GST लागू होने के एक सप्ताह के भीतर ही व्यापारियों ने खोज डाले टैक्स चोरी के ये रास्ते

08 जुलाई 2017   |  इंडियासंवाद   (87 बार पढ़ा जा चुका है)

GST लागू होने के एक सप्ताह के भीतर ही व्यापारियों ने खोज डाले टैक्स चोरी के ये रास्ते

नई दिल्ली : जीएसटी लागू होने से पहले कारोबारियों द्वारा अनेकों तरीकों से टैक्स में चोरी की जाती थी। जीएसटी लागू होने के बाद कहा जा रहा था इससे टैक्स चोरी करना आसान नहीं होगा। लेकिन लगता है जीएसटी के चार स्तरों वाले टैक्स स्लैब के चक्कर में दुकानदारों ने इससे निपटने का तरीका भी ढूंढ लिया है।

दरअसल टैक्स चोरी या जीएसटी न चुकाने के इस खेल के पीछे जीएसटी काउंसिल द्वारा बनाये गए नियम ही हैं। जैसे कि 500 सौ रूपये के फुटवेयर पर 5 फीसदी जीएसटी लगाया गया है। इससे अधिक कीमत पर 18 फीसदी जीएसटी लगाया गया है। इसी तरह पनीर, नैचुरल हनी, आटा, चावल और दालों को जीएसटी से बाहर रखा गया है जबकि ऐसे प्रॉडक्ट जो रजिस्टर्ड ब्रैंड्स हैं, उनपर 5% जीएसटी लगाया गया है।

खुलासा : 2015 में दालों की आसमान छूती कीमतों के पीछे ऐसे रची गई थी बड़ी साजिश

इकनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट की माने तो दुकानदार जीएसटी से बचने के लिए सामान को अलग अलग करके बेच रहे हैं। उदाहरण के लिए जैसे गारमेंट्स विक्रेता ने डुपट्टा सलवार सूट से अलग बेच रहे हैं। कई दुकानदार को दो दो बिलों का भी प्रयोग कर रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार टैक्स ऐंड रेग्युलेटरी पार्टनर (इनडायरेक्ट टैक्स) EY के पार्टनर बिपिन सपरा ने कहा, ' संरचनात्मक दृष्टि से कीमतों के आधार पर अलग-अलग टैक्स से क्लासिफिकेशन डिस्प्यूट पैदा हो गया है और इसीलिए कई करदाता कम टैक्स वसूलने के तरीकों की तलाश करने लगे हैं।

GST के बाद कोई पुराने दाम पर सामान बेचे तो उसकी सजा ये होगी

ब्रांडेड चावल का मामला


जीएसटी के अनुसार ब्रांडेड चांवल पर पांच फीसदी जीएसटी लगाया गया है। जो ब्रांड ट्रेड मार्क एक्ट 1999 के तहत पंजीकृत है उनको ये टैक्स देना पड़ेगा। लेकिन भारत में चांवल का सबसे बड़ा ब्रांड केआरबीएल (इंडिया गेट) जीएसटी नहीं चूका रहा है। क्योंकि कंपनी ने खुद के ब्रांड ट्रेड मार्क एक्ट 1999 के तहत पंजीकृत नहीं करवाया है।

इससे कंपनी को अपने चवल पर 5 प्रतिशत जीएसटी नहीं चुकाना पड़ेगा। इसका फायदा केआरबीएल को यह होगा कि उसकी कीमतें अपने अन्य प्रतिवंदियों के मुकाबले बेहद कम हो जाएगी। भारतीय चावल बाजार में वर्तमान में मैककॉर्मिक जैसे ब्रांड केआरबीएल के विरोधी हैं। प्रतिस्पर्धी कंपनियों का कहना है कि कंपनी ने जीएसटी में छूट पाने के लिए इसे गलत तरीके से परिभाषित किया है।

वित्त मंत्रालय के अनुसार 'जब तक कोई सामान ब्रैंड या ट्रेड नेम ट्रेडमार्क्स रजिस्टर पर नहीं होगा ओर ट्रेड मार्क्स ऐक्ट 1999 के तहत नहीं आएगा, तब तक उसकी सप्लाई पर ढाई पर्सेंट सीजीएसटी यानी सेंट्रल गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स नहीं लगेगा।'

चावल व्यापार ियों का विरोध

चावल के व्यापारियों और निर्यातकों की सस्था ऑल इंडिया राइस एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन (एआईईआरए) ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को लिखा है कि मौजूदा चावल के ब्रांडों 5 प्रतिशत जीएसटी लगाने पर फिर से विचार किया जाए।

मौजूदा मानदंडों के तहत, चावल, गेहूं और अनाज जैसे स्टेपल पर जीएसटी शून्य है। लेकिन ट्रेडमार्क पंजीकरण वाले ब्रांड पर 5% जीएसटी लगेगा।

GST लागू होने के एक सप्ताह के भीतर ही व्यापारियों ने खोज डाले टैक्स चोरी के ये रास्ते

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/business/traders-removed-gst-tax-evasion-roads-27491

GST लागू होने के एक सप्ताह के भीतर ही व्यापारियों ने खोज डाले टैक्स चोरी के ये रास्ते

अगला लेख: IIT गर्ल्स हॉस्टल में थे 7 सांप, अलमारी के पीछे मिला नाग-नागिन का जोड़ा



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
23 जून 2017
कहावत है कि आज के समय में गैरों पर जल्दी भरोसा नहीं करना चाहिए, लेकिन इस बात को गलत साबित करती हैं रेखा मिश्रा। रेलवे प्रोटक्शन फोर्स में बतौर सब-इंस्पेक्टर तैनात रेखा मिश्रा छत्रपति शिवाजी टर्मिलस में रहती हैं। बात जून 2016 की है, जब वह चेन्नई एक्सप्रेस ट्रेन से प्लेटफार
23 जून 2017
23 जून 2017
लखनऊ: तीन दिन पहले मैं सिद्धार्थनगर में था। बस के इंतजार में बगल में ही बैठे रामसंजीवन से बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। अलीगढ में ईंट के भठ्ठे में झोकाई का काम करने वाले इस व्यक्ति का कहना था कि यहां कोइ घंधा न मिलने से ही बाहर जाना पडता है। मजबूरी है उसकी। न जाय, तो खाय
23 जून 2017
23 जून 2017
लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी प्रदेश मुख्यालय में लग रहे जनता दरबार में शुक्रवार को सूबे के पंचायती राज, लोक निर्माण विभाग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भूपेन्द्र सिंह चौधरी फरियादियों कि फरियाद सुनने के लिए हाजिर हुए. इस मौके पर उन्होंने कहा हम जनता की भावनाओं और अपेक्षाओं क
23 जून 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x