बिना सिविल सर्विस परीक्षा पास किये प्राइवेट सेक्टर के लोग बन सकेंगे IAS अफसर

16 जुलाई 2017   |  इंडियासंवाद   (64 बार पढ़ा जा चुका है)

बिना सिविल सर्विस परीक्षा पास किये प्राइवेट सेक्टर के लोग बन सकेंगे IAS अफसर

दिल्ली : देश की सबसे प्रतिष्ठित मानी जाने वाली सिविल सेवाओं में परीक्षा के माध्यम से भर्ती के अलावा केंद्र सरकार अब लैटरल एंट्री का भी प्रावधान करने जा रही है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय ने कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग को इसके लिए प्रस्ताव तैयार करने को कहा है.

सरकार चाहती है कि निजी क्षेत्र के अधिकारियों को विभिन्न विभागों में उप सचिव, निदेशक और संयुक्त सचिव रैंक के पदों पर नियुक्त किया जाए. सूत्रों के मुताबिक, निजी क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों और सामाजिक कार्यकर्ताओं को उनकी योग्यता और अनुभव के आधार पर चयन किया जाएगा. हालांकि, ऐसे लोगों के मौजूदा वेतन का निर्धारण नहीं किया जाएगा.


परेशान बुजुर्ग महिला ने SP से कहा-साहब खर्चा पानी ले लीजिए, बस मेरा पैसा वापस दिला दीजिए

कैबिनेट सेक्रेटरी की अध्यक्षता में बनी समिति ऐसे लोगों का अंतिम रूप से चयन करेगी. बतादें पिछले साल ही अगस्त में कार्मिक राज्य मंत्री जीतेंद्र सिंह ने लोकसभा में यह बताया था कि ऐसी समिति गठित करने की कोई योजना नहीं है, जो सिविल सेवाओं में लैटरल इंट्री की संभावना पर विचार कर सके. माना जा रहा है कि शुरूआत में निजी क्षेत्रों, शिक्षा, गैर सरकारी संगठनों से जुड़े तकरीबन 40 ऐसे लोगों का चयन किया जाएगा.

बिना सिविल सर्विस परीक्षा पास किये प्राइवेट सेक्टर के लोग बन सकेंगे IAS अफसर

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/specialstories/lateral-entry-for-private-sector-execs-into-civil-services-27803

बिना सिविल सर्विस परीक्षा पास किये प्राइवेट सेक्टर के लोग बन सकेंगे IAS अफसर

अगला लेख: जम्मू कश्मीर में सेना के गश्ती दल पर आतंकी हमला, 3 जवान घायल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 जुलाई 2017
नई दिल्ली- पूर्व भारत हॉकी गोलकीपर और कस्टम के सहायक आयुक्त, एमआर नेगी ने साल 2015 में बिना प्रमाण पत्र / लाइसेंस के बरामद खाली 200 बंदूकों को अपने खिलौनों के रूप में दिखाया था। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, नेगी के खिलाफ ऐसा कोई मामला नहीं हैं बल्कि उन्हें किसी साज
11 जुलाई 2017
11 जुलाई 2017
नई दिल्ली- दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री केजरवाल को एक पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा कि मैं सीएम के नजरिये से आश्चर्यचकित हूं कि निर्वाचित सरकार को इस बात का ही ध्यान ही नही कि ट्रैफिक समस्या को दूर करने के काम पर ध्यान नहीं दिय
11 जुलाई 2017
11 जुलाई 2017
अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकवादी हमले का शिकार हुई श्रद्धालुओं की बस को चलाने वाले ड्राइवर सलीम ने बेहद बहादुरी का काम किया है. बस पर जब हमला हुआ तब सलीम यात्रियों की इस बस को चला कर रहे थे कि अचानक बाइक में सवार आंतकवादियों ने बस को घेर लिया और चलती बस पर अंधाधुध फायरिंग
11 जुलाई 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x