को रोक नहीं पाता कि ये भला कैसा पागलपन है.दरअसल, पोलरिस नाम के यूट्यूब चैनल पर अ लेख नाम के एक शख्सका वीडियो डाला गया है
22 जून 2017
12 जुलाई 2017
12 जुलाई 2017
21 जून 2017
इंटरनेशनल योगा-डे का असर दुनिया के कोने-कोने तक देखने को मिला। जिसको जैसे मौका मिला उसने वैसे-वैसे योगासन कर डाले। क्रिएटिव आसन में अलग-अलग तरह के पोज देकर सबने अपने इंस्टाग्राम और फेसबुक को अपडेट भी किया। धड़ा-धड़ अपडेट होती फोटोज को देखकर बॉलीवुड स्टार ने नई फोटोज के लिए कुछ क्रिएटिव स्टेप ही इजाद
21 जून 2017
20 जून 2017
क्या बच्चों को काम पर रखना क़ानूनी है? नहीं, १४ साल से कम उम्र के बच्चों को काम देना गैर-क़ानूनी है; हालाँकि इस नियम के कुछ अपवाद हैं जैसे की पारिवारिक व्यवसायों में बच्चे स्कूल से वापस आकर या गर्मी की छुट्टियों में काम कर सकते हैं l इसी तरह फिल्मों में बाल कलाकारों को का
20 जून 2017
25 जून 2017
अपनी सोहरत से डरता हूँकहीं, यह तुझे रुसवा ना कर दे मोहब्बत का अपनी, इजहार करने से डरता हूँ की मशहूर, ना हो जाए यह कुछ इस क़दरकी लोग समझ जाएँ, इशारों इशारों में तेरा ज़िक्र अपनी रुसवाई से भी डरता हूँयह रुसवाई, तुझे मशहूर ना कर दे मोहब्बत को अपनी, छुपा के रखने से भी डरता हूँछुपाते छुपाते, कहीं इज़हार
25 जून 2017
10 जुलाई 2017
सा
29 जून 2017 का एक चित्र मुझे परेशान किये था। राजकोट में प्रधानमंत्री का 9 किलोमीटर लम्बा रोड शो लोग अनुमानित ख़र्च 70 करोड़ रुपये तक बता रहे हैं। 9 जुलाई 2017 का दूसरा
10 जुलाई 2017
19 जून 2017
कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ शादी का वो कार्ड, तो आपको याद ही होगा, जिसमें 'स्वच्छ भारत अभियान' का Logo लगा हुआ था. इस कार्ड को देख कर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे रीट्वीट किया था. इसी तरह का कार्ड राजस्थान के एक शख़्स ने अपने अपने बेटे की शादी में भी छपवाया था, जिसका संदेश था कि ब
19 जून 2017
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x