संघ प्रमुख मोहन भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी UPA सरकार

16 जुलाई 2017   |  इंडियासंवाद   (35 बार पढ़ा जा चुका है)

संघ प्रमुख मोहन भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी UPA सरकार

दिल्ली : कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार संघ प्रमुख मोहन भागवत को आतंकियों की लिस्ट में डालना चाहती थी. यह दावा अंग्रेजी न्यूज चैनल ने किया है चैनल ने अपने पास मौजूद पेपर्स का हवाला देते हुए कहा है कि यूपीए सरकार अपने अंतिम दिनों में भागवत को हिंदू आतंकवाद के जाल में फंसाना चाहती थी.

अजमेर और मालेगांव में हुई कट्टरपंथी हिंसा के बाद यूपीए सरकार ने देश में हिंदू आतंकवाद का मुद्दा उछाला और NIA पर इस बात के लिए दबाव बना रही थी. NIA द्वारा बनाई गई फाईल्स की नोटिंग्स के अनुसार जांच आधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अभिनव भारत नाम के संगठन की अजमेर और अन्य धमाकों में आरोपित भूमिका के चलते मोहन भागवत से इस मामले में पूछताछ करना चाहते थे.


खबर के अनुसार यूपीए सरकार ने NIA पर तब दबाव बढ़ाना शुरू किया जब संदिग्ध हिंदू आतंकी स्वामी असीमानंद ने कारवां मैगजीन को फरवरी 2014 में पंचकुला जेल में रहते हुए दिए इंटरव्यू में हमलों के लिए प्रेरित करने वालों में कथित तौर पर मोहन भागवत का नाम लिया था.

इसके बावजूद NIA प्रमुख शरद कुमार ने इससे इन्कार करते हुए इंटरव्यू टेप की फॉरेंसिक जांच करवाई और जब कुछ खास सामने नहीं आया तो उन्होंने यूपीए सरकार की बात ना मानते हुए केस खत्म किया.

संघ प्रमुख मोहन भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी UPA सरकार

http://www.hindi.indiasamvad.co.in/specialstories/upa-government-rss-chief-mohan-bhagwat-terrorist-list-27795#.WWmpw_3Re3w.facebook

संघ प्रमुख मोहन भागवत को आतंकियों की सूची में डालना चाहती थी UPA सरकार

अगला लेख: जम्मू कश्मीर में सेना के गश्ती दल पर आतंकी हमला, 3 जवान घायल



शब्दनगरी पर हो रही अन्य चर्चायें
11 जुलाई 2017
नई दिल्ली- दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री केजरवाल को एक पत्र लिखा। पत्र में उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा कि मैं सीएम के नजरिये से आश्चर्यचकित हूं कि निर्वाचित सरकार को इस बात का ही ध्यान ही नही कि ट्रैफिक समस्या को दूर करने के काम पर ध्यान नहीं दिय
11 जुलाई 2017
10 जुलाई 2017
दिल्ली : भारत-चीन के बीच सिक्किम मामले पर जारी विवाद के बीच चीनी दूतावास ने दावा किया है भारत में चीनी राजदूत लो जेवाई से कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात मुलाकात हुई है. चीनी दूतावास के सूत्रों ने दावा किया कि सोमवार सुबह भारत में चीन के राजदूत लो जेवाई ने कांग
10 जुलाई 2017
08 जुलाई 2017
नई दिल्ली : जीएसटी लागू होने से पहले कारोबारियों द्वारा अनेकों तरीकों से टैक्स में चोरी की जाती थी। जीएसटी लागू होने के बाद कहा जा रहा था इससे टैक्स चोरी करना आसान नहीं होगा। लेकिन लगता है जीएसटी के चार स्तरों वाले टैक्स स्लैब के चक्कर में दुकानदारों ने इससे निपटने का तरी
08 जुलाई 2017
सम्बंधित
लोकप्रिय
आज के प्रमुख लेख
आसान हिन्दी  [?]
तीव्र हिंदी  [?]
ऑनस्क्रीन कीबोर्ड  [?]
हिन्दी टाइपिंग  [?]
डिफ़ॉल्ट कीबोर्ड  [?]

(फोन के लिए विकल्प)
X
1 2 3 र्4 ज्ञ5 त्र6 क्ष7 श्र8 (9 )0 --   =
q w e r t y u i o p [   ]
a s d िfि g h  j k l ; '  \
  z x c  v  b n m ,, .. ?/ एंटर
शिफ्ट                                                         शिफ्ट बैकस्पेस
x